बिहार के किशनगंज से कांग्रेस सांसद मौलाना असरारुल हक कासमी का गुरुवार की रात हार्ट अटैक आने की वजह से मौत हो गई। उनके निधन से जिले में शोक की लहर है। वहीं बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सांसद मोहम्मद असरारुल हक कासमी के निधन पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए उनका अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ कराए जाने की घोषणा की।

नीतीश कुमार ने अपने शोक संदेश में कहा है कि सांसद मोहम्मद असरारुल हक कासमी राजनीति में अपनी सुचिता और सरल हृदय के लिए जाने जाते थे। सामाजिक कार्यो में उनकी गहरी अभिरुचि थी और वे अपने क्षेत्र में काफी लोकप्रिय थे। उन्होंने कहा कि किशनगंज में अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी की स्थापना में उनका अहम योगदान था।

Image result for सांसद मोहम्मद असरारुल हक कासमी

नीतीश कुमार ने कहा कि उनके निधन से सामाजिक और राजनीतिक क्षेत्र में अपूरणीय क्षति हुई है। उन्होंने कहा कि सांसद मोहम्मद असरारुल हक कासमी का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ होगा। उन्होंने दिवंगत आत्मा की शांति तथा उनके परिजनों एवं समर्थकों से दुख की इस घड़ में धैर्य धारण करने की शक्ति प्रदान करने की ईश्वर से प्रार्थना की है।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी अपनी पार्टी के लोकसभा सदस्य मौलाना असरारुल हक कासमी के निधन पर दुख जताया है। राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, ”किशनगंज से कांग्रेस पार्टी के लोकप्रिय सांसद, मौलाना असरारुल हक साहब, के निधन की ख़बर सुनकर बेहद दुःख हुआ।
उन्होंने कहा, ”मैं असरारुल हक साहब के परिजनों के प्रति अपनी गहरी शोक और संवेदना व्यक्त करता हूँ।”

गौरतलब है कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और बिहार के किशनगंज से सांसद कासमी का नयी दिल्ली में आज तड़के दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया।