BREAKING NEWS

निर्भया गैंगरेप: सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की दोषी पवन की याचिका, अब फांसी तय◾आज नामांकन नहीं भर पाए CM केजरीवाल, रोड शो के चलते हुई देरी◾मुजफ्फरपुर शेल्टर होम मामले में ब्रजेश ठाकुर आरोपी करार, 28 जनवरी को सजा पर आएगा फैसला ◾JP नड्डा बने बीजेपी के नए अध्यक्ष, अमित शाह समेत कई नेताओं ने दी बधाई ◾पंचतत्व में विलीन हुए श्री अश्विनी कुमार चोपड़ा 'मिन्ना जी' ◾BJP के पूर्व सांसद और वरिष्ठ पत्रकार अश्विनी कुमार चोपड़ा जी का निगम बोध घाट में हुआ अंतिम संस्कार◾पंचतत्व में विलीन हुए पंजाब केसरी दिल्ली के मुख्य संपादक और पूर्व भाजपा सांसद श्री अश्विनी कुमार चोपड़ा◾अश्विनी कुमार चोपड़ा - जिंदगी का सफर, अब स्मृतियां ही शेष...◾करनाल से बीजेपी के पूर्व सांसद अश्विनी कुमार चोपड़ा के निधन पर राजनाथ सिंह समेत इन नेताओं ने जताया शोक ◾अश्विनी कुमार की लेगब्रेक गेंदबाजी के दीवाने थे टॉप क्रिकेटर◾PM मोदी ने वरिष्ठ पत्रकार और पूर्व सांसद अश्विनी चोपड़ा के निधन पर शोक प्रकट किया ◾पंजाब केसरी दिल्ली के मुख्य संपादक और पूर्व भाजपा सांसद श्री अश्विनी कुमार जी को भावपूर्ण श्रद्धांजलि ◾निर्भया गैंगरेप: अपराध के समय दोषी पवन नाबलिग था या नहीं? 20 जनवरी को सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट◾सीएए पर प्रदर्शनों के बीच CJI बोबड़े ने कहा- यूनिवर्सिटी सिर्फ ईंट और गारे की इमारतें नहीं◾कमलनाथ सरकार के खिलाफ धरने पर बैठे MLA मुन्नालाल गोयल, घोषणा पत्र में किए गए वादों को पूरा नहीं करने का लगाया आरोप ◾नवाब मलिक बोले- अगर भागवत जबरदस्ती पुरुष की नसबंदी कराना चाहते हैं तो मोदी जी ऐसा कानून बनाए◾संजय राउत ने सावरकर को लेकर कांग्रेस पर साधा निशाना, बोले- विरोध करने वालों को भेजो जेल, तब सावरकर को समझेंगे'◾दोषियों को माफ करने की इंदिरा जयसिंह की अपील पर भड़कीं निर्भया की मां, बोलीं- ऐसे ही लोगों की वजह से बच जाते हैं बलात्कारी◾पाकिस्‍तान: सुप्रीम कोर्ट ने देशद्रोह मामले में फैसले के खिलाफ मुशर्रफ की याचिका पर सुनवाई से किया इनकार ◾सीएए और एनआरसी के खिलाफ लखनऊ में महिलाओं का प्रदर्शन जारी◾

छत्तीसगढ़ी परंपरा को सहेजने की सरकार के स्तर पर कोशिशें तेज

रायपुर : छत्तीसगढ़ में कांग्रेस सरकार परंपरागत संस्कृति पर अधिक जोर दे रही है। प्रदेश में छत्तीसगढ़ी पर्व हरेली और तीज के साथ आदिवासी दिवस पर अवकाश की घोषणा पहले ही की गई है। वहीं परंपरागत त्यौहरों का सीएम के स्तर पर शासकीय आयोजन कर संदेश देन की कोशिशें हो रही है।

 छत्तीसगढ़ की पारंपरिक संस्कृति के तहत कार्तिक माह में सुबह स्नान करने का अपना महत्व है। लंबे समय बाद इस परंपरा को बरकरार रखने की कवायदें भी हुई है। खुद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल राजधानी के नदी में तट पर कार्तिक स्नान करने पहुंचे। 

राज्य सरकार ने बीते डेढ़ दशक में भाजपा सरकार के दौरान परंपरागत त्यौहारों की उपेक्षा करने के आरोप लगाए थे। वहीं इसे नए सिरे से पुनर्जीवित कर लोगों में संदेश देने की कवायदें शुरू की। छत्तसगढ़ी संस्कृति से स्थानीय लोगों के साथ नई पीढ़ी को अवगत कराने पर जोर दिया जा रहा है। यही वजह है कि प्रदेश में तीज के साथ पोला पर्व भी धूमधाम से मनाया गया है। वहीं इस बार दीवाली के बाद गांवों में होने वाली गोवर्धन पूजा को शहरों में भी परंपरागत ढंग से मनाने के एिसीएम हाऊस में शुरूआत की गई। कार्तिक माह में सुबह स्नान करने का अपना धार्मिक और पौराणिक महत्व माना जाता रहा है। 

इधर सरकारी स्तर पर हो रहे प्रयासों की वजह से फिर संस्कृति की महक लौटने लगी है। सरकार का दावा है कि इस मामले में राज्य के पुरखों के सपनों को संजोने का काम किया जा रहा है। खुद सीएम भूपेश बघेल अपने निवास में आयोजन कर लोगों को आमंत्रित कर रहे हैं। 

राज्य में इस बार मनाए गए राज्योत्यव में छत्तीसगढ़ी लोक संस्कृति के साथ स्थानीय लोक कलाकारों को ही मौका देने की कोशिशें हुई। बीते वर्षों में प्रदेश में बालीवुड कलाकारों को आमंत्रित करने से भी असंतोष की स्थिति बनती रही है।