BREAKING NEWS

ट्रंप की मुम्बई में बास्केटबाल प्रतियोगिता देखने आने की इच्छा , मोदी ने दिया न्योता ◾'Howdy Modi' कार्यक्रम : मोदी ने आतंकवाद के खिलाफ निर्णायक लड़ाई का किया आह्वान◾'Howdy Modi' कार्यक्रम : PM मोदी ने 50 हजार से अधिक भारतीय अमेरिकी समुदाय को किया संबोधित◾'Howdy Modi' कार्यक्रम : अब की बार, ट्रंप सरकार - PM मोदी◾'Howdy Modi' कार्यक्रम : हमने आर्टिकल 370 को फेयरवेल दे दिया - PM मोदी◾Howdy Modi : मोदी ने ट्रंप को बताया विशेष शख्सियत, उनके योगदान की सराहना की ◾अमित शाह ने कश्मीर मुद्दे को लेकर कांग्रेस पर साधा निशाना◾ट्रंप-मोदी ने कहा, टेक्सास मे आज का दिन बेहद अहम◾Howdy Modi : मोदी-मोदी के नारों से गूंज उठा NRG स्टेडियम◾हम भारत की ऊर्जा सुरक्षा जरूरतों को पूरा करने को प्रतिबद्ध : सऊदी अरब ◾अनुच्छेद 370 समाप्त होने से कश्मीर के जनजातीयों को मिलेगा आरक्षण का लाभ : रविशंकर◾भारतीय समय अनुसार रात 9 बजे 'हाउडी मोदी' में प्रवासी भारतीयों को संबोधित करेंगे PM मोदी ◾कश्मीरी पंडितों का मोदी को पुरजोर समर्थन, सिखों ने कहा ‘शेर’◾TOP 20 NEWS 22 September : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾शिवसेना का नाम लिए बिना बोले अमित शाह-महाराष्ट्र में NDA को मिलेगा तीन चौथाई बहुमत ◾पटना से पाक को राजनाथ की चेतावनी, कहा-1965 और 1971 की गलतियों को न दोहराए◾महाराष्ट्र में अमित शाह ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के लिए नेहरू को ठहराया जिम्मेदार◾राज बब्बर बोले-अन्य विपक्षी पार्टियां डरी हुई हैं केवल कांग्रेस ही बीजेपी को टक्कर दे सकती है◾अक्षरधाम मंदिर के पास पुलिस वाहन पर 4 अज्ञात बदमाशों ने की गोलीबारी◾मॉब लिंचिंग की घटनाओं को लेकर थरूर ने केंद्र पर उठाए सवाल, बोले-पिछले 6 वर्षों में क्या देखा◾

अन्य राज्य

दिग्विजय का कमलनाथ को पत्र, कहा, व्यापमं के मुख्य आरोपियों को सजा दिलाएं

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्जिवय सिंह ने मुख्यमंत्री कमलनाथ को पत्र लिखकर व्यावसायिक परीक्षा मंडल (व्यापमं) घोटाले के मुख्य आरोपियों को कानून के दायरे में लाकर सजा दिलाने के लिए आवश्यक पहल करने की मांग की है। दिग्जिवय सिंह ने सोमवार को मुख्यमंत्री कमलनाथ को लिखे पत्र में कहा है, "वर्ष 2013 में चिकित्सा महाविद्यालयों की प्रवेश परीक्षा के दौरान व्यापम घोटाला उजागर हुआ। 

इस घोटाले को सिर्फ मेडिकल परीक्षा तक सीमित रखा गया। तत्कालीन सरकार ने विद्यार्थियों को मोहरा बनाया और मामले में सिर्फ छात्रों व युवाओं को आरोपी बनाया, जबकि इस घोटाले को अंजाम देने वाले मुख्य आरोपियों को बचाया गया।"पूर्व मुख्यमंत्री सिंह ने आगे लिखा, "पीएमटी प्रवेश परीक्षा के घोटाले में 1450 छात्रों के खिलाफ मामले दर्ज किए गए और उनके परिजनों को भी इस बाबत आरोपी बनाया गया। लगभग तीन हजार लोगों को कुल मिलाकर आरोपी बनाया। यह घोटाला पीएमटी परीक्षा तक सीमित नहीं है, जबकि नौकरी में भर्ती के लिए व्यापमं द्वारा आयोजित परीक्षाओं में भी घोटाला हुआ। वर्तमान में फर्जी तरीके से चयनित लोग नौकारी कर रहे हैं।" 

सिंह ने हरियाणा में हुए शिक्षक भर्ती घोटाले का उदाहरण देते हुए कहा, "वहां घोटाला सामने आने पर अभ्यार्थियों को सरकारी गवाह बनाया गया था जिसकी वजह से मुख्य आरोपियों को सजा मिली, जबकि मध्य प्रदेश में अभ्यर्थियों को आरोपी बना दिया गया।"पूर्व मुख्यमंत्री ने व्यापमं के मुख्य आरोपियों को कानून के दायरे में लाकर सजा दिलाने और निर्दोष छात्र-छात्राओं को न्याय दिलाने के लिए मुख्यमंत्री कमलनाथ से आवश्यक पहल का अनुरोध किया है। 

व्यापमं में पहली बार गड़बड़ी का बड़ा खुलासा सात जुलाई, 2013 को पीएमटी परीक्षा के दौरान तब हुआ, जब एक गिरोह इंदौर की अपराध शाखा की गिरफ्त में आया। यह गिरोह पीएमटी परीक्षा में फर्जी विद्याíथयों को बैठाने का काम करता था। मुख्यमंत्री चौहान ने इस मामले को अगस्त 2013 में एसटीएफ को सौंप दिया। उच्च न्यायालय ने मामले का संज्ञान लेकर सेवानिवृत्त न्यायाधीश, न्यायमूíत चंद्रेश भूषण की अयक्षता में अप्रैल 2014 में एसआईटी गठित की, जिसकी देखरेख में एसटीएफ जांच करता रहा। नौ जुलाई, 2015 को मामला सीबीआई को सौंपने का फैसला हुआ और 15 जुलाई से सीबीआई ने जांच शुरू की। 

सरकार के पूर्व मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा, उनके ओएसडी रहे ओ़ पी़ शुक्ला, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता सुधीर शर्मा, राज्यपाल के ओएसडी रहे धनंजय यादव, व्यापमं के नियंत्रक रहे पंकज त्रिवेदी, कम्प्यूटर एनालिस्ट नितिन मोहिद्रा मामले में जेल जा चुके हैं। गौरतलब है कि इस मामले में दो हजार से अधिक लोग जेल जा चुके हैं और चार सौ से अधिक अब भी फरार हैं। वहीं 45 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है।