BREAKING NEWS

उत्तर प्रदेश : छोटी सी बात को लेकर हुआ पति-पत्नी में विवाद, लेनी पड़ी एक अपनी जान ◾SC ने महिलाओ के पक्ष में सुनाया बड़ा फैसला, कहा- विवाहित महिला की जबरन प्रेगनेंसी को माना जा सकता है रेप ◾गुजरात को मिलेगी विकास की सौगात, पीएम मोदी ने सूरत में कहा - गुजरात का गौरव बढ़ाने का मिला सौभाग्य◾PFI BAN : लगातार करवाई को लेकर सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दे सकता है पीएफआई, ट्विटर अकाउंट पर भी बैन ◾सोनिया से बगावत के बाद आज पहली बार मिलेंगे गहलोत, पायलट ने भी दिल्ली में डाला डेरा◾गरबा में छिपाकर कर आए मुस्लिम युवको को बजरंग दल ने जमकर पीटा, इंदौर से अहमदाबाद तक मचा बवाल ◾तीन साल और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष बने रहेंगे नड्डा, नहीं करना चाहती BJP पार्टी में बदलाव !◾कोरोना वायरस : देश में पिछले 24 घंटो में संक्रमण के 4,272 नए मामले दर्ज़, 27 लोगों की मौत ◾पायलट गुट के विधायकों ने तोड़ी चुप्पी, अशोक गहलोत पर कह दी बड़ी बात ◾अशोक गहलोत ने बीजेपी पर साधा निशाना, सोनिया गांधी पर भी दिया बड़ा बयान ◾अशोक गहलोत ने कांग्रेस हाईकमान के सामने मानी हार, जानिए दिल्ली एयरपोर्ट पर क्या कहा ◾जम्मू-कश्मीर : उधमपुर में 8 घंटे के भीतर दो बड़े धमाके, बसों में हुए दोनों ब्लास्ट◾प्रियंका गांधी को बनाया जाए कांग्रेस अध्यक्ष, पार्टी के सांसद ने पेश की ये बड़ी दलील◾अशोक गहलोत का कटेगा पत्ता? कांग्रेस अध्यक्ष को लेकर संशय◾आज का राशिफल (29 सितंबर 2022)◾दिग्विजय बनाम थरूर की ओर बढ़ रहा कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव◾दिल्ली पहुंचे गहलोत ने सोनिया के नेतृत्व को सराहा व संकट सुलझने की जताई उम्मीद ◾प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की सुनील छेत्री की सराहना◾टाट्रा ट्रक भ्रष्टाचार मामले में पूर्व रक्षा मंत्री ए के एंटनी से की गई जिरह◾PFI से पहले RSS पर प्रतिबंध लगाया जाना चाहिए था - लालू◾

BJP Meeting : 18 साल बाद हैदराबाद में BJP की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक, ये है पूरा कार्यक्रम

हैदराबाद में आज यानी 2 जुलाई से 3 जुलाई तक भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक होने जा रही है। बताया जा रहा है कि बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और बीजेपी शासित राज्यों के सीएम भी शामिल हो सकते हैं। राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के बाद एक विशाल रैली होगी, जिसे पीएम मोदी संबोधित करेंगे। ये रैली 3 जुलाई को शाम 6.30 बजे परेड ग्राउंड होगी।

18 साल बाद होने जा रही बैठक तेलंगाना के लिए महत्वपूर्ण

करीब 18 साल बाद हैदराबाद में होने जा रही इस बैठक में तेलंगाना में पार्टी की पैठ बढ़ाने पर ध्यान रहने की संभावना है। इससे पहले 2004 में हैदराबाद में राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक हुई थी। यह बैठक तेलंगाना के लिए महत्वपूर्ण बताई जा रही है, क्योंकि बीजेपी ने यहां अपने 'मिशन साउथ' एजेंडे के तहत बैठक करने का फैसला किया है। बीजेपी दक्षिण में अपने मतदाता आधार को मजबूत करने की कोशिश में लगी हुई है। वहीं तेलंगाना में अगले साल विधानसभा चुनाव भी होने हैं।

ये है पूरा कार्यक्रम

आज सुबह 10.30 से तीन बजे तक राष्ट्रीय पदाधिकारियों की बैठक शुरू होगी। दोपहर 2:55 बजे पीएम नरेंद्र मोदी हैदराबाद पहुंचेगे। जिसके बाद दोपहर 3.30 बजे से राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक शुरू होगी। बैठक का प्रधानमंत्री और नड्डा करेंगे। गृह मंत्री अमित शाह ,राजनाथ सिंह के साथ सभी राज्यों के मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री मंच पर मौजूद रहेंगे।

बीजेपी महासचिव तरुण चुग ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में  मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव पर हमला करते हुए कहा कि वह 3000 दिन से अधिक के अपने कार्यकाल के दौरान 30 घंटे के लिए भी अपने कार्यालय नहीं गए और उन्होंने समय ‘‘रंगीन शाम बिताने’’, पारिवारिक शासन को बढ़ावा देने में गुजारा तथा उन लोगों की अनदेखी की जिन्होंने राज्य के गठन के लिए बलिदान दिया।

पार्टी ने तेलंगाना में सत्ता में आने पर ध्यान बढ़ाने के साथ राज्य के 119 विधानसभा क्षेत्रों में अपने नेताओं को जमीनी हालात जानने के लिए भेजा है और कार्यसमिति की बैठक समाप्त होने के ठीक बाद वह तीन जुलाई को एक जनसभा आयोजित करेगी जिसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संबोधित करेंगे।

चुग ने कहा कि लाखों लोगों के अलावा राज्य भर के 35,000 से अधिक बूथ के बीजेपी कार्यकर्ता प्रधानमंत्री मोदी की जनसभा में शामिल होंगे। चुग ने 2023 के अंत तक अगले विधानसभा चुनाव से पहले संभावित अवधि के संदर्भ में दावा किया कि मोदी की बैठक के बाद राव केवल 520 दिनों के लिए सत्ता में रहेंगे।

बैठक से एक दिन पहले नड्डा का रोड शो 

बीजेपी अध्यक्ष जे पी नड्डा ने भी हैदराबाद पहुंचने के बाद एक रोड शो किया, जहां 18 साल बाद पार्टी की राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक आयोजित की जा रही है। हैदराबाद कन्वेंशन सेंटर में शनिवार को बीजेपी की दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यसमिति शुरू होने वाली है, जिसमें पार्टी के शीर्ष नेता जुटेंगे।