BREAKING NEWS

CM बसवराज बोम्मई ने कहा- अमित शाह कर्नाटक यात्रा विधानसभा चुनाव में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे ◾Rajasthan: PM नरेंद्र मोदी राजस्थान दौरे पर भीलवाड़ा में गुर्जर समाज को प्रभावित करने की करेंगे कोशिश ◾बागेश्वर बाबा से मिलने के बाद बोले आचार्य बालकृष्ण, कहा- ‘धीर हो धीरेंद्र हो और कृष्ण भी तुम हो' ◾मध्य प्रदेश के मुरैना में बड़ा हादसा, आपस में टकराकर क्रैश हुए लड़ाकू विमान सुखोई और मिराज ◾CM YOGI :इस्लाम, सिख, जैन धर्म को छोड़ सनातन को CM योगी ने कहा भारत का राष्ट्रीय धर्म, कांग्रेस ने उठाए सवाल ◾ भाई से मिलने जेल में गई 4 साल की मासूम के साथ हुआ भद्दा मजाक, गाल पर लगाई गई मुहर◾Bharat Jodo Yatra: मल्लिकार्जुन खरगे ने किया शाह से पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था का आग्रह ◾दिल्ली में एक बार फिर हुई कंझावला जैसी हैवानियत, बोनट पर फंसे शख्स को 350 मीटर तक घसीटा, मौके पर मौत◾ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज करेंगे NCC की वार्षिक रैली को संबोधित◾शनिदेव: इन तीन लोगों को नहीं करते हैं परेशान,ये हैं शनि देव की 3 सबसे प्यारी राशियां◾ पठान विवाद पर दिग्विजय सिंह का PM मोदी पर हमला, कहा- ‘तेंदुआ अपने पंजों के निशान नहीं बदलता’◾अडानी के डूबे 2.30 लाख करोड़ रुपये, अमीरों की लिस्ट में 7वें पायदान पर◾आज का राशिफल (28 जनवरी 2022)◾अगले साल बड़ी ताकत के रूप में उभर सकता है भारत : रिपोर्ट◾G-20 के मेहमान 12 फरवरी को ताजमहल, आगरा किला और एत्माद्दौला के मकबरे का करेंगे दीदार◾सिसोदिया ने लिखा DU के कुलपति को पत्र- अस्थाई गेस्ट शिक्षकों को स्थायी करने की मांग की◾Tripura Elections: माकपा-तृणमूल को झटका, मोबोशर अली और सुबल भौमिक BJP में हुए शामिल ◾राहुल गांधी की सुरक्षा में चूक का मामला गर्माया, CM गहलोत बोले- गृहमंत्री जांच करवाएं◾UP News: भाजपा सांसद रवींद्र कुशवाहा बोले- स्वामी प्रसाद मौर्य को सपरिवार इस्लाम स्वीकार लेना चाहिए◾सौरभ भारद्वाज का आरोप- भाजपा असंवैधानिक तरीके से MCD पर चाहती है नियंत्रण◾

संजय राउत ने सोमैया के देश छोड़ने की जताई आशंका, कहा- उनके खिलाफ लुक आउट नोटिस जारी करना चाहिए

शिवसेना के कद्दावर नेता और राज्यसभा के सांसद संजय राउत ने सोमवार को एक बड़ा दावा किया कि सेवामुक्त किए जा चुके विक्रांत पोत के संरक्षण के नाम पर ‘धोखाधड़ी करने वाले’’ भारतीय जनता पार्टी के नेता किरीट सोमैया और उनके बेटे नील सोमैया देश से भाग सकते हैं और उनके खिलाफ लुक आउट नोटिस जारी करना चाहिए।  

57 करोड़ रुपये से अधिक की हेराफेरी का मामला 

राउत ने यहां संवाददाताओं से बात करते हुए यह भी दावा किया कि सोमैया और उनके बेटे मुंबई और महाराष्ट्र से बाहर हैं और मामले में अग्रिम जमानत सुनिश्चित करने के लिए ‘सेटिंग’ में लगे हुए हैं। शिवसेना नेता राउत, सोमैया पर पोत के संरक्षण के नाम पर एकत्र किए गए 57 करोड़ रुपये से अधिक की हेराफेरी का आरोप लगाते रहे हैं। मुंबई पुलिस ने पिछले सप्ताह एक पूर्व सैन्यकर्मी की शिकायत के आधार पर सोमैया और उनके बेटे के विरुद्ध धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया था। हालांकि भाजपा नेता ने आरोपों से इनकार किया है।  

अनुशासनहीनता पर कांग्रेस आलाकमान सख्त, सुनील जाखड़ और केवी थॉमस को भेजा कारण बताओ नोटिस

राउत ने कहा, ‘‘सबसे बड़ा सवाल यह है कि ये दोनों ठग....पैसे जमा करने वाले माफियाओं के मास्टरमाइंड कहां हैं?...भाजपा ने अभी तक इस पर कोई आधिकारिक बयान क्यों नहीं दिया है? वे कहां छिपे हुए हैं? वे किस प्रदेश में हैं।’’ शिवसेना के प्रवक्ता ने मांग की, ‘‘मैं आपको बता रहा हूं कि वे मुंबई और महाराष्ट्र से बाहर हैं। मुझे आशंका है कि अगर उनके लिए अग्रिम जमानत सुनिश्चित करने की कोई ‘सेटिंग’ नहीं होती तो वे देश से भाग सकते हैं। वे कोशिश कर रहे हैं, लेकिन ऐसा नहीं हो रहा है। इसलिए, उनके नाम पर लुकआउट नोटिस जारी किया जाना चाहिए।’’  

माफिया गिरोह ने पूरे महाराष्ट्र से और राज्य के बाहर से धन एकत्र किया 

उन्होंने आरोप लगाया कि भगोड़े हीरा कारोबारी मेहुल चौकसी और सोमैया के पुराने संबंध हैं और सवाल किया कि कहीं भाजपा नेता व्यवसायी के पास तो नहीं भाग गए हैं। राउत ने आरोप लगाया कि एक माफिया गिरोह वर्तमान में राजभवन के माध्यम से पुराने दस्तावेजों और ‘‘सोमैया के पक्ष में फर्जी सबूत’’ तैयार करने की कोशिश कर रहा है ताकि यह साबित किया जा सके कि कोई घोटाला नहीं हुआ। राज्यसभा सदस्य ने दावा किया कि सेवामुक्त किए जा चुके विमानवाहक पोत विक्रांत के संरक्षण के नाम पर हुए ‘‘घोटाले, धोखाधड़ी और धन के दुरुपयोग’’ का दायरा व्यापक था, और सोमैया, नील तथा उनके ‘‘माफिया गिरोह’’ ने पूरे महाराष्ट्र से और राज्य के बाहर से धन एकत्र किया।  

राउत ने यह भी कहा कि राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) प्रमुख शरद पवार के आवास पर हमले की साजिश दुर्भाग्यपूर्ण और अमानवीय है। उन्होंने कहा, ‘‘पवार साहब जैसे बड़े नेता के आवास पर हमले के साजिशकर्ताओं और मास्टरमाइंड को माफ नहीं किया जाना चाहिए।’’ शुक्रवार को शरद पवार के आवास के बाहर महाराष्ट्र राज्य सड़क परिवहन निगम (एमएसआरटीसी) के कर्मचारियों के एक समूह ने विरोध प्रदर्शन किया था।