BREAKING NEWS

कृषि और श्रम कानून को लेकर राकांपा का केंद्र पर तंज, कहा- ईस्ट इंडिया कंपनी स्थापित कर रही है सरकार ◾महिला अपराध पर सीएम योगी सख्त, छेड़खानी और बलात्कारियों के पोस्टर लगाने का दिया आदेश ◾कांग्रेस का बड़ा आरोप - केंद्र सरकार ने कृषि विधेयकों के जरिए नयी जमींदारी प्रथा का उद्घाटन किया◾IPL 2020 KXIP vs RCB: रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का किया फैसला◾कृषि बिल के विरोध पर बोले केंद्रीय मंत्री तोमर, कांग्रेस पहले अपने घोषणापत्र से मुकरने की करे घोषणा◾महीनों के लॉकडाउन के बाद भी नहीं थम रहा है कोरोना, जानिये भारत क्यों चुका रहा है भारी कीमत◾केंद्रीय मंत्री जावड़ेकर ने कहा- विपक्षी दलों की राजनीति हो गई है दिशाहीन ◾ICU में भर्ती डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया की हालत स्थिर, अगले कुछ दिनों में फिर होगा कोरोना टेस्ट ◾रेलवे ने जताई चिंता - 'रेल रोको आंदोलन' से जरूरी सामानों और राशन की आवाजाही पर पड़ेगा असर ◾महाराष्ट्र : एकनाथ शिंदे भी कोरोना वायरस से संक्रमित, संपर्क में आए लोगों से जांच करवाने की अपील की ◾कांग्रेस ने अमित शाह की रैली को बताया जनता का अपमान, कोरोना संकट में धनबल की राजनीति का लगाया आरोप◾Fit India Movement के एक वर्ष पूरा होने पर बोले PM मोदी-जितना फिट होगा इंडिया, उतना हिट होगा इंडिया◾कैग की रिपोर्ट में खुलासा: दिल्ली में लगे 44% CCTV कैमरे खराब, 20 साल पुरानी तकनीक के भरोसे पुलिस◾ श्रम कानून : राहुल गांधी ने सरकार पर साधा निशाना, बोले-किसानों के बाद मजदूरों पर किया वार ◾लफ्फाजी का लॉलीपॉप हो गए हैं राहुल गांधी : मुख्तार अब्बास नकवी◾J&K के पुलवामा में सुरक्षाबलों ने एक आतंकवादी को मार गिराया, बडगाम में 1 जवान शहीद ◾देश में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 86,508 नए मामले दर्ज, संक्रमितों का आंकड़ा 57 लाख से अधिक◾ड्रग्स केस : बॉलीवुड की ड्रग्स मंडली का होगा खुलासा, सिमोन खंबाटा से NCB की पूछताछ जारी◾भारत और चीन तनाव के बीच आज रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह 43 पुलों का करेंगे उद्घाटन◾वैश्विक स्तर पर कोरोना संक्रमितों की संख्या 3 करोड़ 17 लाख से अधिक, 9 लाख 75 हजार से अधिक लोगों की मौत◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

सीएए पर प्रदर्शनों के बीच CJI बोबड़े ने कहा- यूनिवर्सिटी सिर्फ ईंट और गारे की इमारतें नहीं

जामिया और जेएनयू में कुछ दिन पहले हुए विरोध प्रदर्शनों के बाद गरमाई स‍ियासत के बीच देश के मुख्‍य न्‍यायाधीश एसए बोबडे ने कहा है कि यूनवर्सिटी को विधानसभा के लिए नेता तैयार करने वाली इकाई की तरह काम नहीं करना चाहिए। उन्होंने नागपुर विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में कहा कि विश्वविद्यालय केवल ईंट और गारे की दीवारें नहीं हैं। 

निश्चित रूप से विश्वविद्यालयों को असेंबली लाइन प्रोडक्शन यूनिट की तरह काम नहीं करना चाहिए। उन्‍होंने कहा कि किसी विश्‍वविद्यालय का विचार यह दर्शाता है कि हम एक समाज के रूप में क्‍या हासिल करना चाहते हैं। पिछले दिनों सीएए और एनआरसी के मुद्दे पर जेएनयू, जामिया और एएमयू समेत देश की तमाम विश्वविद्यालयों में प्रदर्शन हुए थे। इस संदर्भ में चीफ जस्टिस बोबडे का बयान काफी अहम माना जा रहा है, 

यही नहीं बीते शनिवार को बोबडे ने कहा था कि अदालतों के लिए एक आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस प्रणाली विकसित होनी चाहिए ताकि न्याय मिलने में देरी पर रोक लगाई जा सके। उन्होंने अदालतों में लंबित मामलों के निपटारे के लिए मध्यस्थता की भी जरूरत बताई। वह बेंगलूरू में न्यायिक अधिकारियों की19वीं द्विवार्षिक राज्य स्तरीय कांफ्रेंस को संबोधित कर रहे थे। 

नवाब मलिक बोले- अगर भागवत जबरदस्ती पुरुष की नसबंदी कराना चाहते हैं तो मोदी जी ऐसा कानून बनाए