BREAKING NEWS

Haryana Election: 19 जून को होंगे नगर निकाय के चुनाव, यहां देखें- कब होगी मतगणना◾ज्ञानवापी के बाद आई ईदगाह मस्जिद की बारी? हिंदू महासभा ने किया यह बड़ा दावा, याचिका दाखिल ◾ राजधानी में राहत के साथ आफत लेकर आई बारिश, खराब मौसम के चलते दिल्ली आ रही 19 फ्लाइट हुई डायवर्ट◾नेताओं की ‘बेवकूफी’ एक्सेलरेटर पर और पार्टी का वजूद वेंटिलेटर पर.. नकवी ने साधा कांग्रेस पर निशाना! ◾वाराणसी : गंगा में डूबी नाव, 2 शव बरामद, 2 की तलाश जारी, कुल 6 लोग थे सवार◾ BJP मुस्लिमों को रिएक्ट करने पर कर रही है मजबूर ताकि गुजरात जैसी घटना दोहरा सके: महबूबा मुफ्ती◾ज्ञानवापी मामले में अगली सुनवाई को लेकर कल आएगा वाराणसी कोर्ट का फैसला◾ पटरियों के सहारे पंजाब को निशाना बना रहा ISI ! इंटेलिजेंस एजेंसियों ने किया PAK का पर्दाफाश◾जापानी कंपनियों के टॉप 4 बिजनेस लीडर्स से PM मोदी ने की मुलाकात, भारत में बिजनेस और इन्वेस्टमेंट की दी जानकारी ◾टिकैत ब्रदर्स पर टुटा मुश्किलों का पहाड़, BKU में बगावत के बाद लगा यह आरोप... ◾बाइडन चीन पर भड़के, कहा- ड्रैगन ने ताइवन पर हमला किया तो उसे बख्शा नहीं जाएगा, जानें पूरा मामला◾मानहानि मामले में किरीट सोमैया की पत्नी ने संजय राउत को भेजा 100 करोड़ का नोटिस◾बिहार की सियासत में बहुत नाजुक हैं अगले 72 घंटे, CM नीतीश ने जारी किया यह फरमान, जानें पूरा मामला ◾UP विधानसभा : बजट सत्र के पहले दिन SP का जोरदार हंगामा, CM योगी बोले-हर विषय पर चर्चा के लिए तैयार◾बिहार के पूर्णिया में बड़ा सड़क हादसा, ट्रक पलटने से 8 मजदूरों की मौत, आठ घायल◾संभाजी राजे को राज्यसभा का टिकट देगी शिवसेना? संजय राउत ने दिया ये जवाब◾जेल की रोटी खाने से नवजोत सिंह सिद्धू ने किया इंकार... अब पहुंचे अस्पताल, जानें क्या है पूरा मामला ◾ज्ञानवापी को लेकर SC में एक और याचिका, वाराणसी कोर्ट में भी आज होगी सुनवाई ◾SP की बैठक से नदारद आजम.. लखनऊ में ली MLA पद की शपथ, अखिलेश के लिए कोई बड़ा संदेश? ◾Share Market : तेजी के साथ हुआ शेयर मार्किट चंद मिनटों में हुआ डाउन, रेड जोन में गए Nifty-Sensex◾

माकपा नेता वृंदा करात बोले- मोदी सरकार लोगों के खिलाफ सीएए, एनआरसी, एनपीआर के त्रिशूल का इस्तेमाल कर रही है

माकपा नेता वृंदा करात ने शुक्रवार को कहा कि केन्द्र सरकार संशोधित नागरिकता कानून, राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) को लोगों पर हमले के लिए त्रिशूल के तौर पर इस्तेमाल कर रही है। 

उन्होंने सरकार के उस दावे को भी खारिज किया कि संशोधित नागरिकता कानून का एनआरसी और एनपीआर से कोई लेना-देना नहीं है। करात ने यहां आयोजित एक कार्यक्रम में कहा विपक्षी पार्टियों का आरोप है कि एनपीआर देशव्यापी एनआरसी की दिशा में एक कदम है। 

करात ने कहा, सरकार देश के लोगों के दिल पर चोट करने के लिए सीएए, एनआरसी और एनपीआर का इस्तेमाल त्रिशूल के रूप में कर रही है। सरकार संविधान का पालन नहीं कर रही। उसे देश में महिलाओं की हालत का अंदाजा नहीं है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह को झूठ की मशीन करार दिया।