BREAKING NEWS

दिल्ली : तुगलकाबाद गांव की झुग्गियों में लगी भीषण आग, मौके पर पहुंची दमकल की 30 गाड़ियां ◾दिल्ली : तुगलकाबाद गांव की झुग्गियों में लगी भीषण आग, मौके पर पहुंची दमकल की 30 गाड़ियां ◾PNB धोखाधड़ी मामला: इंटरपोल ने नीरव मोदी के भाई के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस फिर से किया सार्वजनिक ◾कोरोना संकट के बीच, देश में दो महीने बाद फिर से शुरू हुई घरेलू उड़ानें, पहले ही दिन 630 उड़ानें कैंसिल◾देशभर में लॉकडाउन के दौरान सादगी से मनाई गयी ईद, लोगों ने घरों में ही अदा की नमाज ◾उत्तर भारत के कई हिस्सों में 28 मई के बाद लू से मिल सकती है राहत, 29-30 मई को आंधी-बारिश की संभावना ◾महाराष्ट्र पुलिस पर वैश्विक महामारी का प्रकोप जारी, अब तक 18 की मौत, संक्रमितों की संख्या 1800 के पार ◾दिल्ली-गाजियाबाद बॉर्डर किया गया सील, सिर्फ पास वालों को ही मिलेगी प्रवेश की अनुमति◾दिल्ली में कोविड-19 से अब तक 276 लोगों की मौत, संक्रमित मामले 14 हजार के पार◾3000 की बजाए 15000 एग्जाम सेंटर में एग्जाम देंगे 10वीं और 12वीं के छात्र : रमेश पोखरियाल ◾राज ठाकरे का CM योगी पर पलटवार, कहा- राज्य सरकार की अनुमति के बगैर प्रवासियों को नहीं देंगे महाराष्ट्र में प्रवेश◾राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने हॉकी लीजेंड पद्मश्री बलबीर सिंह सीनियर के निधन पर शोक व्यक्त किया ◾CM केजरीवाल बोले- दिल्ली में लॉकडाउन में ढील के बाद बढ़े कोरोना के मामले, लेकिन चिंता की बात नहीं ◾अखबार के पहले पन्ने पर छापे गए 1,000 कोरोना मृतकों के नाम, खबर वायरल होते ही मचा हड़कंप ◾महाराष्ट्र : ठाकरे सरकार के एक और वरिष्ठ मंत्री का कोविड-19 टेस्ट पॉजिटिव◾10 दिनों बाद एयर इंडिया की फ्लाइट में नहीं होगी मिडिल सीट की बुकिंग : सुप्रीम कोर्ट◾2 महीने बाद देश में दोबारा शुरू हुई घरेलू उड़ानें, कई फ्लाइट कैंसल होने से परेशान हुए यात्री◾हॉकी लीजेंड और पद्मश्री से सम्मानित बलबीर सिंह सीनियर का 96 साल की उम्र में निधन◾Covid-19 : दुनियाभर में संक्रमितों का आंकड़ा 54 लाख के पार, अब तक 3 लाख 45 हजार लोगों ने गंवाई जान ◾देश में कोरोना से अब तक 4000 से अधिक लोगों की मौत, संक्रमितों का आंकड़ा 1 लाख 39 हजार के करीब ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

पीसी शर्मा का विवादित बयान, बोले- भोपाल की जर्जर सड़कों को हेमा मालिनी के गालों जैसा चकाचक बनाया जाएगा

मध्य प्रदेश सरकार के विधि एवं विधायी कार्य मंत्री पी सी शर्मा ने विवादित बयान देते हुए कहा कि भोपाल शहर की जर्जर सड़कों को जल्द ही मशहूर अभिनेत्री एवं सांसद हेमा मालिनी के गालों जैसा चकाचक बना दिया जाएगा। 

भोपाल में हबीबगंज रेलवे स्टेशन के पास प्रदेश के लोक निर्माण मंत्री सज्जन सिंह वर्मा के साथ खस्ताहाल सड़कों का निरीक्षण करने आये शर्मा ने मंगलवार को प्रदेश की पूर्ववर्ती भाजपा नीत सरकार पर तंज कसते हुए पत्रकारों से कहा, "मध्य प्रदेश में (पूर्ववर्ती भाजपा के शासनकाल में) वॉशिंगटन और न्यूयॉर्क जैसी बनाई गई ये सड़कें कैसी थीं? (इस मानसून में) जमकर पानी गिरा और यहां गड्‌ढे ही गड्‌ढे हो गए। चेचक के दाग जैसे हो गए। सड़कों पर गड्‌ढे (भाजपा महासचिव) कैलाश विजयवर्गीय के गाल जैसे हो गए।"

उन्होंने आगे कहा, "(मध्य प्रदेश के लोक निर्माण मंत्री) सज्जन भाई के नेतृत्व में और मुख्यमंत्री कमलनाथ जी के निर्देशों पर 15 दिन में सड़कों को दुरुस्त करा लिया जाएगा।" वर्मा ने कहा, "15 से 20 दिन में शहर की सड़कें चकाचक हो जाएंगी। हेमामालिनी के गाल जैसी हो जाएंगी।"

गौरतलब है कि दो साल पहले मध्यप्रदेश के तत्कालीन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने बयान में प्रदेश की सड़कों को अमेरिका से बेहतर बताया था। उन्होंने कहा था, "जब मैं वॉशिंगटन हवाई अड्डे पर उतरा और वहां सड़कों पर यात्रा की, तो मुझे लगा कि मध्यप्रदेश में सड़कें अमेरिका से बेहतर हैं।" 

शिवराज ने मंत्रियों के बयान पर किया पलटवार, कहा- ये बयान कांग्रेसियों की मानसिकता दर्शाता है

इसी बयान को लेकर शर्मा ने कल यह विवादित बयान दिया। शर्मा के इस बयान के चार दिन पहले ही प्रदेश के लोक निर्माण मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने भाजपा नीत केन्द्र सरकार पर मध्य प्रदेश सरकार के साथ सौतेला व्यवहार करने का आरोप लगाते हुए कहा था कि मध्यप्रदेश में अति-वर्षा एवं बाढ़ से खराब हुई सड़कों, पुलों एवं पुलियाओं की मरम्मत के लिए हमने केन्द्र सरकार से 1188 करोड़ रुपये की मदद देने का आग्रह (एक महीने पहले) किया था। लेकिन केन्द्र सरकार ने अब तक हमें इस मद में एक फूटी कौड़ी भी नहीं दी है। 

उन्होंने दावा किया था कि खराब हुई इन सड़कों को 30 नवंबर तक ठीक कर लिया जाएगा और इन खराब सड़कों एवं पुलों के लिए पूर्ववर्ती भाजपा शासनकाल को यह कहते हुए दोषी ठहराया था कि ये सड़के उनके शासनकाल में बनी थीं, हमारे शासनकाल में नहीं। हमें सत्ता में आये अभी केवल नौ महीने ही हुए हैं।