BREAKING NEWS

Lok sabha election 2019 : प्रधानमंत्री की विजयी बढ़त पर केजरीवाल ने मोदी को बधाई दी ◾LIVE लोकसभा चुनाव 2019 : महाराष्ट्र - पार्थ पवार हारे , भाजपा - शिवसेना 13 सीट जीते , 28 पर आगे ◾Lok sabha election 2019 : भाजपा की बढ़त बरकरार : रिकॉर्ड मतों से जीते प्रधानमंत्री मोदी ◾चंद्रबाबू नायडू ने आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री पद से दिया इस्तीफा ◾लोकसभा चुनाव परिणाम 2019 : गौतम गंभीर का केजरीवाल पर निशाना◾LIVE : लोकसभा चुनाव नतीजे 2019, म.प्र. और छत्तीसगढ़ में भाजपा की बड़ी जीत, कांग्रेस का बुरा हाल◾लोकसभा चुनाव परिणाम 2019 LIVE : देश के लोगों ने इस फकीर की झोली को भर दिया - PM मोदी◾मोदी ने पटनायक को दी ओडिशा में अच्छे प्रदर्शन की बधाई ◾LIVE लोकसभा चुनाव 2019 : बिहार की 40 में से 3 सीटों पर परिणाम घोषित, 2 पर BJP जीती◾लोकसभा चुनाव नतीजे LIVE : राजस्थान में बीजेपी का क्लीन स्वीप, कांग्रेस का बुरा हाल ◾LIVE लोकसभा चुनाव 2019 : कर्नाटक में पूर्व प्रधानमंत्री एच डी देवेगौड़ा 13 हजार से अधिक मतों से चुनाव हार गए , अधिकतर पर BJP जीती◾LIVE लोकसभा चुनाव 2019 : आनंदपुर साहिब से कांग्रेस उम्मीदवार मनीष तिवारी को मिली जीत ◾चंद्रशेखर राव ने दी मोदी को बधाई ◾तेलंगाना में ओवैसी, टीआरएस के दो उम्मीदवार जीत की ओर ◾Lok Sabha Election 2019: कांग्रेस को केरल में मिली दूसरी जीत, राम्या हरिदास जीते ◾ यह जनता की जीत है : जगनमोहन रेड्डी ◾LIVE: Lok Sabha Election 2019, रिकॉर्ड मतों से जीते प्रधानमंत्री मोदी, उत्तर प्रदेश की 11 सीटों पर बीजेपी का कब्ज़ा◾उम्मीद है, केंद्र की नयी सरकार जम्मू कश्मीर के साथ न्याय करेगी : फारूक अब्दुल्ला ◾देश ने भाजपा, राजग के विकल्प को किया खारिज : उमर अब्दुल्ला ◾LIVE लोकसभा चुनाव 2019 : पश्चिम बंगाल के TMC 23 और BJP 18 सीटों पर आगे◾

तेलंगाना में चुनाव से पहले छह विधायकों का दल बदलना कांग्रेस के लिए झटका

लोकसभा चुनाव के पहले तेलंगाना में कांग्रेस के छह विधायकों का पार्टी छोड़कर सत्तारूढ़ टीआरएस में शामिल होना पार्टी के लिए झटका है। तेदेपा, भाकपा और तेलंगाना जन समिति के साथ कांग्रेस का गठबंधन था और गत वर्ष दिसंबर में हुए चुनाव में 119 सदस्यीय विधानसभा में उसे केवल 19 सीटें मिली थीं। उसके दो विधायकों अतराम सक्कू और रेगा कांता राव ने इस महीने के पहले सप्ताह में पार्टी छोड़ दी और टीआरएस में शामिल होने के अपने फैसले की घोषणा की। इसके बाद कांग्रेस के दो और विधायकों ने पार्टी छोड़ दी।

विधान परिषद में पांच रिक्तियों को भरने के लिए 12 मार्च को हुए चुनाव से पहले कांग्रेस को यह झटका लगा। कांग्रेस ने चुनाव में एक उम्मीदवार खड़ा किया था। टीआरएस ने अपने चार प्रत्याशी खड़े किए थे और एक सीट अपने सहयोगी दल असदुद्दीन ओवैसी की एआईएमआईएम के लिए छोड़ दी थी। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एन उत्तम कुमार रेड्डी ने अपने विधायकों के दल बदलने के लिए टीआरएस पर आरोप लगाया था।

 बहरहाल, टीआरएस ने पलटवार करते हुए कहा कि कांग्रेस ने खुद अपनी पार्टी में दूसरे दलों के जन प्रतिनिधियों को शामिल किया है। ऐसी खबर है कि हैदराबाद में एल बी नगर से कांग्रेस विधायक डी सुधीर रेड्डी ने भी टीआरएस का समर्थन करने का फैसला किया है। रेड्डी की प्रतिक्रिया नहीं मिल सकी है। कुछ और विधायकों के पार्टी छोड़ने की अफवाहें भी चल रही है। पार्टी सूत्रों ने बताया कि अगर विधायकों की संख्या 12 के नीचे हो जाती है तो कांग्रेस मुख्य विपक्षी दल का दर्जा गंवा सकती है।

 लोकसभा चुनाव के मद्देनजर परेशानियों का सामना कर रही कांग्रेस ने शुक्रवार रात को राज्य में 17 लोकसभा सीटों में से आठ के लिए उम्मीदवारों की घोषणा कर दी। इस सूची में प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष ए रेवंत रेड्डी (मल्काजगिरी) और पोन्नम प्रभाकर (करीमनगर) शामिल हैं। तेजतर्रार नेता के रूप में पहचान रखने वाले रेवंत रेड्डी ने शनिवार को अपना प्रचार अभियान शुरू किया और पार्टी नेताओं से मुलाकात की। उन्होंने कहा कि अगर कांग्रेस सत्ता में आती है तो राहुल गांधी प्रधानमंत्री होंगे। रेड्डी ने कहा, ‘‘इस लोकसभा चुनाव में टीआरएस की कोई भूमिका नहीं है। यह कांग्रेस और भाजपा के बीच का चुनाव है। टीआरएस अध्यक्ष और मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव खेल खराब करने की कोशिश कर रहे हैं।’’