BREAKING NEWS

गूगल ने पेटीएम ऐप को ऐप स्टोर से हटाया, जानिये अब उपयोगकर्ताओं की जमा राशि का क्या होगा ◾दिल्ली में 5 अक्टूबर तक सभी छात्रों के लिए बंद रहेंगे स्कूल, केजरीवाल सरकार ने जारी किया आदेश◾चीन ने पहली बार माना, खुलासे में बताया गलवान झड़प में मारे गए थे PLA के जवान◾मंत्रियों एवं सांसदों के वेतन, भत्ते में कटौती संबंधी विधेयकों को राज्यसभा ने मंजूरी दी ◾पीएम मोदी ने कोसी रेल महासेतु राष्ट्र को किया समर्पित, MSP को लेकर विपक्ष पर लगाया झूठ बोलने का आरोप◾राज्यसभा में कांग्रेस का वार - बिना सोचे समझे लागू किया लॉकडाउन, 'कोरोना की जगह रोजगार समाप्त'◾विरोध के बाद बैकफुट पर आई योगी सरकार, गाजियाबाद में नहीं बनेगा डिटेंशन सेंटर◾चीन सीमा गतिरोध : LAC विवाद पर आज होगी सरकार की बड़ी बैठक, सेना के अधिकारी भी होंगे शामिल◾मोदी सरकार के कृषि बिल के विरोध में पंजाब के किसान ने खाया जहर, हालत गंभीर◾ड्रग्स केस : NCB की हिरासत में आया ड्रग तस्कर राहिल, अन्य पैडलरों से हैं संबंध◾कोविड-19 : देश में पॉजिटिव मामलों की संख्या 52 लाख के पार, 10 लाख से अधिक एक्टिव केस◾कोरोना वॉरियर्स के डाटा को लेकर राहुल का वार- थाली बजाने, दिया जलाने से ज्यादा जरूरी हैं उनकी सुरक्षा◾दुनियाभर में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 3 करोड़ के पार, अब तक साढ़े 9 लाख के करीब लोगों की मौत◾राष्ट्रपति ने हरसिमरत कौर बादल का इस्तीफा किया स्वीकार, इन्हें सौंपा गया अतिरिक्त प्रभार ◾महाराष्ट्र में कोरोना का विस्फोट जारी, संक्रमितों का आंकड़ा 11 लाख के पार, बीते 24 घंटे में 24,619 नए केस◾विपक्ष के भारी विरोध के बीच,लोकसभा में कृषि से जुड़े 2 अहम बिल हुए पास, वोटिंग से पहले विपक्ष ने किया वॉकआउट ◾J&K में पुलवामा जैसा हमला टला, J&K हाईवे के पास 52 किलो विस्फोट बरामद ◾राजधानी दिल्ली में कोरोना का कहर बरकरार, बीते 24 घंटे में 4,432 नए केस, संक्रमितों का आंकड़ा 2.34 लाख के पार ◾यूपी में कोरोना का कहर जारी, बीते 24 घंटे में 6,318 नए केस, 81 की मौत ◾कृषि अध्यादेश के विरोध में हरसिमरत कौर ने मोदी सरकार से दिया इस्तीफा, कहा- किसानों संग खड़े होने पर गर्व◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

CM रघुवर दास बोले- झारखण्ड मुक्ति मोर्चा अब हो गया बूढ़ा

दुमका : झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने रविवार को मुख्य विपक्षी झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) पर हमला बोलते हुए कहा कि झामुमो अब बूढ़ा मोर्चा हो गया है, जो न चल सकता है, न बोल सकता है, इसे जबरन चलाया जाता है। दुमका के काठीकुंड में एक चुनावी सभा में मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘आपने आदरणीय शिबू सोरेन जी को बहुत सम्मान दिया। लेकिन उस सम्मान की रक्षा गुरुजी ने नहीं की। 40 साल तक आपने गुरुजी को इस क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करने की जिम्मेवारी सौंपी।

अलग राज्य गठन के बाद बाप-बेटा दोनों झारखण्ड के मुख्यमंत्री बने। लेकिन इन्होंने संथाल परगना के लिए क्या किया? यहाँ की भाषा संस्कृति की रक्षा के लिए क्या किया, यहां के आदिवासियों के लिए क्या किया? कुछ नहीं। सिर्फ दुष्प्रचार कर गरीब आदिवासियों के सहारे मतपेटी भरी।’’ दास ने कहा कि कांग्रेस और झामुमो का यही रवैया रहा है। यही वजह है संथाल परगना पिछड़ा क्षेत्र में शामिल हो गया। झामुमो ने यहाँ के लोगों की सोच को शिथिल कर दिया। संथाल से बाबूलाल जी, हेमंत सोरेन जी और गुरुजी मुख्यमंत्री बने। लेकिन जितना उन लोगों ने संथाल परगना का दौरा नहीं किया होगा, उतना मैंने साढ़े 4 साल में संथाल का दौरा कर बदलाव लाने का प्रयास किया है।

लोकसभा चुनाव के छठे चरण में सात राज्यों की 59 सीटों पर वोटिंग समाप्त, 59.82% फीसदी मतदान

मुख्यमंत्री ने कहा कि अब गुरुजी को संथाल परगना के युवाओं को आशीर्वाद देना चाहिए। लेकिन वो फिर से उम्मीदवार बन गए हैं। झामुमो तो हमदर्द था संथाल परगना का, फिर इतने दिनों तक संथाल के गांव तक बिजली नहीं पहुंची। उन्होंने कहा, ‘‘आप उनलोगों से पूछे। मैं तो कहता हूं कहां से पैसा आया। नोट छापने का मशीन है क्या? फिर कैसे सीएनटी एवं एसपीटी अधिनियम का उल्लंघन कर 500 करोड़ की जमीन खरीद ली? आदिवासी का सबसे ज्यादा शोषण दिकू नहीं सोरेन परिवार ने किया। गोला के रहने वाले हेमंत सोरेन ने कैसे देवघर, दुमका, बरहेट एवं अन्य जगहों पर आदिवासियों की जमीन अपने नाम कर ली? आज ये ही आदिवासी के नेता बने हुए हैं।’’ मुख्यमंत्री ने कहा कि संथाल परगना में निवास करने वाले पहाड़िया समाज के युवाओं की समृद्धि के लिए अलग बटालियन का गठन हुआ।

वर्त्तमान में पहाड़िया समुदाय के 60 बच्चे रक्षा शक्ति यूनिवर्सिटी में पुलिस का प्रशिक्षण ले रहें हैं। सैंतालीस हजार पहाड़िया परिवारों को शुद्ध पेयजल पाइपलाइन के जरिये पहुंचाये जाने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। इस समुदाय के लोगों को डाकिया योजना के तहत चावल वितरित किया जा रहा है। आप खुद संथाल में बदलाव देख रहें होंगे। उन्होंने कहा कि सोचिये अगर यह कार्य भाजपा के सांसद और विधायक के बगैर हो सकता है तो जब भाजपा के सांसद होंगे तो कितना बदलाव आएगा। इसलिए मोदी जी को मजबूत करने के लिए आप सुनील सोरेन जी को अपना प्रतिनिधि चुनें।