BREAKING NEWS

PM मोदी को श्रीकृष्ण आयोग की रिपोर्ट पर कार्रवाई करनी चाहिए : ओवैसी ◾हिन्दू समाज पार्टी के नेता की दिनदहाड़े हत्या : SIT करेगी जांच◾कमलेश तिवारी हत्याकांड : राजनाथ ने डीजीपी, डीएम से आरोपियों को तत्काल पकड़ने को कहा◾सपा-बसपा ने सत्ता को बनाया अराजकता और भ्रष्टाचार का पर्याय : CM योगी◾FBI के 10 मोस्ट वांटेड की लिस्ट में भारत का भगोड़ा शामिल◾करतारपुर गलियारा : अमरिंदर सिंह ने 20 डॉलर का शुल्क न लेने की अपील की ◾प्रफुल्ल पटेल 12 घंटे तक चली पूछताछ के बाद ईडी कार्यालय से निकले ◾फडनवीस के नेतृत्व में फिर बनेगी गठबंधन सरकार : PM मोदी◾प्रधानमंत्री पद के लिए नरेंद्र मोदी के आसपास कोई भी नेता नहीं : सर्वेक्षण ◾मोदी का विपक्ष पर वार : कांग्रेस के नेतृत्व वाली पूर्ववर्ती सरकारों ने केवल घोटालों की उपज काटी है◾ISIS के निशाने पर थे कमलेश तिवारी, सूरत से निकला ये कनेक्शन◾अमित शाह ने राहुल गांधी से पूछा, आदिवासियों के लिए आपके परिवार ने क्या किया ◾पायलट ने निकाय प्रमुखों के चुनाव संबंधी फैसले पर खड़े किये सवाल ◾राम मंदिर पर हिंदुओं के पक्ष में निर्णय की आशा : RSS ◾TOP 20 NEWS 18 October : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾FATF ने पाक को ‘ग्रे सूची’ में कायम रखा, कार्रवाई की चेतावनी दी ◾दिल्ली विधानसभा अध्यक्ष रामनिवास गोयल को कोर्ट ने सुनाई 6 महीने की सजा, मिली जमानत◾महेंद्रगढ़ रैली में राहुल का प्रधानमंत्री पर वार, बोले-मोदी को नहीं है अर्थव्यवस्था की कोई समझ◾मोदी को डर, 'घेराबंदी' हटने पर कश्मीर में होगा खूनखराबा : इमरान खान◾हिसार में बोले PM मोदी-कांग्रेस ने हरियाणा विधानसभा चुनाव में पहले ही मान ली है हार◾

अन्य राज्य

बल्ला कांड के आरोपी विधायक आकाश विजयवर्गीय के कार्यालय के सामने फायरिंग से विवाद

इंदौर नगर निगम के अधिकारी को क्रिकेट के बल्ले से पीटने के बहुचर्चित मामले और एक अन्य प्रकरण में जमानत मिलने पर रविवार सुबह जिला जेल से छूटने के बाद स्थानीय भाजपा विधायक आकाश विजयवर्गीय सोशल मीडिया पर वायरल हुए एक वीडियो के कारण नये विवाद में घिर गये।

इस वायरल वीडियो में नजर आ रहा है कि विजयवर्गीय के एबी रोड स्थित कार्यालय के सामने कई लोग भाजपा के झंडे हाथ में लेकर ढोल की थाप पर थिरक रहे हैं। इस दौरान एक व्यक्ति बंदूक से लगातार पांच बार हवा में हर्ष फायरिंग करता है। 

मीडिया में आई कुछ खबरों में इस वीडियो को शनिवार शाम का बताया जा रहा है जब भोपाल की एक विशेष अदालत ने बल्ला कांड समेत दो मामलों में विजयवर्गीय की जमानत अर्जी मंजूर कर ली थी। क्षेत्र क्रमांक-तीन के भाजपा विधायक के जिस दफ्तर के सामने हर्ष फायर किये गये वह पार्टी के शहर कार्यालय से सटी वाणिज्यिक इमारत में स्थित है।

बहरहाल, भाजपा ने इस विवाद से पल्ला झाड़ लिया है। भाजपा की शहर इकाई के मीडिया प्रभारी देवकीनंदन तिवारी ने कहा, "विजयवर्गीय के कार्यालय के सामने हर्ष फायर के मामले से भाजपा या भाजपा के किसी भी कार्यकर्ता का कोई संबंध नहीं है।" 

इस बीच मध्यप्रदेश में सत्तारूढ़ कांग्रेस ने सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो के आधार पर पुलिस से मांग की है कि विजयवर्गीय के कार्यालय के सामने उनके कथित समर्थकों द्वारा की गई हर्ष फायरिंग को लेकर आपराधिक मामला दर्ज किया जाये।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता नीलाभ शुक्ला ने कहा, "सार्वजनिक स्थान पर जुटी भीड़ के पास इस तरह हवाई फायर करना कानून का सरेआम उल्लंघन है। हमारी मांग है कि इस मामले में पुलिस प्राथमिकी दर्ज करे और आरोपियों की पहचान कर उन्हें गिरफ्तार करे।" 

संयोगितागंज पुलिस थाने के प्रभारी सुबोध श्रोत्रिय ने कहा कि हर्ष फायर का यह वीडियो रविवार का नहीं है और यह वीडियो पुराना प्रतीत हो रहा है, हालांकि पुलिस इसके बारे में पता लगा रही है ।