BREAKING NEWS

LIVE : ताजमहल का दीदार करके बोले राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प- ताज ने हमें प्रेरित और चकित किया◾जाफराबाद में CAA को लेकर पथराव, गाड़ियों में लगाई गई आग, एक पुलिसकर्मी की मौत◾मोटेरा स्टेडियम में दिखी ट्रंप और मोदी की दोस्ती, दोनों दिग्गज ने एक-दूसरे की तारीफ में पढ़ें कसीदे ◾दिल्ली के मौजपुर में लगातार दूसरे दिन CAA समर्थक एवं विरोधी समूहों के बीच झड़प ◾CM केजरीवाल और मनीष सिसोदिया ने दिल्ली विधानसभा की सदस्यता की शपथ ली◾ट्रम्प के स्वागत में अहमदाबाद तैयार, छाए भारत-अमेरिकी संबंधों वाले इश्तेहार◾दिल्ली और झारखंड में BJP विधानमंडल दल के नेता का आज होगा ऐलान ◾जाफराबाद में CAA को लेकर हुई पत्थरबाजी के बाद इलाके में तनाव, मेट्रो स्टेशन बंद◾Modi सरकार ने पद्म सम्मान के लिये ‘गुमनाम’ चेहरे खोजे : केंद्रीय मंत्री◾अब कुछ ही घंटो में भारत यात्रा के लिए अहमदाबाद पहुंचेंगे अमेरिकी राष्ट्रपति Trump , मोदी को बताया दोस्त◾मेलानिया का स्वागत करके खुशी होती, हमने अमेरिकी दूतावास की चिंताओं का किया सम्मान : मनीष सिसोदिया◾Trump की भारत यात्रा से किसी महत्वपूर्ण परिणाम के सकारात्मक संकेत नहीं हैं : कांग्रेस◾US राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भारत के लिए रवाना, कल सुबह 11.55 बजे पहुंचेंगे अहमदाबाद, जानिए ! पूरा कार्यक्रम◾अमेरिकी दूतावास की सफाई - स्कूल में मेलानिया के साथ CM केजरीवाल की मौजूदगी से कोई आपत्ति नहीं◾ट्रंप की भारत यात्रा को लेकर PM मोदी बोले - अमेरिकी राष्ट्रपति के स्वागत को लेकर हिंदुस्तान उत्सुक◾ट्रम्प की थाली में परोसे जाएंगे गुजराती व्यंजन, सूची में खमण भी शामिल ◾नमस्ते ट्रंप : एयर इंडिया ने जारी की एडवाइजरी - यात्रियों को अहमदाबाद हवाईअड्डा जल्द पहुंचने की जरूरत◾भारत 24वां देश जिसके दौरे पर आ रहे हैं अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप◾डिजिटल कंपनियों पर वैश्विक कर व्यवस्था समावेशी हो: सीतारमण ◾प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के लाभार्थियों के खाते में भेजे गए 50850 करोड़ रुपये◾

दिग्विजय का कमलनाथ को पत्र, कहा, व्यापमं के मुख्य आरोपियों को सजा दिलाएं

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्जिवय सिंह ने मुख्यमंत्री कमलनाथ को पत्र लिखकर व्यावसायिक परीक्षा मंडल (व्यापमं) घोटाले के मुख्य आरोपियों को कानून के दायरे में लाकर सजा दिलाने के लिए आवश्यक पहल करने की मांग की है। दिग्जिवय सिंह ने सोमवार को मुख्यमंत्री कमलनाथ को लिखे पत्र में कहा है, "वर्ष 2013 में चिकित्सा महाविद्यालयों की प्रवेश परीक्षा के दौरान व्यापम घोटाला उजागर हुआ। 

इस घोटाले को सिर्फ मेडिकल परीक्षा तक सीमित रखा गया। तत्कालीन सरकार ने विद्यार्थियों को मोहरा बनाया और मामले में सिर्फ छात्रों व युवाओं को आरोपी बनाया, जबकि इस घोटाले को अंजाम देने वाले मुख्य आरोपियों को बचाया गया।"पूर्व मुख्यमंत्री सिंह ने आगे लिखा, "पीएमटी प्रवेश परीक्षा के घोटाले में 1450 छात्रों के खिलाफ मामले दर्ज किए गए और उनके परिजनों को भी इस बाबत आरोपी बनाया गया। लगभग तीन हजार लोगों को कुल मिलाकर आरोपी बनाया। यह घोटाला पीएमटी परीक्षा तक सीमित नहीं है, जबकि नौकरी में भर्ती के लिए व्यापमं द्वारा आयोजित परीक्षाओं में भी घोटाला हुआ। वर्तमान में फर्जी तरीके से चयनित लोग नौकारी कर रहे हैं।" 

सिंह ने हरियाणा में हुए शिक्षक भर्ती घोटाले का उदाहरण देते हुए कहा, "वहां घोटाला सामने आने पर अभ्यार्थियों को सरकारी गवाह बनाया गया था जिसकी वजह से मुख्य आरोपियों को सजा मिली, जबकि मध्य प्रदेश में अभ्यर्थियों को आरोपी बना दिया गया।"पूर्व मुख्यमंत्री ने व्यापमं के मुख्य आरोपियों को कानून के दायरे में लाकर सजा दिलाने और निर्दोष छात्र-छात्राओं को न्याय दिलाने के लिए मुख्यमंत्री कमलनाथ से आवश्यक पहल का अनुरोध किया है। 

व्यापमं में पहली बार गड़बड़ी का बड़ा खुलासा सात जुलाई, 2013 को पीएमटी परीक्षा के दौरान तब हुआ, जब एक गिरोह इंदौर की अपराध शाखा की गिरफ्त में आया। यह गिरोह पीएमटी परीक्षा में फर्जी विद्याíथयों को बैठाने का काम करता था। मुख्यमंत्री चौहान ने इस मामले को अगस्त 2013 में एसटीएफ को सौंप दिया। उच्च न्यायालय ने मामले का संज्ञान लेकर सेवानिवृत्त न्यायाधीश, न्यायमूíत चंद्रेश भूषण की अयक्षता में अप्रैल 2014 में एसआईटी गठित की, जिसकी देखरेख में एसटीएफ जांच करता रहा। नौ जुलाई, 2015 को मामला सीबीआई को सौंपने का फैसला हुआ और 15 जुलाई से सीबीआई ने जांच शुरू की। 

सरकार के पूर्व मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा, उनके ओएसडी रहे ओ़ पी़ शुक्ला, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता सुधीर शर्मा, राज्यपाल के ओएसडी रहे धनंजय यादव, व्यापमं के नियंत्रक रहे पंकज त्रिवेदी, कम्प्यूटर एनालिस्ट नितिन मोहिद्रा मामले में जेल जा चुके हैं। गौरतलब है कि इस मामले में दो हजार से अधिक लोग जेल जा चुके हैं और चार सौ से अधिक अब भी फरार हैं। वहीं 45 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है।