BREAKING NEWS

आज का राशिफल (06 दिसंबर 2022)◾संसदीय पैनल ने RBI गवर्नर के लिए की 6 वर्ष के कार्यकाल की सिफारिश, जाने क्या कहती है रिपोर्ट ◾UP : हिन्दू महासभा ने की शाही ईदगाह में हनुमान चालीसा का पाठ करने की घोषणा, पुलिस ने बढ़ाई सुरक्षा ◾दुनिया में एक शक्तिशाली देश के रूप में उभरा है भारत : प्रधानमंत्री मोदी ◾PFI पोस्टर मामला : CM बोम्मई बोले- दोषियों के खिलाफ की जाएगी कड़ी कार्रवाई, भ्रम पैदा करना सही नहीं ◾गुजरात चुनाव : दूसरे चरण में हुआ 58 प्रतिशत से अधिक मतदान, अधिकारियों ने दी जानकारी ◾J&K : उमर अब्दुल्ला बोले - लोगों को अंधेरे में नहीं रख रही नेकां, मेरा दिल कहता है बहाल होगा अनुच्छेद 370 ◾सुप्रीम कोर्ट की फटकार, कहा- पंजाब में शराब, ड्रग्स पर रोक न लगने से खत्म हो जाएंगे युवा◾Himachal Pradesh: किसका होगा हिमाचल! Exit Polls के मुताबिक- पहाड़ों में फिर खिलेगा 'कमल' ◾सुप्रीम कोर्ट की सलाह: दुनिया बदल गई, CBI को भी बदलना चाहिए, जानें क्या है पूरा मामला ◾दिल्ली हाई कोर्ट ने राघव बहल के खिलाफ धनशोधन की जांच पर रोक लगाने से किया इनकार ◾बिहार की सियासत में कांग्रेस की बढ़ी दिलचस्पी, अखिलेश प्रसाद सिंह राज्य इकाई के अध्यक्ष नियुक्त◾European Union: एयरलाइन यात्रियों के लिए खुशखबरी, जल्द अपने फोन में 5जी सर्विस का उठा पाएंगे लाभ ◾Lakhimpur Kheri case: केन्द्रीय मंत्री अजय मिश्रा के बेटे समेत 13 आरोपियों को आरोपमुक्त करने की अर्जी खारिज◾Maharashtra: नाना पटोले ने कहा- BJP कर रही है शिवाजी महाराज का अपमान करने का प्रयास◾Maharashtra: महाराष्ट्र में दरिंदगी, 5 साल की बच्ची के साथ बलात्कार, पुलिस ने आरोपी को दबोचा◾अखिलेश यादव का आरोप, कहा- उपचुनावों में लोगों को वोट देने से रोक रहा है प्रशासन◾देश के पीएम नरेंद्र मोदी और सीएम G-20 शिखर सम्मेलन पर सर्वदलीय बैठक में होंगे शामिल ◾आतंक फैलाने में जुटा PAK, भारत-पाकिस्तान बॉर्डर पर बीएसएफ ने ड्रोन और हेरोइन बरामद की◾पिटबुल कुत्ते ने 9 साल के मासूम बच्चे पर किया हमला बच्चा गंभीर रूप से घायल, मालिक पर केस दर्ज◾

शिवसेना के दोनों समूहों ने SC के फैसले का किया स्वागत

पूर्व मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाले शिवसेना के दोनों धड़ों ने मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट के उस फैसले का स्वागत किया, जिसमें चुनाव आयोग को 'असली शिवसेना' पर फैसला करने की अनुमति दी गई थी।

अपनी पहली प्रतिक्रिया में, शिंदे ने कहा कि उन्होंने विनम्रतापूर्वक शीर्ष अदालत के फैसले का स्वागत किया और दोहराया कि उनका गुट 'असली शिवसेना' है।

उन्होंने कहा, 'एक लोकतंत्र में, बहुमत मायने रखता है और हमारे पास विधानसभा में बहुमत है, अधिकांश सांसद हमारा समर्थन कर रहे हैं। देश में लिए गए सभी निर्णय संविधान, कानूनों और प्रक्रियाओं पर आधारित हैं। हम इस फैसले की उम्मीद कर रहे थे।'

शिवसेना के पूर्व मंत्री आदित्य ठाकरे ने कहा कि 'यह कोई राहत नहीं है' जैसा कि शिंदे समूह के नेताओं ने दावा किया है, जबकि सांसद अरविंद सावंत ने कहा कि यह निर्णय कानूनी प्रक्रियाओं का हिस्सा है, और पूरे देश ने अदालत की कार्यवाही देखी है।

ठाकरे जूनियर ने कहा, 'यह किसी भी पक्ष के लिए न तो सदमा है और न ही राहत। एससी ने अब ईसीआई से इस मामले में निर्णय लेने के लिए कहा है। 'गद्दारों' को कोई जीत नहीं मिली है जैसा कि वे दावा कर रहे हैं। अब हम अपना मामला ईएसआई के सामने पेश करेंगे। हमें न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है।'

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष जयंत पाटिल, शिवसेना नेताओं जैसे अनिल देसाई, पूर्व मंत्री अनिल परब और अन्य ने भी कहा कि वे सुप्रीम कोर्ट के फैसले को स्वीकार करते हैं और अब चुनाव आयोग के समक्ष अपना मामला मजबूती से रखेंगे।