BREAKING NEWS

भ्रष्टाचार के मामले में 180 देशों में 80वें स्थान पर भारत◾अमित शाह ने केजरीवाल पर लगाया दिल्ली में दंगा भड़काने का आरोप ◾मैंने अपना भगवा रंग नहीं बदला है : उद्धव ठाकरे◾राज की मनसे ने अपनाया भगवा झंडा, घुसपैठियों को बाहर करने के लिए मोदी सरकार को समर्थन◾भाजपा नेता ने मोदी को चेताया, देश बढ़ रहा है दूसरे विभाजन की तरफ◾पासवान से मिला ब्राजील का प्रतिनिधिमंडल, एथेनॉल प्रौद्योगिकी साझेदारी पर बातचीत◾हिंदू समाज में साधु-संतों को ऐसी भाषा शोभा नहीं देती : अखिलेश◾पदाधिकारी पार्टी के खिलाफ सोशल मीडिया पर टिप्पणी करने से बचें : ठाकरे◾दिल्ली की जनता तय करे, कर्मठ सरकार चाहिए या धरना सरकार चाहिए : शाह◾वन्य क्षेत्रों में अनधिकृत कॉलोनियों को नियमित नहीं किया जा सकता : दिल्ली सरकार◾मानसिक दिवालियेपन से गुजर रहा है कांग्रेस नेतृत्व : नड्डा◾निर्भया के दोषियों से पूछा : आखिरी बार अपने-अपने परिवारों से कब मिलना चाहेंगे , तो नहीं दिया कोई जवाब !◾विपक्ष की तुलना पाकिस्तान से करना भारत की अस्मिता के खिलाफ : कांग्रेस◾ब्राजील के राष्ट्रपति 24-27 जनवरी तक भारत यात्रा पर रहेंगे, गणतंत्र दिवस परेड में होंगे मुख्य अतिथि◾उत्तर प्रदेश : किसानों के मुद्दे पर सड़क पर उतरेगी कांग्रेस ◾कश्मीर मुद्दे पर विदेश मंत्रालय ने कहा-किसी तीसरे पक्ष की कोई भूमिका नहीं◾निर्भया मामले में आरोपियों के खिलाफ डेथ वारंट जारी करने वाले जज का हुआ ट्रांसफर◾CM नीतीश की चेतावनी पर पवन वर्मा बोले- मुझे चिट्ठी का जवाब नहीं मिला◾भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा बोले- देश हित में लिए प्रधानमंत्री के फैसलों से देश में नई ऊर्जा एवं उत्साह पैदा हुआ◾नेताजी ने हिंदू महासभा की विभाजनकारी राजनीति का विरोध किया था : ममता बनर्जी◾

धनंजय मुंडे ने महाराष्ट्र सरकार पर साधा निशाना, कहा- राहत सामग्री वितरित करने के नाम पर कर रही हैं अपना प्रचार

महाराष्ट्र के राकांपा नेता धनंजय मुंडे ने शनिवार को आरोप लगाया कि प्रदेश सरकार सांगली जिले में बाढ़ पीड़ितों को राहत सामग्री वितरित करने के नाम पर अपना प्रचार कर रही हैं। उन्होंने राज्य सरकार पर ‘स्वार्थी’ होने का भी आरोप लगाया। मुंडे ने ऐसी तस्वीरें पोस्ट की हैं जिसमें बाढ़ पीड़ितों को वितरित करने के लिए चावल और गेंहू से भरी प्लास्टिक की थैलियों पर मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और स्थानीय भाजपा विधायक सुरेश हलवांकर की तस्वीरें है। 

इन थैलियों पर लगे स्टीकर पर लिखा है, ‘‘ बाढ़ प्रभावित परिवारों (अगस्त 2019) के लिए मुफ्त में गेंहू और चावल वितरण।’’ विधान परिषद में नेता प्रतिपक्ष मुंडे ने ट्वीट किया, ‘‘ सरकार की प्राथमिकता क्या है? स्टीकर लगाना। दो दिनों तक बाढ़ प्रभावितों को मदद नहीं दी गई क्योंकि स्टीकर छपवाने थे। 

केरल में बाढ़ से हाहाकार, अब तक 42 लोगों की मौत

बच्चे सड़क पर हैं, लेकिन ये लोग स्टीकर पर अपनी तस्वीर छपवाने में लगे हैं। आप लोगों को केवल दिखावे के लिए भूखे मार देंगे।’’ वहीं,इचलकरंजी सीट से विधायक हलवांकर ने स्टीकरों के इस्तेमाल का बचाव करते हुए कहा कि यह बाढ़ पीड़ितों को बताने के लिए था कि सरकार उन्हें मुफ्त में अनाज मुहैया करा रही है। उ

न्होंने मुंडे के आरोपों को गलत करार देते हुए कहा कि सरकार तेजी से बाढ़ प्रभावितों को मदद मुहैया करा रही है। हलवांकर ने कहा, ‘‘लोग बाढ़ में सब कुछ गंवा चुके हैं। ऐसे में मुख्यमंत्री ने क्रांतिकारी कदम उठाते हुए लोगों को खाद्य पदार्थ मुहैया कराने का फैसला किया जो 15 दिन की जरूरतों के लिए काफी है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘स्टीकर इसलिए लगाये गये है ताकि लोगों को पता चल सके कि खाद्य पदार्थ मुफ्त में बांटे जा रहे है और कोई उसे लूट नहीं सके।’’