BREAKING NEWS

BSF स्थापना दिवस : अमित शाह बोले-हमारी सीमा और जवानों को कोई हल्के में नहीं ले सकता◾नागालैंड: सुरक्षाबलों की फायरिंग में 13 लोगों की मौत, ग्रामीणों ने फूंकी गाड़ियां, CM ने दिए SIT जांच के निर्देश ◾हिंदू-मुसलमान के बीच कटुता के लिए वामपंथी और कांग्रेस जिम्मेदार : CM हिमंत बिस्वा सरमा◾ओमीक्रोन खतरे के बीच दिल्ली पुलिस अलर्ट, सुरक्षा को लेकर दिए कई आदेश◾स्वास्थ्य मंत्रालय ने 6 राज्यों को लिखा पत्र, कोविड संक्रमण पर अंकुश लगाने का किया आग्रह ◾Delhi Weather Update : धुंध की वजह से कम हुई विज़िबिलिटी, आज शाम तक बारिश के आसार, बढ़ेगी ठंड◾मथुरा : 6 दिसंबर से पहले प्रशासन की कड़ी सुरक्षा व्यवस्था, छावनी में तब्दील हुई कृष्ण नगरी◾चीन की बढ़ती क्षमताओं के परिणाम ‘गहरे’ हैं : जयशंकर◾जो ‘नया कश्मीर’ दिखाया जा रहा है, वह वास्तविकता नहीं है : महबूबा◾मछुआरों की चिंताओं और मत्स्यपालन क्षेत्र से जुड़े मुद्दों को राष्ट्रीय स्तर पर उठाएगी कांग्रेस : राहुल गांधी◾ सिद्धू ने फिर अलापा PAK राग! बोले- दोनो देशों के बीच फिर शुरू हो व्यापार◾भारत पर ओमीक्रॉन का वार, कर्नाटक-गुजरात के बाद अब महाराष्ट्र में भी दी दस्तक, देश में अब तक चार संक्रमित ◾गोवा में बोले केजरीवाल- सभी दैवीय ताकतें एकजुट हो रही हैं और इस बार कुछ अच्छा होगा◾मध्य प्रदेश में तीन चरणों में होंगे पंचायत चुनाव, EC ने तारीखों का किया ऐलान ◾कल्याण और विकास के उद्देश्यों के बीच तालमेल बिठाने पर व्यापक बातचीत हो: उपराष्ट्रपति◾वरिष्ठ पत्रकार विनोद दुआ का हआ निधन, दिल्ली के अपोलो अस्पताल में थे भर्ती◾ MSP और केस वापसी पर SKM ने लगाई इन पांच नामों पर मुहर, 7 को फिर होगी बैठक◾ IND vs NZ: एजाज के ऐतिहासिक प्रदर्शन पर भारी पड़े भारतीय गेंदबाज, न्यूजीलैंड की पारी 62 रन पर सिमटी◾भारत में 'Omicron' का तीसरा मामला, साउथ अफ्रीका से जामनगर लौटा शख्स संक्रमित ◾‘बूस्टर’ खुराक की बजाय वैक्सीन की दोनों डोज देने पर अधिक ध्यान देने की जरूरत, विशेषज्ञों ने दी राय◾

विधानसभा चुनाव : भाजपा ने नार्थ बंगाल की 54 सीटों के लिए 25 लाख गोरखाओं पर किया फोकस

2019 के लोकसभा चुनाव में उत्तर बंगाल की कुल आठ में से सात लोकसभा सीटें जीतने वाली भारतीय जनता पार्टी ने एक बार फिर 25 लाख गोरखाओं को लुभाने की तैयारी की है। पार्टी का मकसद उत्तर बंगाल में बढ़त हासिल करने का है। 54 विधानसभा सीटों वाले उत्तर बंगाल में बढ़त हासिल करने के लिए बीजेपी गोरखाओं की तरफ आशा भरी निगाहों से देख रही है।

गृहमंत्री अमित शाह ने गोरखाओं को भाजपा के करीब लाने की खुद कमान संभाली है। उन्होंने गोरखाओं के बीच कई बड़े वादे किए हैं। गृहमंत्री अमित शाह ने एक रणनीति के तहत बीते दिनों 12 अप्रैल को दार्जिलिंग में पूरी रात गुजारी। बताया जा रहा है कि यह पहला मौका है, जब देश के किसी गृहमंत्री ने दार्जिलिंग में रात्रि विश्राम किया और पूरी रात गोरखा संगठनों के नेताओं से मीटिंग करते रहे।

अगले दिन 13 अप्रैल को उन्होंने दार्जिलिंग में चुनावी रैली कर कई बड़े वादे कर गोरखा समुदाय को साधने की कोशिश की। दरअसल, उत्तर बंगाल में कुल नौ जिले हैं। जिसमें दार्जिलिंग, कलिम्पोंग, अलीपुरद्वार, कूचबिहार और जलपाईगुड़ी, मालदा नार्थ, मालदा साउथ, उत्तरी दीनाजपुर और दक्षिणी दीनाजपुर जिले आते हैं। इन नौ जिलों में आठ लोकसभा सीटें हैं।

25 लाख गोरखा, यहां के चुनाव में अहम भूमिका निभाते हैं। 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा ने गोरखाओं का एकतरफा समर्थन हासिल किया था। जिसके कारण अलीपुरद्वार, जलपाईगुरी, कूचबिहार, बलूरघाट(दक्षिण दिनाजपुर), रायगंज(उत्तर दीनाजपुर), मालदा उत्तर और दार्जिलिंग यानी कुल सात सीटें जीतने में भाजपा को आसानी हुई थी। दार्जिलिंग से भाजपा के लोकसभा सांसद राजू बिष्ट ने आईएएनएस से कहा, ममता सरकार में उत्तर बंगाल की जिस तरह से उपेक्षा हुई है और गोरखाओं पर अत्याचार हुआ है, उससे गृहमंत्री भलीभांति अवगत हैं। यही वजह है कि उन्होंने दार्जिलिंग की रैली में स्थानीय समस्याओं को उठाते हुए समाधान का आश्वासन दिया।

भाजपा की सरकार बनने पर ही गोरखाओं को देश के विकास की मुख्यधारा से जुड़ने का मौका मिल सकेगा। कई वादे कर गृहमंत्री ने गोरखाओं को लुभाया गृहमंत्री अमित शाह ने बीते 13 अप्रैल को दार्जिलिंग की चुनावी रैली में गोरखाओं से भाजपा के पुराने रिश्ते का उल्लेख किया।

बताया कि किस तरह से नार्थ बंगाल में हमेशा से भाजपा को समर्थन मिलता रहा है। गृहमंत्री अमित शाह ने गोरखा स्वतंत्रता सेनानी, दल बहादुर गिरि, हेलेन, गागा शेरिंग, पुष्पा कुमार घिसिंग आदि को याद कर गोरखाओं से भावनात्मक रूप से जुड़ने की कोशिश की।

उन्होंने पर्वतारोही तेनजिंग नोर्गे शेरपा का भी विशेष उल्लेख किया। ममता बनर्जी की सरकार में वर्ष 2017 में नार्थ बंगाल में हुई हिंसा के दौरान कुल 11 गोरखा युवा मारे गए थे। इस मुद्दे की गंभीरता को भांपते हुए गृहमंत्री अमित शाह ने एसआईटी से जांच कराने का आश्वासन दिया है।

उन्होंने दार्जिलिंग, तराई और डुवार्स क्षेत्र के लंबे समय से उठ रहे स्थाई राजनीतिक समाधान का भी आश्वासन दिया। गृहमंत्री अमित शाह ने दावा किया कि राज्य में भाजपा की सरकार बनने पर गोरखालैंड टेरिटोरियल एडमिनिस्ट्रेशन(जीटीए) को भंग किया जाएगा।

उत्तर बंगाल में पंचायत चुनाव न होने से भी स्थानीय जनता की नाराजगी को देखते हुए अमित शाह ने इस पर आश्वासन दिया। कहा कि भाजपा की सरकार बनने पर पंचायत चुनाव कराया जाएगा। गृहमंत्री अमित शाह ने उत्तर बंगाल के लिए और भी कई वादे किए। मसलन, दार्जिलिंग को म्युनिसिपल कारपोरेशन में अपग्रेड किया जाएगा।

उन्होंने टूरिज्म के लिए एक हजार करोड़ का स्पेशल पैकेज देने की भी घोषणा की। सेंट्रल यूनिवर्सिटी और एजूकेशन हब बनाने की बात कही। गृहमंत्री अमित शाह ने एनआरसी को लेकर गोरखाओं के मन में बैठे डर को भी दूर किया।

उन्होंने कहा, कोई गोरखा घुसपैठिया नहीं हो सकता। गोरखा इसी माटी की संतान हैं। अभी एनआरसी का कोई निर्णय नहीं लिया गया है। जब भी एनआरसी आएगा, एक भी गोरखा बाहर नहीं होगा। नेपाली भाषा में रेडियो और टीवी चैनल शुरू होगा।