BREAKING NEWS

महा गतिरोध : सोनिया-पवार की मुलाकात अब सोमवार को होगी ◾शीतकालीन सत्र के बेहतर परिणामों वाला होने की उम्मीद : मोदी◾मुसलमानों को बाबरी मस्जिद के बदले कोई जमीन नहीं लेनी चाहिये - मुस्लिम पक्षकार◾GST रिटर्न दाखिल करने की प्रक्रिया को सरल बनाने को लेकर वित्त मंत्री ने की बैठकें ◾भारत ने अग्नि-2 बैलिस्टिक मिसाइल का किया सफल परीक्षण◾विपक्ष में बैठेंगे शिवसेना के सांसद ◾आसियान रक्षा मंत्रियों की बैठक में हिस्सा लेने बैंकाक पहुंचे रक्षा मंत्री राजनाथ◾किसानों की आवाज को कुचलना चाहती है भाजपा सरकार : अखिलेश◾उत्तरी कश्मीर में पांच संदिग्ध आतंकवादी गिरफ्तार ◾‘शिवसेना राजग की बैठक में भाग नहीं लेगी’ ◾TOP 20 NEWS 16 November : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾रामलीला मैदान में मोदी सरकार की ‘जनविरोधी नीतियों’ के खिलाफ विपक्ष करेगी बड़ी रैली ◾झारखंड विधानसभा चुनाव : भाजपा ने तीन उम्मीदवारों की चौथी सूची की जारी◾सबरीमला मंदिर के कपाट खुले, पुलिस ने 10 महिलाओं को वापस भेजा◾राफेल पर CM अरविंद केजरीवाल का प्रकाश जावड़ेकर को जवाब, ट्वीट कर कही ये बात ◾दिल्ली: राफेल डील में SC से क्लीन चिट के बाद AAP कार्यालय के पास भाजपा का प्रदर्शन◾नवाब मलिक ने फड़णवीस पर साधा निशाना, कहा- हार चुके सेनापति को अपनी हार स्वीकार करनी चाहिए◾गोवा में मिग 29 K लडाकू विमान दुर्घटनाग्रस्त, दोनों पायलट सुरक्षित◾योगी ने स्वाती सिंह को किया तलब, सीओ को धमकाने का ऑडियो हुआ था वायरल◾संजय राउत का BJP पर शायराना वार, लिखा- 'यारों नए मौसम ने अहसान किया...'◾

अन्य राज्य

बिहार : बीजेपी की वरिष्ठ नेता रेणु कुशवाहा ने पार्टी से दिया इस्तीफा

लोकसभा चुनाव में टिकट बंटवारे से नाराज बिहार की पूर्व मंत्री एवं बीजेपी की वरिष्ठ नेता रेणु कुशवाहा ने आज पार्टी के सभी पदों से इस्तीफा दे दिया। रेणु कुशवाहा ने पूर्व विधायक पूनम देवी और वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में मधेपुरा लोकसभा क्षेत्र से बीजेपी के उम्मीदवार रहे विजय कुमार सिंह की मौजूदगी में यहां आयोजित संवाददाता सम्मेलन में पार्टी से इस्तीफा दिए जाने की घोषणा की।

उनके साथ ही वरिष्ठ नेता नरेंद्र सिंह कुशवाहा और उनके समर्थकों ने भी पार्टी से नाराजगी जताते हुए इस्तीफा देने का ऐलान किया। पूर्व मंत्री रेणु कुशवाहा ने कहा कि आज से ठीक पांच वर्ष पहले बिहार सरकार में मंत्री के पद पर रहते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सबका साथ सबका विकास के नारे से विशेष रूप से प्रभावित होकर जनता दल यूनाइटेड जदयू) एवं मंत्री पद से इस्तीफा देकर बीजेपी में अपने समर्थकों के साथ शामिल हुई थी।

लेकिन, इन पांच वर्षों में बीजेपी नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार का चेहरा बेनकाब हो गया है एवं रही सही कसर इस बार के लोकसभा चुनाव में प्रत्याशियों के चयन में पूरी कर दी है। पूर्व मंत्री रेणु कुशवाहा ने कहा कि राज्य की बड़ी आबादी अल्पसंख्यक एवं कुशवाहा समाज की है लेकिन इन दोनों समुदायों को इस बार के लोकसभा चुनाव में टिकट से वंचित करके बीजेपी सबका विकास कैसे करना चाहती है।

हालांकि रेणु कुशवाहा ने कहा कि यह बात सच है कि बीजेपी सबका साथ तो लेती है लेकिन विकास किसी खास का ही करती है। बीजेपी के इस व्यवहार से आहत कुशवाहा समाज काफी खिन्न और मर्माहत है। इस असहज परिस्थिति में बीजेपी में राजनीति नहीं हो सकती है और इसी से अपने साथियों एवं समर्थकों के साथ आज बीजेपी से अलग होने का निर्णय लिया है।

पूर्व मंत्री रेणु कुशवाहा ने कहा कि किसी भी पार्टी में निष्ठावान सांगठनिक कार्यकर्ताओं के भविष्य के बारे में नेताओं को कोई चिंता नहीं है। रुपये-पैसे की बदौलत टिकट वितरित किया जा रहा है। सभी पार्टियों ने राजनीतिक लोकतंत्र का मखौल उड़ाया था आम जनता एवं राजनीतिक कार्यकर्ताओं के साथ भद्दा मजाक किया है।

रेणु कुशवाहा ने कहा कि अब ऐसे में नई तरह की राजनीति की जरूरत हो गयी है। उन्होंने कहा कि जल्द ही सभी दलों के स्वाभिमानी राजनीतिक कार्यकर्ताओं एवं हाशिये पर बैठे सामाजिक कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर राजनीति की दिशा तय की जाएगी