आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने गुरुवार को जनता दल-सेक्युलर (जद-एस) के प्रमुख व पूर्व प्रधानमंत्री एच.डी. देवगौड़ा से मुलाकात कर वर्ष 2019 के आम चुनाव से पहले भाजपा के खिलाफ विपक्षी दलों की एकजुटता के मुद्दे पर चर्चा की। देवगौड़ा के आवास पर घंटाभर चली बैठक के बाद नायडू ने कहा, ‘पूर्व प्रधानमंत्री से और कर्नाटक के मुख्यमंत्री एच.डी. कुमारस्वामी से विपक्षी दलों की एकजुटता की दिशा में पहल किए जाने पर बात हुई।’

तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) प्रमुख ने कहा कि विपक्षी दल भारतीय लोकतंत्र को बचाने के लिए मिलकर काम करेंगे। उन्होंने कहा, ‘राजग शासन में सीबीआई, आरबीआई जैसे सभी स्वायत्त संस्थानों को बर्बाद कर दिया गया है।’ नायडू ने दावा किया कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार की नोटबंदी जैसी नीतियों ने देश की अर्थव्यवस्था को संकट में धकेल दिया।

उन्होंने कहा, ‘विपक्षी दलों की यह जवाबदेही है कि आपस में हाथ मिलाएं और लोकतंत्र को बचाएं।’ नायडू से इस मुलाकात से एक हफ्ता पहले 1 नवंबर को जद-एस नेताओं ने विपक्षी एकता के सिलसिले में नई दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की थी।

तेदेपा ने PM मोदी की ‘एनाकोंडा’ से तुलना की, BJP ने चंद्रबाबू को बताया “भ्रष्टाचार का राजा”