BREAKING NEWS

ईरान में कोरोना संकट के बीच फंसे 275 भारतीयो को दिल्ली लाया गया ◾कोरोना वायरस से अमेरिका में संक्रमितों की संख्या 121,000 के पार हुई, अबतक 2000 अधिक से लोगों की मौत ◾कोरोना संकट : देश में कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 1000 के पार, मौत का आंकड़ा पहुंचा 24◾कोरोना महामारी के बीच प्रधानमंत्री मोदी आज करेंगे मन की बात◾कोरोना : लॉकडाउन को देखते हुए अमित शाह ने स्थिति की समीक्षा की◾इटली में कोरोना वायरस का प्रकोप जारी, मरने वालों की संख्या बढ़कर 10,000 के पार, 92,472 लोग इससे संक्रमित◾स्पेन में कोरोना वायरस महामारी से पिछले 24 घंटों में 832 लोगों की मौत , 5,600 से इससे संक्रमित◾Covid -19 प्रकोप के मद्देनजर ITBP प्रमुख ने जवानों को सभी तरह के कार्य के लिए तैयार रहने को कहा◾विशेषज्ञों ने उम्मीद जताई - महामारी आगामी कुछ समय में अपने चरम पर पहुंच जाएगी◾कोविड-19 : राष्ट्रीय योजना के तहत 22 लाख से अधिक सार्वजनिक स्वास्थ्य सेवा कर्मियों को मिलेगा 50 लाख रुपये का बीमा कवर◾कोविड-19 से लड़ने के लिए टाटा ट्रस्ट और टाटा संस देंगे 1,500 करोड़ रुपये◾लॉकडाउन : दिल्ली बॉर्डर पर हजारों लोग उमड़े, कर रहे बस-वाहनों का इंतजार◾देश में कोविड-19 संक्रमण के मरीजों की संख्या 918 हुई, अब तक 19 लोगों की मौत ◾कोरोना से निपटने के लिए PM मोदी ने देशवासियों से की प्रधानमंत्री राहत कोष में दान करने की अपील◾कोरोना के डर से पलायन न करें, दिल्ली सरकार की तैयारी पूरी : CM केजरीवाल◾Coronavirus : केंद्रीय राहत कोष में सभी BJP सांसद और विधायक एक माह का वेतन देंगे◾लोगों को बसों से भेजने के कदम को CM नीतीश ने बताया गलत, कहा- लॉकडाउन पूरी तरह असफल हो जाएगा◾गृह मंत्रालय का बड़ा ऐलान - लॉकडाउन के दौरान राज्य आपदा राहत कोष से मजदूरों को मिलेगी मदद◾वुहान से भारत लौटे कश्मीरी छात्र ने की PM मोदी से बात, साझा किया अनुभव◾लॉकडाउन को लेकर कपिल सिब्बल ने अमित शाह पर कसा तंज, कहा - चुप हैं गृहमंत्री◾

भाजपा विधायक कोल ने अपना त्यागपत्र स्वीकृत होने से पहले दिया था इसे वापस लेने का आवेदन : BJP

मध्यप्रदेश भाजपा का एक प्रतिनिधिमंडल शनिवार शाम को राज्यपाल लालजी टंडन से मिला और आरोप लगाया कि विधानसभा सचिवालय पर भाजपा के एक विधायक का त्यागपत्र मंजूर करने के लिए दबाव डाला जा रहा है। 

भाजपा प्रतिनिधिमंडल ने पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में राज्यपाल से मुलाकात की और इस संबंध में ज्ञापन सौंपा। 

चौहान ने राज्यपाल से मुलाकात के बाद संवाददाताओं से कहा, ‘‘भाजपा विधायक शरद कोल :ब्योहारी: ने हमारे साथ राज्यपाल से मुलाकात की और उन्हें बताया कि उनका त्यागपत्र स्वीकृत करने से पहले उन्होंने इसे वापस लेने का आवेदन भी दे दिया था।’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘अब हमें जानकारी मिली है कि स्पीकर विधानसभा सचिवालय पर कोल का त्यागपत्र स्वीकार करने के लिए दबाव बना रहे हैं।’’ चौहान ने कहा कि हमने राज्यपाल से इस मामले में हस्तक्षेप की मांग की है। 

शरद कोल ने संवाददाताओं से कहा कि उन्होंने प्रशासन से दबाव डलवाकर इस्तीफा लिखने के लिए मजबूर किया था। 

कोल ने कहा, ‘‘लेकिन मैंने 12 मार्च को विधानसभ सचिवालय और स्पीकार को मेल कर अपना त्यागपत्र वापस लेने की अपील की थी। मैंने स्पीकार से मिलने की भी कोशिश की लेकिन उन्होंने मिलने का समय नहीं दिया। इसके बाद मैंने 16 मार्च को विधानसभा सचिव को अपना इस्तीफा वापस लेने का आवेदन सौंपा था।’’