भोपाल : मध्यप्रदेश में मतदान के बाद से कांग्रेस की ओर से ईवीएम को लेकर उठाए जा रहे सवालों के बीच मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज कहा कि पार्टी अपनी आसन्न हार देखकर उसकी भूमिका तैयार कर रही है और लगातार आरोप लगा करके कांग्रेस सिर्फ ईवीएम ही नहीं पूरी लोकतांत्रिक व्यवस्था पर संदेह जता रही है। आज यहां मुख्यमंत्री निवास में संवाददाताओं से चर्चा के दौरान श्री चौहान ने कहा कि कांग्रेस नेताओं को निर्वाचन आयोग ही नहीं, बल्कि सरकारी अधिकारियों-कर्मचारियों, पुलिस और प्रशासन किसी पर भी भरोसा नहीं है। ईवीएम में छेड़खानी कोई‘गुड्डे-गुड़यि का खेल’नहीं है। ये तकनीकी तौर पर भी प्रमाणित है।

कांग्रेस सिर्फ ईवीएम ही नहीं, बल्कि पूरी लोकतांत्रिक व्यवस्था पर संदेह जता रही है, जबकि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सब पर भरोसा करती है। उन्होंने कहा कि अगर ईवीएम में गडबड़ होती तो बिहार, कर्नाटक और दिल्ली जैसे राज्यों, जिनमें गैर भाजपा दलों के पक्ष में परिणाम आए हैं, वहां भी नतीजे ये नहीं होते। कांग्रेस अपनी आसन्न हार को देखते हुए उसके कारणों की भूमिका तैयार कर रही है। प्रशासन पर दबाव बनाने की कोशिश कर रही है। पार्टी ने चुनाव को मजाक बनाने का भी प्रयास किया है।

श्री चौहान ने कहा कि चुनाव के दौरान निर्वाचन आयोग ने वास्तव में सख्ती भाजपा के साथ की है। उन्होंने एक उदाहरण के माध्यम से आयोग के व्यवहार को‘अमानवीय’बताते हुए कहा कि विदिशा में एक कार्यकर्ता रघुवीर दांगी के निधन के बाद वे उनके अंतिम संस्कार में जाना चाहते थे, लेकिन आयोग ने ये कहते हुए उन्हें अनुमति नहीं दी कि वे दूसरे विधानसभा क्षेत्र में नहीं जा सकते।

उन्होंने कहा कि इसके बाद भी भाजपा किसी प्रकार की कोई शिकायत नहीं कर रही। आज हुई मंत्रिमंडल की बैठक को न्यायसंगत ठहराते हुए श्री चौहान ने कहा कि भाजपा सरकार जनहितैषी सरकार है और जनता की समस्याओं को निपटाना सरकार की पूरी जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि इसलिए आज ये कदम उठाया गया और आगे भी ऐसा करते रहेंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज की बैठक में धान और अन्य फसलों के उपार्जन पर चर्चा हुई। सरकार लोकहित के मुद्दों पर बात करके अपनी जिम्मेदारी पूरी कर रही है। बैठक में कोई नीतिगत फैसले नहीं किए गए। प्रदेश में आज हुई मंत्रिमंडल की बैठक पर भी कांग्रेस ने आपत्ति जताई थी। राज्य में 28 नवंबर को मतदान के बाद अभी आदर्श आचार संहिता लगी हुई है। परिणाम 11 दिसंबर को आएंगे।