BREAKING NEWS

दक्षिण भारत में अपना प्रचार करने के दौरान बोले थरूर - कांग्रेस को युवाओं की पार्टी बनाना मकसद ◾66 बच्चों की मौत के बाद सिरफ के खिलाफ चलाया गया वापस लेने का अभियान◾कौन हिंदू बिना मूंछ दाढ़ी रखता हैं, रामायण के इस्लामीकरण पर 'आदिपुरूष' डायरेक्टर को लीगल नोटिस ◾एनी एरनॉक्स ने जीता नोबेल पुरस्कार, बाधाओं को उजागर करने वाली लेखनी के लिए दिया गया पुरस्कार◾कोर्ट से जमानत लेकर फरार हुआ यूटयूबर बॉबी कटारिया, हाथ पर हाथ धरी रह गई उत्तराखंड पुलिस की तैयारी◾बाजवा के बाद पाक सेना का जनरल कौन ? सेना को लेकर इमरान पर बरसे ख्वाजा आसिफ ◾उत्तराखंड हिमस्खलन त्रासदी : खराब मौसम के चलते रेस्क्यू ऑपरेशन में देरी, 9 लाश बरामद, बाकी की तलाश जारी ◾सचिन पायलट की खामोशी ने बढ़ाया सियासी सस्पेंस, किसके 'हाथ' है राजस्थान?◾TRS में टूट की अटकलें ? राष्ट्रीय पार्टी की घोषणा कार्यक्रम में नहीं पहुंची बेटी के कविता, सियासी हलचल तेज ◾Mexico News : मेक्सिको के सिटी हॉल में अंधाधुंध फायरिंग, मेयर समेत 18 की मौत◾शिवसेना सिंबल पर चुनाव आयोग का फैसला जल्द, शिंदे गुट की टिकी निगाह ◾मोहन भागवत के बयान पर भड़के लालू , कहा - सज्जन बिन मांगा ज्ञान बांटने चले आते है ◾बिहार उपचुनाव : दोनों सीटों पर महिलांए तय करेंगी भाजपा का भविष्य, जेडीयू ने अनंत सिंह की पत्नी पर खेला दांव ◾Mulayam Singh Health Update : हालत में बही भी कोई सुधार नहीं, CRRPT सपोर्ट पर रखा ◾नागपुर में संघ के हेडक्वार्टर को घेरने की कोशिश, ईलाके में धारा144 लागू, ◾थाईलैंड : चाइल्ड सेंटर में सामूहिक गोलीबारी, 32 लोगों की मौत, मृतकों में 22 बच्चे शामिल◾छत्तीसगढ़ : बच्चा चोरी के शक में भीड़ ने की तीन साधुओं की बेरहमी से पिटाई◾महाराष्ट्र : सीएम शिंदे की रैली के आगे फीकी पड़ी उद्धव ठाकरे की दशहरा रैली ◾उत्तर प्रदेश : मैनपुरी में B.SC छात्रा की रेप के बाद हुई हत्या, बहन ने कहा-गला घोंटाकर मारा गया ◾लालू प्रसाद यादव को बड़ा झटका, RJD प्रदेश अध्यक्ष के पद से जगदानंद सिंह दे सकते हैं इस्तीफा ◾

मवेशी तस्करी मामला : अनुब्रत मंडल को बेड रेस्ट की सलाह देने वाले दो डॉक्टरों पर CBI ने कसा शिकंजा

पश्चिम बंगाल में पशु तस्करी मामले की जांच कर रही केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने अब बीरभूम जिले के बोलपुर सब-डिवीजन अस्पताल से जुड़े दो डॉक्टरों को सम्मन भेजा है। इन डॉक्टरों ने तृणमूल कांग्रेस नेता अनुब्रत मंडल को 14 दिन के बेड रेस्ट की चिकित्सा सलाह दी थी।

गिरफ्तारी से एक दिन पहले 14 दिन के बेड रेस्ट की सलाह की

पहले डॉक्टर बोलपुर सब-डिवीजन अस्पताल से जुड़े चंद्र अधिकारी हैं, जो कथित तौर पर गुरुवार की सुबह मंडल की गिरफ्तारी से एक दिन पहले उनके आवास पर गए थे और 14 दिन के बेड रेस्ट की सलाह जारी की थी। सीबीआई के अधिकारी उनसे उन परिस्थितियों के ब्योरे के बारे में पूछताछ करेंगे जिनके तहत उन्होंने चिकित्सा सलाह जारी की, जो सभी चिकित्सा नैतिकता का उल्लंघन करती है।

पूछताछ किए जाने वाले दूसरे डॉक्टर बोलपुर सब-डिवीजन अस्पताल के अधीक्षक डॉ बुद्धदेव मुर्मू हैं, जिन्होंने अधिकारी के दावे के अनुसार, मंडल के आवास पर जाने और सादे कागज पर बिस्तर पर आराम की सलाह जारी करने का निर्देश दिया।

क्या डॉक्टरों को किया गया था मजबूर 

मुर्मू ने मीडियाकर्मियों से कहा था कि वह अपने उच्च अधिकारियों के निर्देश के बाद ऐसा करने के लिए मजबूर हैं। सीबीआई सूत्रों ने कहा कि उनके अधिकारी उनसे सवाल करेंगे कि 'उच्च अधिकारियों' से उनका वास्तव में क्या मतलब था। सीबीआई के एक सहयोगी ने कहा, "उच्च अधिकारियों के हवाले से उनका मतलब उनके रिपोटिर्ंग अधिकारी से था, जो बीरभूम जिले में स्वास्थ्य के मुख्य चिकित्सा अधिकारी हैं, या राज्य के स्वास्थ्य विभाग मुख्यालय में किसी भी शीर्ष अधिकारी हैं।"

मंडल को हर 48 घंटे के अंतराल पर मेडिकल चेकअप

इस बीच, आसनसोल में सीबीआई की विशेष अदालत के निर्देश के अनुसार, चिकित्सा आपात स्थिति के मामले में, मंडल को कोलकाता के कमांड अस्पताल में इलाज करना पड़ेगा। सीबीआई के अधिकारी पहले ही कमांड अस्पताल के अधिकारियों के साथ बातचीत कर चुके हैं, जिन्होंने इस उद्देश्य के लिए तीन सदस्यीय मेडिकल बोर्ड का गठन किया है और अस्पताल के एक सुनसान कोने में एक अलग बिस्तर भी रखा है। कोर्ट के आदेश के मुताबिक, मंडल को हर 48 घंटे के अंतराल पर मेडिकल चेकअप के लिए कमांड अस्पताल ले जाया जाएगा।