BREAKING NEWS

Agniveer Recruitment: नौसेना में अग्निवीर भर्ती के लिए इस दिन से शुरू होंगे आवेदन, जानें पूरा शेड्यूल ◾महाराष्ट्र के बागी मंत्री ‘24 घंटे में’ अपना पद गंवा देंगे : संजय राउत◾ Gujarat riots: ATS ने तीस्ता सीतलवाड़ को हिरासत में लिया, SC ने जांच की बताई थी जरूरत◾Rajasthan: देश में तनाव की स्थिति और हिंसा का माहौल.......,गहलोत ने गजेंद्र शेखावत को लेकर कही यह बड़ी बात◾Punjab News: भ्रष्टाचार मामले में IAS संजय पोपली के बेटे की मौत पर लगा प्रश्न चिन्ह, मां की चिखती हुई गुहार.... ◾ Maharashtra Crisis: कार्यकारिणी की बैठक में बोले उद्धव, बाल ठाकरे के नाम का इस्तेमाल कोई नहीं कर सकता◾Maharashtra News: शिवसेना को राकांपा ने दिया धोखा....., बागी विधायक महेश शिंदे ने ठाकरे को लेकर कही यह बात ◾अग्निपथ : कोचिंग संचालक ने भड़काई थी सिकंदराबाद में हिंसा, पुलिस ने किया खुलासा◾Maharashtra News : आठवले बोले- बागी विधायकों को धमकी न दें शिवसैनिक, अल्पमत में है महाराष्ट्र सरकार◾शिवसेना के 16 बागी MLAs को विधानसभा उपाध्यक्ष ने जारी किया नोटिस, मुंबई-ठाणे में धारा 144 लागू◾Assam Flood : बाढ़ के कारण अभी भी गंभीर बनी हुई है स्थिति, छठे दिन भी जलमग्न है सिलचर शहर ◾UP Latest News: उत्तर प्रदेश में योगी की लोगों को भेंट, 11 लाख ग्रामीणों को मालिकाना हक सौंपा◾UAE और जर्मनी की यात्रा पर जाएंगे PM मोदी, 15 से अधिक कार्यक्रमों में होंगे शामिल ◾गोवा में ऐतिहासिक किलों और स्मारकों का होगा पुनरुद्धार◾ Maharashtra News: महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन हो लागू...राज्य में सियासी संकट के बीच बोली सांसद नवनीत राणा◾विश्वास मत हासिल करेगी शिवसेना, फडणवीस हस्तक्षेप करेंगे तो एक बार फिर हो जाएंगे विफल : राउत ◾'सावंत तू गद्दार है', बागी MLA के खिलाफ शिवसैनिकों का आक्रोश, विधायक के कार्यालय में की तोड़फोड़◾SFI कार्यकर्ताओं पर लगा कांग्रेस कार्यालय में तोड़फोड़ करने का आरोप, 30 जून को वायनाड जाएंगे राहुल गांधी ◾गुजरात दंगों पर अमित शाह ने तोड़ी चुप्पी, बोले-मैंने पीएम मोदी के दर्द को नजदीक से देखा◾पार्टी बनाने में खून-पसीना बहाया, कोई आसानी से नहीं डाल सकता डाका : संजय राउत ◾

भाजपा ने प्रधानमंत्री मोदी को काले झंडे दिखाने के लिए वाइको की निंदा की 

चेन्नई : भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की तमिलनाडु इकाई ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मदुरै दौरे में उन्हें काले झंडे दिखाने के लिए प्रदर्शन आयोजित करने को लेकर एमडीएमके के संस्थापक वाइको की सोमवार को कड़ी आलोचना की। पार्टी ने कहा कि यह प्रदर्शन वाइको ने अपने खुद के “प्रचार” के लिए किया। केंद्रीय मंत्री पोन राधाकृष्णन ने दावा किया कि प्रदर्शन से प्रधानमंत्री के नाम या ख्याति पर किसी तरह से “कोई प्रभाव नहीं” पड़ा वहीं भाजपा की प्रदेश इकाई की अध्यक्ष तमिलिसाई सौंदराराजन ने कहा कि यह प्रदर्शन लोगों की भावनाओं को नहीं दर्शाता। यहां हवाईअड्डे पर संवाददाताओं से राधाकृष्णन ने कहा, “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को काले झंडे दिखाने के साथ ही कल के प्रदर्शन से प्रधानमंत्री मोदी के नाम एवं लोकप्रियता पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा।”

आगामी लोकसभा चुनावों के लिए पार्टी के गठबंधन के सवाल पर मंत्री ने कहा कि घोषणाएं सही समय पर की जाएंगी। उन्होंने कहा कि मोदी का दौरा दक्षिणी तमिलनाडु के विकास के मकसद से हुआ था जहां उन्होंने मदुरै में एम्स की आधारशिला रखी। साथ ही उन्होंने सवाल किया कि एक सांसद के तौर पर वाइको ने क्षेत्र के लिए क्या किया है ? सौंदराराजन ने एम के स्टालिन को तमिलनाडु का अगला मुख्यमंत्री बनाए जाने के वाइको के संकल्प का मजाक उड़ाते हुए कहा कि वह उन्हें याद दिलाना चाहेंगी कि पूर्व में द्रमुक अध्यक्ष के साथ उनके रिश्ते कितने कड़वे थे। उन्होंने एक बयान में कहा, “आपका काला झंडा प्रदर्शन आपके अपने प्रचार के लिए था और यह तमिलनाडु के लोगों की भावनाएं जाहिर नहीं करता।”

सौंदराराजन ने कहा, “लोग प्रधानमंत्री को काले झंडे दिखाने वालों को माफ नहीं करेंगे जो यहां लोक कल्याण योजनाओं के उद्धाटन के लिए आए थे। भाजपा प्रधानमंत्री के खिलाफ किसी भी ओछी बात को बर्दाश्त नहीं करेगी।” वाइको के नेतृत्व में एमडीएमके कार्यकर्ताओं ने रविवार को मदुरै में मोदी पर तमिलनाडु के हितों के साथ धोखा करने का आरोप लगाते हुए विरोध प्रदर्शन किया था। विरोध कर रहे पार्टी कार्यकर्ताओं ने मोदी के खिलाफ नारेबाजी की और काले गुब्बारे भी उड़ाए। उनका आरोप था कि मोदी ने कावेरी एवं अन्य मुद्दों पर तमिलनाडु के हितों के साथ धोखा किया है। सौंदराराजन ने वाइको पर अक्सर राजनीतिक चोला बदल लेने का आरोप लगाया और कहा कि लोगों को इसकी भली-भांति जानकारी है। साथ ही उन्होंने कहा कि गज तूफान से आई आपदा में केंद्र ने राज्य सरकार को मदद दी थी। प्रधानमंत्री ने लोगों का दुख में साथ दिया जबकि उनके कार्यालय ने केंद्रीय मंत्रियों को राहत कार्य में लगा कर कार्यों पर नजर रखी।