BREAKING NEWS

अमरिंदर सिंह ने प्रधानमंत्री, विदेश मंत्री से मुलाकात की ◾ओवैसी बोले- डराइए मत, शाह बोले- अगर डर जेहन में है तो क्या करें ◾मोदी ने असम के मुख्यमंत्री से फोन पर बात की, बाढ़ का हाल पूछा ◾Top 20 News -15 July : आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें◾विश्वास मत के दौरान अनुपस्थित रह सकते है कर्नाटक के बागी विधायक ◾ बिहार में बाढ़ का कहर जारी, 55 प्रखंड के 18 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित ◾उदयपुर में बढ़ा तनाव : उग्र भीड़ ने दो रोडवेज बसें फूंकी, पुलिसकर्मियों पर किया पथराव◾लोकसभा में NIA संशोधन विधेयक 2019 को मिली मंजूरी◾सिद्धू के इस्तीफे पर बोले कैप्टन - यदि वह अपना काम नहीं करना चाहते, तो मैं कुछ नहीं कर सकता◾NIA कानून का इस्तेमाल शुद्ध रूप से आतंकवाद को खत्म करने के लिए ही करेंगे : अमित शाह ◾हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल नियुक्त हुए कलराज मिश्रा, आचार्य देवव्रत को भेजा गया गुजरात ◾ओवैसी को शाह की नसीहत, बोले - सुनने की भी आदत डालिए साहब, इस तरह से नहीं चलेगा◾बीजेपी ने CM कुमारस्वामी के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने की मांग की ◾सूरत रेप मामले में सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की आसाराम की जमानत याचिका◾इलाहाबाद हाई कोर्ट से अगवा हुए युवक-युवती फतेहपुर से बरामद, अपहरणकर्ता गिरफ्तार ◾इलाहाबाद HC का आदेश, BJP विधायक की बेटी साक्षी और अजितेश को मिलेगी सुरक्षा◾बागी कर्नाटक विधायकों ने फिर लिखा पुलिस को पत्र, कहा- कांग्रेसी नेताओं से खतरा ◾हिमाचल प्रदेश के सोलन में इमारत ढही , 6 जवान समेत सात लोगों की मौत◾चंद्रयान-2 का काउंटडाउन रोका गया , जल्द ही नई तारीख का होगा ऐलान !◾World Cup 2019 ENG vs NZ : स्टोक्स और ‘बाउंड्री’ के दम पर इंग्लैंड बना विश्व चैंपियन ◾

अन्य राज्य

मध्यप्रदेश में पुलिस के खोजी कुत्तों के तबादलों पर भाजपा ने सरकार पर साधा निशाना

मध्यप्रदेश की कांग्रेस सरकार द्वारा पुलिस के खोजी कुत्तों और उनके हैंडलर्स के बड़े पैमाने पर किये गये स्थानांतरणों की विपक्षी दल भाजपा ने आलोचना करते हुए इसको लेकर सरकार पर निशाना साधा है। 

शुक्रवार को मध्यप्रदेश पुलिस की 23 बटालियन के कमांडेंट द्वारा जारी एक आदेश में पुलिस के 46 कुत्ते और उनके हैंडलर्स का तबादला कर दिया गया। इस आदेश में छिंदवाड़ा से मुख्यमंत्री कमलनाथ के घर पर तैनात 'डफी' नामक खोजी कुत्ते का स्थानांतरण भी किया गया है। इसके अलावा 'रेणु' और 'सिकंदर' नाम के दो अन्य कुत्तों को भी क्रमश: सतना और होशंगाबाद से भोपाल स्थित मुख्यमंत्री निवास स्थानांतरित किया गया है। 

पुलिस के इन खोजी कुत्तों के तबादला आदेश की सूची सामने आने के बाद भाजपा नेताओं ने सोशल मीडिया पर तीखी टिप्पणी शुरू कर दी। 

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष राकेश सिंह ने ट्वीट किया, ‘‘अधिकारियों से अपेक्षाओं की पूर्ति न होना, तबादलों का ये आधार समझ में आता है। पर बेज़ुबानों से कौन सी अपेक्षाओं की पूर्ति होनी थी, जो ‘डॉग्स’ व ‘डॉग्स स्क्वाड’ का भी पांच-पांच सौ किमी दूर तबादला कर दिया। मप्र सरकार का तबादले के अलावा प्रदेश के हित के किसी भी अन्य विषय पर ‘फोकस’ नहीं है।’’ 



प्रदेश भाजपा उपाध्याक्ष विजेश लुनावत ने इस पर ट्वीट किया,‘‘वाह री कमलनाथ सरकार तबादला उद्योग में कुत्तों को भी नही छोड़ा। मध्यप्रदेश में डॉग स्क्वाड के ट्रांसफर।’’ 

भाजपा विधायक और प्रदेश भाजपा के उपाध्यक्ष रामेश्वर शर्मा ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘कांग्रेस चमत्कारिक दल है, ज़मीन आसमान का भी ट्रान्सफ़र कराने का दम रखती है।’’ 

शर्मा ने पीटीआई से कहा, “कांग्रेस चमत्कार कर सकती है। इसने कुत्तों का भी तबादला कर दिया। कमलनाथ सरकार ने छह महीने में लगभग 50,000 अधिकारियों और कर्मचारियों का स्थानांतरण किया। कुछ अधिकारियों को इस अवधि में 3-4 बार स्थानांतरित किया गया। प्रदेश में तबादला उद्योग फल-फूल रहा है और सरकारी कार्यालयों में पद बेचे जा रहे हैं।” 

कई अन्य भाजपा नेताओं ने भी सोशल मीडिया पर कांग्रेस पर इस आदेश को लेकर निशाना साधा। प्रदेश कांग्रेस मीडिया सेल के उपाध्यक्ष अभय दुबे ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, ‘‘मध्यप्रदेश में सत्ता जाने के बाद भाजपा में इनती निराशा व्याप्त है कि वह पुलिस के डॉग्स पर भी राजनीति करने पर आमादा हैं। पुलिस विभाग में जो डॉग्स के हैडलर्स होते हैं, उनका स्थानांतरण होता है और वे डॉग (कुत्ते) के साथ जीवन पर्यन्त रहते हैं। 

अपराध के अनुसंधान में जब डॉग का उपयोग किया जाता है तो हैंडलर्स जो डॉग के साथ रहता है वह उसकी भाषा एवं संकेतों को समझा पाता है और एक ही हैंडलर एक डॉग के साथ धुला मिला रहता है। भाजपा से अपेक्षा है कि वह रचनात्मक प्रतिपक्ष की भूमिका निभाये। निराशा में तथ्यहीन विषयों को मुद्दा बनाकर राजनीति करना बंद करे।’’