खरगोन : मध्यप्रदेश के खरगोन जिले के कसरावद विधानसभा क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी आत्माराम पटेल को क्षेत्र की सबसे बड़ी पंचायत पीपलगोन में विरोध का सामना करना पड़ा। भाजपा प्रत्याशी पटेल आज पीपलगोन में जनसंपर्क के लिए आए थे। इसी दौरान कथित तौर पर भाजपा कार्यकर्ताओं ने उनका काले झंडे और नारेबाजी कर विरोध किया। इसमें सपाक्स के भी कार्यकर्ता शामिल बताए जाते हैं। पटेल के जुलूस में प्रदर्शनकारी भी शामिल हो गए, किंतु पटेल ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी।

भाजपा के प्रदर्शनकारी तथा दुग्ध मार्केटिंग सोसाइटी के हर्ष पालीवाल ने बताया कि सन 2015 में आत्माराम पटेल ने भाजपा से पीपलगोन से जिला पंचायत सदस्य तथा जनपद सदस्य की अधिकृत प्रत्याशी का विरोध करने के लिए निर्दलीय प्रत्याशी को मैदान में उतार दिया था, जिसके चलते भाजपा के अधिकृत प्रत्याशी मामूली अंतर से हार गए थे।

उन्होंने कहा कि इसी बात को लेकर पटेल का भारतीय जनता पार्टी राजपूत समाज और पाटीदार समाज ने विरोध किया। कांग्रेस ने कसरावद विधानसभा क्षेत्र से पूर्व उपमुख्यमंत्री सुभाष यादव के छोटे पुत्र तथा वर्तमान विधायक सचिन यादव को मैदान में उतारा है। उधर बड़वानी जिले के सेंधवा में कांग्रेस प्रत्याशी ज्ञारसी लाल रावत के लगातार विरोध के मद्देनजर पार्टी ने डैमेज कंट्रोल के प्रयास आरंभ कर दिए हैं। इस सिलसिले में कांग्रेस की टिकट की चाहत रखने वाले कुछ उम्मीदवारों से आज झिरी जामली में बैठक हुई।