BREAKING NEWS

असम के लोगों से PM की अपील, कांग्रेस बोली- मोदी जी, वहां इंटरनेट सेवा बंद है◾केंद्र सरकार महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर संविधान की आत्मा छलनी करने वाला बिल लाई : प्रियंका ◾पाकिस्तान की ओर से हो रहे घुसपैठ की कोशिशों को नजरअंदाज कर रही है सरकार: शिवसेना ◾हैदराबाद एनकाउंटर मामले में SC ने 3 सदस्यीय जांच आयोग का किया गठन◾आईयूएमएल ने नागरिकता संशोधन विधेयक को सुप्रीम कोर्ट में दी चुनौती ◾असम के लोगों से PM मोदी की अपील, बोले- कोई नहीं छीन सकता आपके अधिकार◾झारखंड विधानसभा चुनाव: तीसरे चरण में 17 सीटों पर 9 बजे तक 13 फीसदी मतदान◾झारखंड विधानसभा चुनाव : PM मोदी ने मतदाताओं से बड़ी संख्या में मतदान का किया आग्रह◾गोवा : CM प्रमोद सावंत ने संसद में CAB पारित होने पर प्रधानमंत्री को दी बधाई◾नागरिकता बिल पर असम में व्यापक विरोध प्रदर्शन, कई जिलों में इंटरनेट बंद◾राज्यसभा में पूर्वोत्तर की सभी पार्टियों ने नागरिकता विधेयक के पक्ष में वोट किया : गोयल ◾येचुरी ने सरकार पर लगाया आरोप कहा- भाजपा CAB के जरिए द्विराष्ट्र के सिद्धांत को फिर से जिंदा करने की कोशिश कर रही है ◾नागरिकता विधेयक के खिलाफ जारी प्रदर्शनों के बीच मुख्यमंत्री के घर पर किया गया पथराव ◾नागरिकता संशोधन विधेयक को निकट भविष्य में अदालत में चुनौती दी जाएगी : सिंघवी ◾नागरिकता विधेयक को संसद की मंजूरी मिलने पर भाजपा ने खुशी जताई ◾सुप्रीम कोर्ट में खारिज हो जाएगा CAB : चिदंबरम ◾नागरिकता विधेयक पारित होना संवैधानिक इतिहास का काला दिन : सोनिया गांधी◾मोदी सरकार की बड़ी जीत, नागरिकता संशोधन बिल राज्यसभा में हुआ पास◾ राज्यसभा में अमित शाह बोले- CAB मुसलमानों को नुकसान पहुंचाने वाला नहीं◾कांग्रेस का दावा- ‘भारत बचाओ रैली’ मोदी सरकार के अस्त की शुरुआत ◾

अन्य राज्य

सुमित हत्याकांड के चारों आरोपी दोषी करार

 court

कोटद्वार : अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश प्रतिभा तिवारी की अदालत में वर्ष 2015 के बहुत चर्चित सुमित पटवाल हत्याकांड के चारों आरोपियों को दोषी करार दिया है। अदालत ने इस मामले की सुनवाई पूरी करने के बाद फैसला सुरक्षित रखा है। कोर्ट 3 सितंबर को सजा सुनाएगी। सहायक शासकीय अधिवक्ता (एडीजीसी) जितेंद्र सिंह रावत ने बताया कि 22 मार्च 2015 को कोटद्वार के बेलाडाट चौराहे में बदमाशों ने सुमित को सरेआम गोली मारकर हत्या कर दी थी। 

23 मार्च को मृतक की मां सतेश्वरी देवी की ओर से मानपुर निवासी दीपक रावत पर संदेह जताते हुए हत्या का मुकदमा दर्ज कराया गया था। मामले की जांच तत्कालीन कोतवाल प्रमोद शाहने ने की थी और 4 दिन के भीतर 25 मार्च को हत्याकांड का खुलासा करते हुए स्थानीय युवक को गिरफ्तार कर लिया था। इसके अगले दिन हत्याकांड के सुरेंद्र सिंह नेगी उर्फ सूरी और भाड़े के दोनों शूटरों को गिरफ्तार कर लिया गया था। 

इस मामले में पुलिस की ओर से जांच के बाद चारों के खिलाफ आरोप पत्र न्यायालय में पेश किया गया था। चारों ने घटना से इनकार करते हुए विचार की याचिका की। एडीजीसी जितेंद्र रावत ने बताया कि दोनों सूत्रों से असलहों की बरामदगी और सीसीटीवी फुटेज जैसे अन्य कई साक्ष्य इस मामले में आरोपियों को दोषी सिद्ध करने में मददगार बने।