BREAKING NEWS

आज का राशिफल (08 दिसंबर 2022)◾TIME मैगजीन ने यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की को चुना 'पर्सन ऑफ द ईयर◾Rajasthan News: भाजपा ने मंत्री की कथित वीडियो क्लिप को लेकर कांग्रेस पर साधा निशाना, जानें पूरा मामला ◾ गुजरात रिजल्ट तय करेगा गहलोत-हार्दिक समेत इन 3 नेताओं का भविष्य◾HP Election Result: नतीजों से पहले ही कांग्रेस का एक्शन, चौपाल प्रखंड के 30 नेताओं को किया निष्कासित ◾आरबीआई के गवर्नर ने कहा- जी20 फाइनेंस ट्रैक का हिस्सा RBI ◾Bogtui massacre: मारे गए तृणमूल नेता वाडू शेख के भाई को सीबीआई ने किया अरेस्ट ◾दिल्ली के मुस्लिम अरविंद केजरीवाल से है खफा, आज पता चल गया◾सीएम ममता ने कहा- केन्द्र सरकार जबरन विधेयक पारित करा रहा... संसदीय लोकतंत्र के भविष्य को लेकर डर◾CM हिमंत ने कहा : अगर विधानसभा चुनाव नहीं होते तो MCD...पर ज्यादा ध्यान दे पाती भाजपा◾कोरोना महामारी को लेकर चीन सरकार का बड़ा ऐलान- कोविड 19 से जुड़ी पाबंदियों में दी ढील◾त्रिपुरा में BSF-BGB की बैठक शुरू, बॉर्डर पार अपराध से निपटने पर होगी चर्चा◾CM ममता का आरोप, बोलीं- केन्द्र जबरन विधेयक करा रहा है पारित◾मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने कहा: भाजपा को अपनी जीत पर भरोसा, चुनावी टिकट के लिए प्रतिस्पर्धा स्वाभाविक◾हरजिंदर सिंह धामी ने कहा- वीर बाल दिवस के बजाय साहिबजादे शहादत दिवस मनाए भारत सरकार◾Coimbatore Blast Case: तमिलनाडु में मंदिर के बाहर कार बम विस्फोट मामले में 3 गिरफ्तार, जांच जारी ◾Draupadi Murmu: द्रोपदी मुर्मू ने कहा- नागरिकों के कल्याण पर विशेष ध्यान दें अधिकारी◾Border dispute: फडणवीस ने महाराष्ट्र-कर्नाटक सीमा विवाद पर गृह मंत्री अमित शाह को दी जानकारी◾लव जिहाद फिर बना चर्चा का केंद्र; कांग्रेस ने बताया फर्जी, नरोत्तम मिश्रा ने किया पलटवार ◾RBI ने कहा- भारतीय संस्थाएं आईएफएससी में सोने की कीमत के जोखिम को कम कर सकती ◾

दशहरा रैली से होगा फैसला, असली Shiv Sena किसकी ?

बाल ठाकरे ने शिवाजी पार्क की दशहरा रैलियों में हिंदुत्व का नारा लगाकर अपना जनाधार मजबूत किया था। क्षेत्रीय दल के नेता होने के बावजूद वे महाराष्ट्र के बाद देश के राजनीतिक क्षत्रप बने तो उनके समर्थकों को दशहरे के अवसर पर बाल ठाकरे के भाषण का बेसब्री से इंतजार था। लेकिन आज उनकी पार्टी विरासत के चौराहे पर उद्धव ठाकरे और एकनाथ शिंदे के बीच बंटी हुई है। 

जितना लड़ाई दशहरा रैली के आयोजन स्थल को लेकर थी। अब ज्यादा जोर रैली में भीड़ जुटाने पर है. कोशिश कर रहे हैं। इसलिए शिंदे धड़ा दोगुना इकट्ठा होना चाहता है। राजनीतिक विश्लेषकों का कहना है कि चूंकि शिवाजी पार्क शिवसेना की दशहरा रैली का पारंपरिक स्थल है और शिवसैनिकों के भी इससे राजनीतिक और भावनात्मक संबंध हैं। शिव सैनिक इसे शिवाजी पार्क 'शिवतीर्थ' कहते हैं।

नवंबर 2012 में शिवाजी पार्क में बाल ठाकरे का अंतिम संस्कार किया गया था

अक्टूबर 2010 में, आदित्य ठाकरे को दशहरा रैली में युवा सेना के साथ आधिकारिक तौर पर राजनीति में पेश किया गया था। नवंबर 2012 में शिवाजी पार्क में बाल ठाकरे का अंतिम संस्कार किया गया था। उद्धव ने नवंबर 2019 में शिवाजी पार्क में सीएम पद की शपथ ली। 56 साल पुरानी दशहरा रैली उद्धव ठाकरे गुट के लिए शिवसेना को फिर से संगठित करने का एक बड़ा मौका है। लेकिन कुल मिलाकर दोनों गुटों के लिए यह मौका बीएमसी चुनाव से पहले अपनी ताकत दिखाने का एक बड़ा जरिया है। महाराष्ट्र विधानसभा में फिलहाल शिवसेना के 55 विधायक हैं।

शिंदे गुट के पास हैं 40 विधायक

उद्धव गुट के पास हैं 15 विधायक

लोकसभा में शिवसेना के 18 सांसद हैं

वहीं शिंदे खेमे में 12 सांसद हैं

लेकिन लड़ाई अभी भी जमीन पर चल रही है। दशहरा रैली की बात है। फिलहाल तो दोनों गुटों ने इसे आपस में भिड़ंत बना लिया है। इसलिए ताकत के प्रदर्शन में कोई कसर नहीं छोड़ रहा। दोनों गुटों को उम्मीद है कि यह रैली यह भी साबित करेगी कि किसके साथ ज्यादा शिवसैनिक हैं और असली शिवसेना किसकी है।