BREAKING NEWS

दिल्ली में कोरोना के 412 नये मामले आए सामने, मृतक संख्या 288 हुई ◾LAC पर चीन से बिगड़ते हालात को लेकर PM मोदी ने की हाईलेवल मीटिंग, NSA, CDS और तीनों सेना प्रमुख हुए शामिल◾महाराष्ट्र : उद्धव सरकार पर भड़के रेल मंत्री पीयूष गोयल, कहा- राज्य में सरकार नाम की कोई चीज नहीं◾महाराष्ट्र : फडणवीस की CM ठाकरे को नसीहत, कहा- कोरोना से निपटने में मजबूत नेतृत्व का करें प्रदर्शन ◾दिल्ली से अब तक करीब 2.41 लाख लोगों को 196 ट्रेनों से उनके गृह राज्य वापस भेजा : सिसोदिया◾स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा- ढील दिए जाने के बाद 5 राज्यों में बढ़े कोरोना मामले◾राजनाथ सिंह ने CDS और तीनों सेना प्रमुखों के साथ की बैठक, सड़क का निर्माण कार्य रहेगा जारी ◾राहुल गांधी के वार पर BJP का पलटवार, नकवी ने कांग्रेस को बताया राजनीतिक पाखंड की प्रयोगशाला◾चीन और नेपाल से जुड़े मुद्दों पर पारदर्शिता की जरूरत, केंद्र को करना चाहिए स्पष्ट : राहुल गांधी◾कोविड-19 : दिल्ली में पिछले 24 घंटे में 412 लोगों में संक्रमण की पुष्टि, पॉजिटिव मामलों की संख्या हुई 14 हजार 465◾बिहार बोर्ड 10वीं कक्षा का रिजल्ट जारी, 96.20 प्रतिशत अंक के साथ टॉपर बने हिमांशु राज◾राहुल गांधी ने लॉकडाउन को बताया विफल, बोले-आगे की रणनीति बताएं प्रधानमंत्री ◾तबलीगी जमात मामले में दिल्ली पुलिस ने 83 विदेशी नागरिकों के खिलाफ दाखिल की चार्जशीट◾उद्धव ठाकरे और शरद पवार की मुलाकात पर बोले राउत-सरकार मजबूत, चिंता करने की जरूरत नहीं◾कोरोना वैक्सीन को लेकर अच्छी खबर, US कंपनी ने 131 लोगों पर शुरू किया ह्यूमन ट्रायल◾दिल्ली-गाजियाबाद बॉर्डर पर लगा भयंकर जाम, सिर्फ पास वालों को मिल रही है जाने की इजाजत◾World Corona : दुनियाभर में महामारी का खौफ जारी, कुल संक्रमितों का आंकड़ा 55 लाख के करीब ◾पाकिस्तानी सेना ने पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा पर किया संघर्ष विराम का उल्लंघन ◾कोविड-19 : देश में संक्रमितों का आंकड़ा 1 लाख 45 हजार के पार, अब तक 4167 लोगों ने गंवाई जान ◾दिल्ली : तुगलकाबाद गांव की झुग्गियों में लगी भीषण आग, मौके पर पहुंची दमकल की 30 गाड़ियां ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

महत्वाकांक्षी किसान मानधन योजना की शुरुआत झारखंड से होगी

आयुष्मान भारत योजना के बाद अब केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी किसान मानधन योजना की शुरुआत भी झारखंड से ही होगी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 12 सितंबर को इसका शुभरंभ करेंगे। 

केंद्र सरकार में संयुक्त सचिव विवेक अग्रवाल ने यहां समीक्षा बैठक में कहा कि प्रधानमंत्री श्री मोदी 12 सितंबर को केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी किसान मानधन योजना का शुभारंभ झारखंड की धरती से करेंगे। कार्यक्रम में करीब एक लाख से अधिक किसानों के भाग लेने की संभावना है। उन्होंने बताया कि इस योजना के तहत किसानों का इनरालमेंट कॉमन सर्विस सेंटर के माध्यम से किया जा रहा है। 

श्री अग्रवाल ने बताया कि राज्य में 10 हजार कॉमन सर्विस सेंटर कार्यरत हैं एवं प्रत्येक केंद्र के लिए प्रतिदिन 50 किसानों को जोड़ने का लक्ष्य निर्धारित किया गया। यह कार्य तेत्री से संपादित हो रहा है। उन्होंने बताया कि कार्यक्रम से पूर्व लगभग एक लाख किसानों को जोड़ने का लक्ष्य है।

संयुक्त सचिव ने कहा कि विभिन्न माध्यमों से किसानों को योजना से लाभान्वित करने की योजना पर कार्य हो रहा है। पहला किसानों का आधार कार्ड, बैंक खाता संख्या लेकर प्रखंड स्तरीय कर्मियों के सहयोग से किसानों के आवेदन भरवाकर कॉमन सर्विस सेंटर में पंजीकृत किया जा रहा है। 

दूसरा, जिले के उपायुक्तों द्वारा मुखिया को इस कार्यक्रम से जोड़कर किसानों को मानधन योजना से अवगत कराया एवं उन्हें जोड़ जा रहा है। तीसरा, आयुष्मान भारत के तहत लाभुकों का कार्ड बन रहा है उसी क्रम में प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना के लाभुकों को चिन्हित करते हुए उनका पंजीकरण मानधन योजना के तहत किए जाने के प्रक्रिया प्रारंभ की गई है। साथ ही इसके लिए जिले के उपायुक्तों को निर्देशित भी किया गया है। चौथे, प्रक्रिया के तहत पंचायत स्तर पर कैंप लगाकर अधिक से अधिक किसानों को इस योजना से जोड़ने का निर्देश दिया गया है। 

श्री अग्रवाल ने कहा कि राज्य सरकार कॉमन सर्विस सेंटर से लॉगिन पासवर्ड लेकर अपने एजेंसी के माध्यम से भी किसानों का पंजीकरण इस योजना के तहत कर सकती है। इससे अधिक से अधिक किसानों को इस योजना से जोड़ जा सकता है। कार्यक्रम के दौरान योजना पर लघु फ़ल्मि दिखाया जाएगा। राज्य के सात किसानों को प्रधानमंत्री द्वारा प्रमाण-पत्र भी दिये जाएंगे। 

इस अवसर पर कृषि सचिव पूजा सिंघल, कृषि निदेशक छवि रंजन, कॉमन सर्विस सेंटर के राज्य प्रबंधक, सूचना एवं प्रौद्योगिकी विभाग के प्रतिनिधि, राज्य सूचना विज्ञान अधिकारी, एनआईसी तथा अन्य विभागीय पदाधिकारी उपस्थित थे।