BREAKING NEWS

राजू श्रीवास्तव की हालत स्थिर, डॉक्टर उनका बेहतर इलाज कर रहे हैं : शिखा श्रीवास्तव◾कोलकाता में ममता से मिले पूर्व भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी◾महाराष्ट्र : रायगढ़ तट से मिली संदिग्ध नाव, AK-47 समेत कई हथियार बरामद ◾रोहिंग्याओं पर राजनीति! भाजपा ने कहा- केजरीवाल रोहिंग्याओं को ‘रेवड़ी’ बांट रहे, राष्ट्रीय सुरक्षा के समझौते को तैयार◾जयशंकर ने कहा- भारत स्वतंत्र, समावेशी व शांतिपूर्ण हिंद प्रशांत की परिकल्पना करता है◾गहलोत का भाजपा पर फूटा गुस्सा- देश को हिंदू राष्ट्र बनाया तो होगा पाकिस्तान जैसा हाल◾रायगढ़ में नाव को लेकर बवाल! फडणवीस बोले- खराब मौसम के कारण नाव अनियंत्रित होकर बहते हुए..... ◾ कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष ने कहा, कर्नाटक में कांग्रेस एकजुट, अकेले और सामूहिक नेतृत्व में लड़ेंगे विधानसभा चुनाव◾पता लगाएं किसने रोहिंग्या को फ्लैट में स्थानांतरित करने का फैसला किया? सिसोदिया ने गृहमंत्री को लिखा पत्र ◾रोहिंग्याओं को लेकर बवाल, थरूर बोले-मुद्दे पर सरकार में असमंजस देश के लिए कलंक◾Jagdeep Dhankhar: उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ से गुलाम नबी आजाद ने अहम मुलाकात की◾राहुल गांधी का भाजपा पर कटाक्ष, बोले- पीएम नरेंद्र मोदी को ऐसी राजनीति पर नहीं आती शर्म◾बीमा भारती के लेसी सिंह पर लगाए आरोपों पर भड़के नीतीश, कहा-अगर इधर-उधर का मन है तो अपना सोचें◾Maharashtra: अवैध शराब पर राज्य के गृह विभाग को वासुदेव के खिलाफ रिपोर्ट मिली, जल्द होगा निलंबित.....बोले फडणवीस ◾Gujarat News: AAP पार्टी का मास्टर प्लान! गुजरात विधानसभा चुनाव के लिए 9 उम्मीदवारों की दूसरी सूची सांझा की ◾नीतीश के एक और मंत्री विवादों में, कृषि मंत्री सुधाकर सिंह पर लगा भ्रष्टाचार का आरोप◾Defamation Case : मुंबई कोर्ट का आदेश- संजय राउत को वीडियो कांफ्रेंस के जरिए किया जाए पेश ◾फेक न्यूज पर मोदी सरकार का एक्शन, एक पाकिस्तानी समेत 8 YouTube चैनल किए ब्लॉक ◾बाहुबली मुख्तार अंसारी पर बड़ी कार्रवाई, दिल्ली और UP में कई ठिकानों पर ED की रेड◾पश्चिम बंगाल : टेरर कनेक्शन पर एक्शन, STF ने अलकायदा के 2 आतंकियों को किया गिरफ्तार◾

कांग्रेस ने की ‘बिटक्वाइन घोटाले’ की जांच के लिए SC की निगरानी में SIT के गठन की मांग

कर्नाटक में बिटक्वाइन घोटाले की जांच के लिए कांग्रेस ने सुप्रीम कोर्ट के एक न्यायाधीश की निगरानी में विशेष जांच दल (एसआईटी) के गठन की मांग की है। राज्य सरकार पर इस घोटाले पर पर्दा डालने का आरोप लगाते हुए कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह की ‘चुप्पी’ पर भी सवाल खड़े किए। कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला के आरोप पर फिलहाल बीजेपी या कर्नाटक सरकार की तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। 

कांग्रेस महासचिव और कर्नाटक प्रभारी सुरजेवाला ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘यह हिंदुस्तान का सबसे बड़ा बिटक्वाइन घोटाला है। इसके तार 14-15 मुल्कों से जुड़े हैं। इस मामले में हर चीज पर पर्दा डालने के षड्यंत्रकारी प्रयास किए गए। एनआईए और दूसरी एजेंसियों को अंधेरे में रखा गया। कर्नाटक की बीजेपी सरकार इस मामले पर पर्दा डालने की कोशिश कर रही है।’’

कर्नाटक सरकार ने HC को दिया आश्वासन, ऑनलाइन गेमिंग कंपनियों पर नहीं लगेगी रोक

उन्होंने दावा किया, ‘‘इस कथित हैकर ने मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट के समक्ष बयान दिया। उसने खुद माना कि उसने आठ बार हैकिंग की है और यह स्वीकार किया है कि उसने 5000 बिटक्वाइन चुराए, बहुत सारी जानकारी उसने नहीं दी है।’’ उन्होंने कुछ दस्तावेज जारी करते हुए दावा किया, ‘‘दो मौकों पर एक दिसंबर, 2020 और 14 अप्रैल, 2021 को बिटक्वाइन ट्रांसफर किए गए। इस अवधि में कथित हैकर श्रीकृष्णा बेंगलुरू पुलिस की हिरासत में था। इस पूरे मामले में कर्नाटक की सत्ता में मौजूद लोगों पर गंभीर सवाल खड़े होते हैं। प्रधानमंत्री और गृह मंत्री की चुप्पी पर सवाल खड़े होते हैं।’’ 

सुरजेवाला के मुताबिक, मुख्यमंत्री बसवराव बोम्मई ने पिछले दिनों प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात की और खुद कहा है कि उन्होंने इस बैठक के दौरान बिटक्वाइन घोटाले पर चर्चा की। उन्होंने कहा, ‘‘हम प्रधानमंत्री, गृह मंत्री, मुख्यमंत्री और जेपी नड्डा से पूछना चाहते हैं कि बिटक्वाइन घोटाले के पीछे कौन लोग हैं?’’ 

कांग्रेस नेता ने सवाल किया, ‘‘इंटरपोल को सूचित क्यों नहीं किया गया? कर्नाटक की बीजेपी सरकार नवंबर, 2020 में कथित हैकर की गिरफ्तारी होने के बाद पांच महीने चुप क्यों रही? मुख्यमंत्री की भूमिका और जिम्मेदारी क्या है क्योंकि इस पूरे घटनाक्रम के समय वह राज्य के गृह मंत्री थे? एनआईए, ईडी और दूसरी एजेंसियों तथा रिजर्व बैंक को सूचित क्यों नहीं किया गया?’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘इसकी जांच बीजेपी सरकार नहीं कर सकती। यह एक अंतरराष्ट्रीय बिटक्वाइन घोटाला है। इसकी जांच के लिए सुप्रीम कोर्ट के वर्तमान न्यायाधीश की निगरानी में एसआईटी गठित की जाए। इंटरपोटल, दूसरी संबंधित एजेंसियों और रिजर्व बैंक के प्रतिनिधियों को भी इस जांच में शामिल किया जाए।’’

उल्लेखनीय है कि करीब एक साल पहले बेंगलुरु में कथित हैकर श्रीकृष्णा उर्फ श्रीकी को गिरफ्तार किया गया था। उसके पास से करोड़ों रुपए के बिटक्वाइन जब्त किए गए हैं। श्रीकृष्णा पर सरकारी पोर्टलों की हैकिंग करने, ‘डार्कनेट’ के जरिए मादक पदार्थ मंगाने और क्रिप्टोकरेंसी के माध्यम से उसका भुगतान करने का भी आरोप है।