BREAKING NEWS

अयोध्या पहुंचे शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे, 18 सांसदों के साथ करेंगे रामलला के दर्शन◾आज फिर घटे डीजल और पेट्रोल के दाम, जाने अपने राज्य का भाव !◾ICC World Cup 2019 : भारत-पाक मैच को लेकर सट्टा बाजार 100 करोड़ के पार ◾नीति आयोग की बैठक में केजरीवाल ने उठाया दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने का मुद्दा ◾ममता की अपील के बावजूद डॉक्टरों की हड़ताल जारी◾अखाड़ा परिषद ने अयोध्या में भव्य राम मंदिर बनाने की फिर से की मांग◾राज्यसभा की 6 सीटों के लिये 5 जुलाई को होगा उपचुनाव ◾Modi सरकार कृषि क्षेत्र में ढांचागत सुधार के लिए गठित करेगी उच्च स्तरीय कार्यबल◾सिख श्रद्धालुओं का पाक दौरा : रेलवे ने कहा, अटारी में पाकिस्तानी ट्रेन के लिये इजाजत नहीं ◾ममता ने फिर की बंगाल के डॉक्टरों से हड़ताल समाप्त करने की अपील ◾भाजपा ने अखिलेश पर साधा निशाना, कहा- योगी से शासन की सीख लें◾TOP 20 News -15 June : आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें ◾एक्यूट इंसेफलाइटिस सिंड्रोम से अब तक 83 बच्चें की मौत ◾ममता, चंद्रशेखर राव और अमरिंदर सिंह नहीं लेंगे नीति आयोग की बैठक में हिस्सा ◾केरल के मुख्यमंत्री ने मोदी से की मुलाकात, तिरुवनंतपुरम हवाईअड्डे के निजीकरण का उठाया मुद्दा ◾हिंसा से चिकित्सकों को बचाने के लिए विशेष कानून लाने पर विचार किया जाए : हर्षवर्द्धन ◾राज्यों के संयुक्त प्रयास से 2024 तक 5,000 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनेगा भारत : PM मोदी ◾केंद्र ने राजनीतिक हिंसा और डॉक्टरों की हड़ताल पर बंगाल सरकार से मांगी अलग-अलग रिपोर्ट◾अपने दूसरे कार्यकाल में पहली बार 30 जून को PM मोदी करेंगे ‘मन की बात’, मांगे सुझाव◾नक्सलवाद से नए सिरे से निपटने के लिए बनाई जाए नीति : कांग्रेस◾

अन्य राज्य

MP में वित्तीय अनियमितताओं के खिलाफ कार्रवाई के लिए समिति बने : दिग्विजय

 नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (कैग) की रपट में मध्य प्रदेश में करोड़ों रुपये की गड़बड़ियां सामने आने पर पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने दोषियों पर कार्रवाई के लिए मंत्रिमंडलीय समिति बनाने की बात कही है। कैग की गुरुवार को आई रपट में शिवराज सिंह चौहान के कार्यकाल में हुई गड़बड़ियों का खुलासा हुआ है। इस पर पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने शुक्रवार को ट्वीट किया, 'मध्य प्रदेश सरकार को तत्काल वित्तमंत्री की अध्यक्षता में मंत्रिमंडलीय समिति बना कर दोषियों पर कार्रवाई करनी चाहिए।'

रपट में कहा गया है कि सार्वजनिक क्षेत्र में 1,224 करोड़ रुपये का नुकसान, छात्रावास संचालन में 147 करोड़ रुपये की अनियमितता, पेंच परियोजना में 376 करोड़ रुपये की अनियमितता हुई है। वहीं, जल कर में 6,270 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। कैग की रपट के बाद कांग्रेस के नेता पूर्ववर्ती सरकार पर हमलावर हुए हैं। कई नेताओं ने रपट में किए गए खुलासे के आधार पर दोषियों पर कार्रवाई की मांग की है।