BREAKING NEWS

माकपा ने 'मुफ्त उपहार' वाले बयान को लेकर PM मोदी पर निशाना साधा◾कांग्रेस ने महाराष्ट्र मंत्रिमंडल में संजय राठौर को शामिल किए जाने को लेकर BJP पर साधा निशाना◾High Court में जनहित याचिका : याददाश्त खो चुके हैं सत्येंद्र जैन, विधानसभा और मंत्रिमंडल से अयोग्य घोषित किया जाए◾केजरीवाल ने गुजरात में सत्ता में आने पर महिलाओं को 1000 रुपये मासिक भत्ता देने का किया ऐलान ◾ISRO ने गगनयान से जुड़ा LEM परीक्षण सफलतापूर्वक पूरा किया◾Corbevax Corona Vaccine : केंद्र सरकार ने वयस्कों को कॉर्बेवैक्स की बूस्टर खुराक देने को दी मंजूरी ◾भारत के अतीत, वर्तमान के लिए प्रतिबद्धता और भविष्य के सपनों को झलकाता है तिरंगा : PM मोदी◾ हिमाचल में भी खिसक सकती हैं भाजपा की सरकार ! कांग्रेस ने विधानसभा में लाया अविश्वास प्रस्ताव ◾काले कपड़ों में कांग्रेस के प्रदर्शन पर PM मोदी ने कसा तंज, कहा- जनता भरोसा नहीं करेगी...◾जब नीतीश कुमार ने कहा था - येन केन प्रकारेण सत्ता प्राप्त करूंगा, लेकिन अच्छा काम करूंगा◾न्यायमूर्ति यू यू ललित होंगे सुप्रीमकोर्ट के नए प्रधान न्यायधीश ◾दिग्गज कारोबारी अडानी को जेड प्लस सिक्योरिटी, आईबी ने दिया था इनपुट◾शपथ लेने के बाद नीतीश की गेम पॉलिटिक्स शुरू, मोदी के खिलाफ कर सकते हैं ये बड़ा काम ◾नुपूर को सुप्रीम राहत, जांच पूरी न होने तक नहीं होगी गिरफ्तारी, सभी एफआईआर को एक साथ जोड़ा ◾ ‘‘नीतीश सांप है, सांप आपके घर घुस गया है।’’, भाजपा नेता गिरिराज ने याद की लालू की पुरानी बात ◾ सुनील बंसल का बीजेपी में बढ़ा कद, बनाए गए पार्टी महासचिव◾पिता जेल में तो संभाली पार्टी की कमान, 75 सीट जीतकर किया धमाकेदार प्रदर्शन, जानिए तेजस्वी के संघर्ष की कहानी ◾बिहार विधानसभा अध्यक्ष विजय सिन्हा के खिलाफ लाया गया अविश्वास प्रस्ताव◾शपथ लेते ही BJP पर बरसे नीतीश, कहा-2014 में जीतने वालों को 2024 की करनी चाहिए चिंता ◾60 वर्ष से अधिक उम्र की बहनों और माताओं के लिए बसों में निःशुल्क यात्रा योजना जल्द आएगी : CM योगी ◾

कर्नाटक में लाउडस्पीकर पर माहौल गर्म, हिंदू समूहों ने शुरू किया विरोध अभियान, CM ने दिया यह आदेश

कर्नाटक के विभिन्न हिस्सों में मस्जिदों में कथित तौर पर अनधिकृत तरीके से लगे लाउडस्पीकर के विरोध में सोमवार को कुछ हिंदू समूहों ने अभियान शुरू किया। इस बीच, मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने अधिकारियों को उच्चतम न्यायालय के आदेश का कड़ाई से पालन कराने का निर्देश दिया। इससे पहले कांग्रेस पार्टी के मुस्लिम नेताओं ने इस मुद्दे पर मुख्यमंत्री से मुलाकात की थी।  

मुख्यमंत्री ने दिए ये आदेश 

मस्जिदों में लाउडस्पीकर पर सुबह की अजान सुनाए जाने के विरोध में तड़के करीब पांच बजे मंदिरों में मौजूद लोगों ने भजन बजाए। बेंगलुरु, हुबली, बेलगावी, मैसूर, चिक्कमंगलुरु, यादगीर, मांड्या और कोलार सहित विभिन्न स्थानों के मंदिरों से ऐसी घटनाओं की खबरें मिली हैं। बेंगलुरु सहित कुछ स्थानों पर हिंदू कार्यकर्ताओं को पुलिस द्वारा हिरासत में भी लिया गया।  


उच्चतम न्यायालय के फैसले को माना जाए 

राज्य के शीर्ष पुलिस अधिकारियों, गृह और विधि विभाग के अधिकारियों के साथ होने वाली बैठक से पहले बोम्मई ने कहा कि उन्होंने उच्चतम न्यायालय के लाउडस्पीकर के संदर्भ में दिए गए फैसले को लागू करने के निर्देश दिए हैं। इससे पहले, सुबह श्री राम सेना सहित हिंदू समूहों के अभियान के तहत राज्य के अलग-अलग हिस्सों के मंदिरों में हनुमान चालीसा, सुप्रभात, ओमकारा और भक्ती गीत बजाए गए। इस समूहों ने आरोप लगाया है कि सरकार मस्जिदों में लगे लाउडस्पीकर के खिलाफ कार्रवई करने में असफल रही है।  

हम देख रहे हैं अन्य राज्यों में क्या हुआ है 

बोम्मई ने कहा, ‘‘अजान के संबंध में , उच्चतम न्यायालय का फैसला है जो सभी पर लागू होता है। इसे सौहार्द्रपूर्ण माहौल में लागू किया जाना चाहिए। हम देख रहे हैं अन्य राज्यों में क्या हुआ है।’’ उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘ उच्चतम न्यायालय के आदेश को कैसे लागू करना है इसको लेकर उच्च न्यायालय का भी आदेश है। मैंने अधिकारियों को कड़ाई से आदेश का पालन कराने को कहा है। मेरी अधिकारियों के साथ बैठक होने वाली है और एक बार फिर हम स्पष्ट निर्देश देंगे।’’  

अभियान सरकार और ‘हठी’ मुस्लिम समुदाय के खिलाफ  

श्रीराम सेना के प्रमुख प्रमोद मुतालिक ने कहा कि अभियान सरकार और ‘हठी’ मुस्लिम समुदाय के खिलाफ है। उन्होंने मैसूर के अंजनेय मंदिर में सुबह की प्रार्थना में हिस्सा लिया था। मुतालिक ने कहा, ‘‘हम लाउडस्पीकर से समाज, छात्रों और मरीजों को होने वाली परेशानियों के बारे में पिछले एक साल से आगाह कर रहे हैं। हमने इस बारे में मुसलमानों को भी बताया, लेकिन स्थिति वैसी ही बनी रही।’’  

नोटिस जारी करने के अलावा कोई कार्रवाई नहीं की गई 

उन्होंने कहा, ‘‘नोटिस जारी करने के अलावा कोई कार्रवाई नहीं की गई। यह एक ड्रामा था। यहां तक कि आज सुबह पांच बजे भी मस्जिदों ने लाउडस्पीकर का इस्तेमाल किया।’’ मुतालिक ने आरोप लगाया कि दिन में चार अन्य अवधि में होने वाली अजान की ध्वनि तय सीमा के तहत कम नहीं की जा रही है। उन्होंने कहा, ‘‘हमारी लड़ाई आज ही शुरू हुई है। अगर अब भी कोई कार्रवाई नहीं की गई तो हम उच्च न्यायालय में अवमानना याचिका दायर करेंगे, क्योंकि यह उच्चतम न्यायालय के आदेश का उल्लंघन है।’’  

गृह मंत्री अरगा ने कही ये बात 

मुतालिक ने कहा, ‘‘यह तालिबान की हुकूमत या पाकिस्तान, अफगानिस्तान नहीं है। यह भारत है और यहां संविधान तथा कानून का शासन है।’’ इस बीच, गृह मंत्री अरगा ज्ञानेंद्र ने कहा कि ध्वनि प्रदूषण फैलाने वाली किसी भी गतिविधि को नियंत्रित करने के लिए अदालत के आदेशों के अनुसार कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इससे पहले कर्नाटक कांग्रेस के मुस्लिम नेताओं ने मुख्यमंत्री से मुलाकात कर समाज में शांति और सदभाव बनाए रखने के लए जरूरी एहतियाती कदम उठाने की मांग की। 

विधानसभा में कांग्रेस के उप नेता यूटी खादर के नेतृत्व में पार्टी के नेताओं ने मुख्यमंत्री से मुलाकात की। उन्होंने कहा कि ध्वनि प्रदूषण को किसी धर्म या समुदाय से नहीं जोड़ा जाना चाहिए। कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल ने कहा कि सरकार को अदालत के आदेश लागू कराने के नियम बनाने चाहिए जिसका सभी को अनुपालन करना चाहिए। इस प्रतिनिधिमंडल में कांग्रेस विधायक एनए हारीस, नसीर अहमद, राज्यसभा सदस्य सैयद नसीर हुसैन शामिल थे।