पटना : पाटलिपुत्रा कॉलोनी स्थित पाटलिपुत्रा मैदान में आयोजित तीन दिवसीय रोजेगार मेला के समापन समारोह को संबोधित करते हुए केन्द्रीय ग्रामीण विकास राज्य मंत्री रामकृपाल यादव ने कहा कि रोजगार मेला बेरोजगार युवाओं के रोजगार हेतु एक बेहतर अवसर है। इस रोजगार मेला में अब तक दस हजार युवा आ चुके हैं जिनमें पांच हजार युवाओं का रजिस्ट्रेशन हुआ, दो हजार से अधिक युवाओं को रोजगार भी मिल चुका है। यह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के सकारात्मक सोंच का सकारात्मक सुपरिणाम है। जब मोदी जी भारत के प्रधानमंत्री बने तो उनकी सोंच थी कि बेरोजगार युवाओं को कैसे रोजगार मिले। इस सोंच को सकारात्मक बनाने के लिए उन्होंने 2015 में विश्व कौशल दिवस के शुभ अवसर पर अलग से कौशल विकास मंत्रालय का सृजन कर युवाओं को कौशल-हुनर का बढ़ाने के लिए देश के हर प्रदेश में विभिन्न क्षेत्रों में कौशल विकास के लिए विभिन्न कार्यक्रम प्रारंभ किया।

तीन दिवसीय रोजगार मिला के समापन समारोह को संबोधित करते हुए श्रम संसाधन मंत्री विजय कुमार सिन्हा ने कहा कि पहले एक दिवसीय रोजगार मिला का आयोजन होता था, लेकिन अब जिला स्तर पर दो दिवसीय एवं कमीशनरी स्तर पर रोजगार मेला का आयोजन किया जायेगा। बिहार सरकार के अन्तर्गत जो भी बेरोजगार युवा नियोजित होंगे उनका अब दो लाख का बीमा भी होगा। बेरोजगार युवाओं के कौशल विकास के लिए राज्य में 137 टे्रड के कौशल विकास प्रशिक्षण केन्द्र निजी एवं सरकारी भवन में चलाये जा रहे हैं। इससे निश्चित तौर पर बेरोजगार युवाओं को रोजगार मिलेगा। इस अवसर पर मेला में सहयोग करने वाले कंपनियों के कर्मियों को भी सम्मानित किया गया और रोजगार पाने वाले युवाओं को भी आगे बढ़ाने के लिए प्रोत्साहित किया गया। इस अवसर पर समारोह में बांकीपुर विधायक नितीन नवीन, संजीव चौरसिया, पटना महानगर अध्यक्ष सीताराम पांडे आदि मौजूद थे।