उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने उत्तराखंड में पिछली बार की अपेक्षा अधिक मत मिलने का दावा करते हुए कहा कि भाजपा राज्य की पांचों सीटें जीतेगी। रावत ने कहा कि पिछली बार लोकसभा चुनाव में भाजपा को उत्तराखंड में 55 प्रतिशत मत मिले थे। धानसभा चुनाव में भी पार्टी ने 70 में से 57 सीटें जीतीं थीं। इस बार लोकसभा चुनाव में पिछली बार से अधिक मत हासिल होंगे।

त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि देश का युवा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चाहता है। वह युवा पीढ़ी की आकांक्षाओं के प्रतीक बन गये हैं। नई पीढ़ी देख रही है कि कांग्रेस 55 साल में जो नहीं कर पाई उसे मोदी ने 55 महीनों में कर दिखाया है। देश की अर्थव्यवस्था 11वें स्थान पर थी, जो अब छठे स्थान पर आ गई है। विकास दर भी 7.3 प्रतिशत है। पांच वर्षों में दुनिया में भारत की पहचान बनी है। उरी और पुलवामा की घटनाओं के बाद चीन और पाकिस्तान अलग-थलग पड़ गए हैं। अंतरिक्ष में सेटेलाइट को मार गिराने का परीक्षण किया गया।

उन्होंने कहा हमारे जाम्बाज सैनिकों में साहस पहले भी था, लेकिन राजनीतिक इच्छाशक्ति का नितांत अभाव था। राजनीतिक इच्छाशक्ति मोदी में है। वह हमारी आकांक्षाओं का भारत का निर्माण करने का प्रयास कर रहे हैं। त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि 10 वर्ष यूपीए सरकार थी। उस समय भी गरीबी हटाने का नारा दिया गया। इससे पहले राजीव गांधी ने यह नारा दिया और उससे भी पहले दिवंगत इंदिरा गांधी ने यह नारा दिया था, लेकिन गरीबी कितनी हटी यह सब जानते हैं। कांग्रेस के शासन काल में गरीबों के लिये 25 लाख घर बनाये गये थे, इसकी तुलना में पिछले 55 महीने में एक करोड़ 30 लाख मकान बनाये गये हैं। पांच वर्षों में जरूरी चीजों के दाम गिरे हैं। गांव-गांव में बिजली पहुंचाई गई है।

उत्तराखंड में इस बार भी भाजपा और कांग्रेस के बीच ही हो सकता है सीटों का बंटवारा

उन्होंने उत्तराखंड में भाजपा के विकास कार्यों की चर्चा करते हुए कहा कि उत्तराखंड में रेललाइन और सड़कों का जाल बिछाया जा रहा है। सीमा तक सड़कें बन गई हैं। विमानसेवा का सस्ती दरों पर विस्तार हुआ है। प्रधानमंत्री की उड़ान योजना में उत्तराखंड के 13 जिले आते हैं, यहां हवाई यात्रा टैक्सी से भी सस्ती पड़ रही है। छोटे गांवों तक सौर ऊर्जा के जरिए बिजली पहुंचाई जा रही है।

रावत ने कहा कि सड़कों के निर्माण से पर्यटन के क्षेत्र में रिकॉर्ड वृद्धि हुई है। दो वर्ष पहले उत्तराखंड में दो करोड़ 80 लाख पर्यटक आये थे, इस वर्ष चार करोड़ से अधिक पर्यटक आये हैं। इसकी वजह प्रधानमंत्री की सोच है कि उत्तराखंड हिन्दुओं की आस्था का केंद्र है। यहां दुनियाभर के हिन्दू आना चाहते हैं। लिहाजा पर्यटकों को जरुरी सुविधा मुहैया कराने के लिये सड़कों और रेललाइन का जाल बिछाया जा रहा है। उत्तराखंड में 16 हजार करोड़ रुपये की लागत से 135 किलोमीटर रेललाइन बिछाई जा रही है।

इसमें 90 किलोमीटर रेललाइन पहाड़ में सुरंगों से गुजरेंगी। इन सुविधाओं की वजह से ही उत्तराखंड में पर्यटन के क्षेत्र में तेजी से विकास हुआ है। इससे पहले टिकट कटने पर भाजपा से बगावत करके निर्दलीय चुनाव लड़ थानागाजी के पूर्व विधायक हेमसिंह बड़ना आज पार्टी में लौट आये। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने उनका स्वागत करते हुए कहा कि उनकी घर वापसी हो गई है।