कांग्रेस ने राज्यपाल को बताया कि भाजपा विधायक के निधन के बाद पर्रिकर सरकार बहुमत खो चुकी है। राज्यपाल मृदुला सिन्हा को चिट्ठी लिखकर राज्य में सरकार बनाने का दावा किया है। पार्टी ने कहा कि विधायक फ्रांसिस डिसूजा के निधन के बाद से विधानसभा में बीजेपी के 13 विधायक हैं. मनोहर पर्रिकर के नेतृत्व वाली सरकार लोगों का विश्वास खो चुकी है. ऐसे में जो पार्टी अल्पमत में है उसको सरकार में रहने का कोई हक नहीं है. हम चाहते हैं कि मौजूदा सरकार को बर्खास्त किया जाए और सबसे बड़ी पार्टी कांग्रेस को सरकार बनाने का मौका दिया जाए।

बता दें कि गोवा के पूर्व उप मुख्यमंत्री फ्रांसिस डिसूजा का हाल ही में निधन हो गया था. 64 साल के डिसूजा कैंसर से जूझ रहे थे. उनका अमेरिका में इलाज हो चुका था। वे गोवा राजीव कांग्रेस के उम्मीदवार के रूप में 1999 में गोवा विधानसभा के लिए चुने गए, और बाद में बीजेपी में शामिल हुए. वे 2002, 2007, 2012 और 2017 में भी विधानसभा के लिए चुने गए थे. 2012 में मनोहर पर्रिकर के नेतृत्व में बीजेपी की सरकार बनने पर डिसूजा को उप मुख्यमंत्री नियुक्त किया गया था। गौरतलब है कि 40 सदस्यीय गोवा विधानसभा में कांग्रेस सबसे बड़ा दल है और उसके पास 14 विधायक हैं। जबकि बीजेपी के पास 13 विधायक हैं। जिसे महाराष्ट्रवादी गोमंतक पार्टी के 3, गोवा फार्वड पार्टी के 3 और 3 निर्दलीय विधायकों का सर्मथन हासिल है।

बता दें कि राज्य के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर लंबे समय से बीमार चल रहे हैं और उनका गोवा, मुंबई और अमेरिका सहित कई जगहों के अस्पतालों में इलाज हो चुका है. वे दिल्ली के एम्स में अग्नाश्य संबंधी बीमारी का इलाज करा रहे थे. कांग्रेस इससे पहले भी राज्यपाल को ज्ञापन सौंपकर वैकल्पिक सरकार बनाने का न्यौता देने का अनुरोध कर चुकी है।