BREAKING NEWS

CM शिंदे का विपक्ष पर प्रहार, कहा- महाराष्ट्र सरकार के अच्छे काम को हजम नहीं कर पा रहे विरोधी◾सीमा विवाद से जुड़े CM बोम्मई के बयान को लेकर राकांपा ने महाराष्ट्र सरकार, केंद्र और भाजपा को लिया आड़े हाथ ◾दिल्ली की अदालत ने कुख्यात अपराधी लॉरेंस बिश्नोई की NIA हिरासत चार दिन के लिए बढ़ाई◾राजस्थान में कानून व्यवस्था ध्वस्त, भाजपा ने सीकर हत्याकांड को लेकर गहलोत सरकार पर साधा निशाना◾नकवी ने विपक्षी दलों पर कसा तंज, बोले- भाजपा राज में हुए विकास से वोटों के स्वयंभू स्वामी दिवालिया हो चुके ◾भारत जोड़ो यात्रा बना बयानबाजी का प्लेटफॉर्म, राहुल ने ईंधन के दाम को लेकर प्रधानमंत्री पर साधा निशाना ◾Pak नहीं आ रहा अपनी करतूतों से बाज, पंजाब के फाजिल्का में 25 kg हेरोइन, पिस्तौल एवं गोलाबारूद बरामद◾भूकंप के तेज झटकों से कांपा इंडोनेशिया का मुख्य द्वीप, रिक्टर स्केल पर 5.7 रही तीव्रता ◾UP News: सपा विधायक नाहिद हसन को मिली राहत, चित्रकूट जेल से हुए रिहा◾एमसीडी चुनाव में बीजेपी और केजरीवाल की तरफ से किए गए बड़े वादे, क्या जनता करेगी विश्वास?◾मां-बाप की मौत का बदला लेने के लिए बेटी बनी कातिल◾हाई अलर्ट पर राष्ट्रीय राजधानी, MCD चुनाव के लिए कड़े सुरक्षा इंतजाम◾Bharat Jodo Yatra: गहलोत-पायलट विवाद के बीच रविवार को राजस्थान पहुंचेगी राहुल की यात्रा, तैयारियों में जुटे नेता ◾MCD चुनाव में AIMIM की एंट्री से बिगड़ जाएगा समीकरण, ओवैसी के 15 उम्मीदवार दे रहे टक्कर ◾यूनियन कार्बाइड की ‘गलती और लापरवाही’ से भोपाल में ‘अविस्मरणीय’ आपदा हुई : CM शिवराज◾Maharashtra: शिंदे सरकार को झटका, हाई कोर्ट ने फैसले पर लगाई रोक, जानें पूरा मामला ◾कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा- मेरी टिप्पणी का दुरुपयोग कर रही है भाजपा◾मथुरा : शौच के लिए गई दलित नाबालिग की गैंगरेप के बाद हत्या, पुलिस ने गिरफ्तार किए दो आरोपी◾UP News: आजम खान की बढ़ी मुश्किलें, 'भड़काऊ' शब्दों का इस्तेमाल करने के आरोप में एक और केस दर्ज ◾Tamil Nadu: किसानों को मिली राहत, बैंक ऑफ बड़ौदा ने दिए 134 करोड़ रुपये के कृषि कर्ज◾

Gujarat liquor tragedy : गुजरात शराब त्रासदी में मरने वालों की संख्या 33 हुई, सरकार ने जांच समिति गठित की

गुजरात के बोटाद जिले में कथित तौर पर जहरीली शराब पीने से मरने वालों की संख्या बढ़कर 33 हो गई है। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने मंगलवार को यह जानकारी दी।

पुलिस ने बताया कि प्राथमिक जांच में सामने आया है कि बोटाद के अलग-अलग गांवों के कुछ छोटे शराब तस्करों ने ‘मिथाइल अल्कोहल’ (मेथेनॉल) में पानी मिलाकर नकली शराब बनाई थी, जो बेहद जहरीली होती है। वे 20 रुपये ‘पाउच’ के दाम पर उसे गांववालों को बेचते थे। मामले में प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है।

गांधीनगर में राज्य निगरानी प्रकोष्ठ से संबद्ध पुलिस अधिकारी ने कहा, ''जहरीली शराब पीने के बाद अब तक कुल 33 लोगों की मौत हो चुकी है। बोटाद में 24 और पड़ोसी अहमदाबाद में नौ लोगों की मौत हुई है।''

इससे पहले दोपहर के समय गुजरात के पुलिस महानिदेशक आशीष भाटिया ने गांधीनगर में पत्रकारों को बताया कि 14 लोगों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 302, 328 और 120-बी के तहत तीन प्राथमिकी दर्ज की गई हैं और उनमें से अधिकतर लोगों को हिरासत में ले लिया गया है।

मामला सोमवार सुबह तब सामने आया, जब बोटाद के रोजिड गांव और आसपास के अन्य गांवों में रहने वाले कुछ लोगों को उनकी हालत बिगड़ने पर बरवाला क्षेत्र और बोटाद कस्बों के सरकारी अस्पतालों में भर्ती कराया गया।

भाटिया ने बताया था कि जहरीली शराब पीने से अभी तक 28 लोगों की मौत हो चुकी है। उनमें से 22 बोटाद जिले के विभिन्न गांवों के निवासी थे, जबकि छह लोग पड़ोसी अहमदाबाद जिले के तीन गांवों के रहने वाले थे। इनके अलावा 45 से अधिक लोगों का भावनगर, बोटाद और अहमदाबाद के अस्पतालों में इलाज चल रहा है।

भाटिया ने कहा, ‘‘ फोरेंसिक विश्लेषण में पता चला है कि पीड़ितों ने ‘मिथाइल अल्कोहल’ पी थी। हमने हत्या और अन्य अपराधों के आरोप में 14 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है और अधिकतर आरोपियों को हिरासत में ले लिया गया है।’’

गुजरात आतंकवाद रोधी दस्ता (एटीएस) और अहमदाबाद अपराध शाखा भी जांच में शामिल है।

इस बीच, राज्य सरकार ने एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा कि गुजरात के गृह विभाग ने मामले की विस्तृत जांच के लिए भारतीय पुलिस सेवा के वरिष्ठ अधिकारी सुभाष त्रिवेदी की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय एक समिति का गठन किया है। समिति तीन दिन में अपनी रिपोर्ट सौंपेगी।

समिति के अन्य दो सदस्य मद्य निषेध एवं उत्पाद शुल्क निदेशक एम. ए. गांधी और गुजरात फोरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला निदेशक एच. पी. सांघवी हैं।

भाटिया ने बताया कि अब तक पुलिस की जांच में सामने आया है कि जयेश उर्फ राजू ने अहमदाबाद में एक गोदाम से 600 लीटर ‘मिथाइल अल्कोहल’ चोरी किया था। राजू उस गोदाम में बतौर प्रबंधक काम करता था। उसने बोटाद में रहने वाले अपने एक रिश्ते के भाई संजय को 25 जुलाई को इसे 40 हजार रुपये में बेच दिया था।

अधिकारी ने कहा, ‘‘ यह जानते हुए भी कि यह एक औद्योगिक विलायक (सॉल्वेंट) है, संजय ने बोटाद के विभिन्न गांवों के मादक पदार्थ तस्करों को इसे बेचा। इन मादक पदार्थ तस्करों ने इस रसायन को पानी में मिलाकर देशी शराब के तौर लोगों को बेचा। इससे 28 लोगों की मौत हुई।’’

वहीं, गुजरात के दौरे पर गए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को आरोप लगाया था कि राज्य में शराबबंदी लागू है फिर भी अवैध शराब बेची जा रही है।

राज्य में इस साल के आखिर में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं।

उन्होंने आरोप लगाया कि अवैध शराब बेचने वाले लोग राजनीतिक संरक्षण का आनंद ले रहे हैं और उन्होंने शराब की बिक्री से अर्जित धन की जांच की मांग भी की।

केजरीवाल ने मंगलवार को कहा कि वह भावनगर के एक अस्पताल का दौरा करेंगे, जहां जहरीली शराब पीने के बाद बीमार हुए कुछ लोगों को भर्ती कराया गया था।