BREAKING NEWS

बीजेपी का खेला : शिवसेना को कमजोर करना चाहती है भाजपा, शिंदे को मुख्यमंत्री बना ‘क्षेत्रीय भावनाओं’ पर कब्जे की कोशिश◾जानिए ! देवेंद्र से पहले भी ये नेता CM रहने के बाद जूनियर पद कर चुके है स्वीकार , फडणवीस ऐसे करने वाले चौथे नेता◾उद्धव ठाकरे ने नये मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे , उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को दीं शुभकामनाएं ◾सतारा के रहने वाले महाराष्ट्र के चौथे सीएम हैं एकनाथ , शरद पवार ने शिंदे को दी बधाई ◾CM Swearing Ceremony : शीर्ष नेतृत्व के कहने पर देवेंद्र फडणवीस बने डिप्टी चीफ मिनिस्टर◾सुरक्षा एजेंसियों का दावा : जिहाद को निर्यात करने वाले पाकिस्तानी संगठन ने राजस्थान से एकत्रित किया था 20 लाख का चंदा ◾ एकनाथ शिंदे व फडणवीस को प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर दी बधाई ◾CM Swearing Ceremony: एकनाथ शिंदे ने ली महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद की शपथ, देवेंद्र फडणवीस बने डिप्टी सीएम◾ IND vs ENG: BCCI ने किया बड़ा ऐलान, इंग्लैंड के खिलाफ पांचवें टेस्ट में जसप्रीत बुमराह होगें कप्तान◾शिंदे मंत्रिमंडल में शामिल होंगे फडणवीस: नड्डा◾चार जुलाई को अल्लूरी सीताराम राजू की प्रतिमा का अनावरण करेंगे पीएम मोदी ◾ उद्धव के सामने चुनौतिया का पहाड़, संगठन में मजबूती व हिंदुत्व की पहचान पाने में करनी होगी मेहनत◾ UP News: आजमगढ़ से नवनिर्वाचित सांसद निरहुआ के बड़े भाई कार हादसे में गंभीर रूप से घायल◾Maharashtra Political News: महाराष्ट्र के नए मुख्यमंत्री होंगे एकनाथ शिंदे, देवेंद्र फडणवीस ने किया खुलासा◾Inflation: इतने नकली आंसू कैसे बहा लेते हैं, प्रधानमंत्री जी? महंगाई के मुद्दे पर राहुल ने साधा केंद्र पर निशाना ◾ manipur landslide: पीएम मोदी ने की मणिपुर सीएम से बात, आपदा के हालात की समीक्षा ◾Uttar Pradesh: हर परिवार के एक सदस्य को मिलेगा रोजगार... CM योगी ने किया बड़ा ऐलान, जानें क्या कहा ◾Arunachal landslide:18 के पार पहुंची भूस्खलन में मरने वाले लोगों की संख्या, एक शव और निकाला गया ◾दिल्ली में विधायकों के वेतन में 66 प्रतिशत की वृद्धि, जल्द मिलेगी 90 हजार रुपए सैलरी◾ मणिपुर में भूस्खलन के कारण दो लोगों की मौत, कई लापता◾

Yes Bank धोखाधड़ी मामले में बॉम्बे HC ने वधावन बंधुओं को दी जमानत

यस बैंक धोखाधड़ी मामले में मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपी डीएचएफएल प्रमोटर्स कपिल वधावन और धीरज वधावन को गुरुवार को जमानत मिल गई है। जमानत मिलने के बावजूद दोनों भाई फिलहाल जेल में ही रहेंगे क्योंकि केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने भी इसी मामले में उनके खिलाफ मामला दर्ज किया है। 

बॉम्बे हाई कोर्ट न्यायमूर्ति भारती डांगरे ने वधावन बंधुओं को इस आधार पर जमानत दी कि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) उनके खिलाफ 60 दिन की अवधि में आरोप पत्र दाखिल नहीं कर पाया है। कोर्ट ने कहा कि कानून में आरोप पत्र दायर करने के लिये तय अवधि बताई गई है और वह अवधि पूरी होने के बाद आरोपी को एक दिन भी हिरासत में नहीं रखा जा सकता और वह 'स्वाभाविक जमानत' मांग सकता है। यदि जांच एजेंसी अभियुक्त के खिलाफ आपराधिक प्रक्रिया संहिता की धारा 167 के तहत निर्धारित अवधि के भीतर आरोप पत्र दायर करने में विफल रहती है, तो अभियुक्त स्वाभाविक जमानत मांग सकता है। 

कोर्ट ने दोनों आरोपियों को एक-एक लाख का मुचलका भरने और अपना पासपोर्ट जमा कराने के निर्देश दिए। ईडी की ओर से पेश अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल अनिल सिंह ने कोर्ट से दो हफ्ते तक अपने आदेश पर रोक जारी रखने का अनुरोध किया, ताकि एजेंसी सुप्रीम कोर्ट में अपील कर सके। हालांकि न्यायमूर्ति डांगरे ने इस अनुरोध को खारिज करते हुए कहा जब आरोपी के पास स्वाभाविक जमानत मांगने का अधिकार बचा हो, तब उसे एक दिन भी हिरासत में नहीं रखा जा सकता। 

आरोपियों ने 60 दिन के नियत वक्त तक ईडी द्वारा आरोप पत्र दाखिल नहीं किए जाने का दावा करते हुए जमानत की मांग की थी। ईडी ने धनशोधन मामले में 14 मई को उन्हें गिरफ्तार किया था। गौरतलब है कि ईडी ने 15 जुलाई को वधावन, येस बैंक के संस्थापक राणा कपूर, उनकी पत्नी बिंदू कपूर, बेटियों रोशनी और रेखा और उनकी चार्टर्ड अकाउंटेंट कंपनी दुलारेश के जैन एंड एसोसिएट के खिलाफ आरोप पत्र दायर किया था।