BREAKING NEWS

जसप्रीत बुमराह की आंधी में उड़ा वेस्ट इंडीज, एंटीगा टेस्ट में 318 रन से जीता भारत◾राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री समेत अन्य नेताओं ने सिंधू को शानदार जीत पर बधाई दी ◾PM मोदी ने संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंतोनियो गुतारेस के साथ ‘सार्थक चर्चा’ की◾J&K : केंद्र सरकार ने राज्य के लिए की 85 विकास योजनाओं की शुरुआत◾फ्रांस में PM मोदी ने ब्रिटेन के प्रधानमंत्री जॉनसन से की मुलाकात◾विपक्ष, प्रेस को जम्मू कश्मीर में लोगों पर बल के बर्बर प्रयोग का अहसास हुआ : राहुल◾जेटली के निधन से भाजपा में ‘दिल्ली-4’ दौर हुआ समाप्त ◾जेटली राजनीतिक दिग्गज, देश के लिए अमूल्य संपत्ति थे : लोकसभा अध्यक्ष◾केरल के कांग्रेस नेताओं ने PM मोदी की प्रशंसा करने पर शशि थरूर की आलोचना की ◾PM मोदी G-7 शिखर सम्मेलन के लिए पहुंचे फ्रांस◾सचिवालय से हटाया गया जम्मू कश्मीर का झंडा ◾TOP 20 NEWS 25 August : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾पीवी सिंधु का सुनहरा कारनामा, बैडमिंटन वर्ल्ड चैम्पियनशिप जीतने वाली पहली भारतीय ख़िलाड़ी ◾अब संसद में नहीं गूंजेगी अरुण जेटली की आवाज, खलेगी कमी : राहुल गांधी◾दवाओं की कोई कमी नहीं, फोन पर पाबंदी से जिंदगियां बचीं : सत्यपाल मलिक◾निगमबोध घाट पर पूरे राजकीय सम्मान के साथ अरुण जेटली का अंतिम संस्कार किया गया◾मन की बात: PM मोदी ने दो अक्टूबर से प्लास्टिक कचरे के खिलाफ जन आंदोलन का किया आह्वान ◾लोकतांत्रिक अधिकारों को समाप्त करने से अधिक राजनीतिक और राष्ट्र-विरोधी कुछ नहीं : प्रियंका गांधी◾जी-7 शिखर सम्मेलन में शामिल होने के लिए PM मोदी फ्रांस रवाना◾सोनिया गांधी ने कहा- सीट बंटवारे को जल्द अंतिम रूप दें महाराष्ट्र के नेता◾

अन्य राज्य

किसानों का सरकार के खिलाफ हल्ला बोल

हरिद्वार : अलकनंदा घाट पर राष्ट्रीय चिंतन शिविर के दूसरे दिन किसानों ने विभिन्न समस्याओं के निराकरण को लेकर सरकार पर हल्ला बोला। भाकियू अंबावता के राष्ट्रीय अध्यक्ष ऋषिपाल अंबावता ने कहा कि किसानों की दशा दिशा सुधारने में सरकार उचित कदम नहीं उठा रही है। किसान लगातार कर्ज तले दब रहा है। उन्होंने कहा कि बिचैलियों के कारण चीनी मिलों में बकाया भुगतान किसानों को नहीं मिल पा रहा है। 

जिसके चलते किसानों की आर्थिक स्थिति लगातार कमजोर हो रही है। उन्होंने गंगा तट से आह्वान करते हुए कहा कि संगठन की शक्ति तभी संभव है। जब किसान संगठित होकर अपनी मांगों को सरकार के समक्ष गंभीरतापूर्वक रखें। किसानों की दिन प्रतिदिन बिगड़ती आर्थिक स्थिति के कारण किसान परिवारों का भरण पोषण नहीं कर पाता है। उन्होंने मांग की कि आपदा व ओलावृष्टि जैसी घटनाओं में किसानों की फसलें बर्बाद हो जाती हैं। 

किसान मुआवजे की मांग को लेकर इधर उधर भटकता रहता है। लेकिन सरकारी मशीनरी किसानों की समस्या को हल नहीं कर पाती है। ऐसे अधिकारियों को चिन्हित कर उनका भी विरोध किया जाना जरूरी है। ऋषिपाल अंबावता ने कहा कि तीन दिवसीय राष्ट्रीय चिंतन शिविर में भारत के विभिन्न राज्यों से आए किसान अपनी समस्याओं को चिंतन शिविर के माध्यम से सरकार के समक्ष रखें। 

उन्होंने राज्य सरकार पर भी दोहरी नीति का आरोप लगाते हुए कहा कि किसानों के लिए घोषणाएं तो कर दी जाती हैं। लेकिन घोषणाओं का सही तरीके से अनुपालन नहीं हो पाता है।  चौधरी ऋषिपाल अंबावता ने बताया कि राष्ट्रीय किसान आयोग गठित किए जाने की मांग को लेकर 1 जुलाई से लखनऊ में बड़ा आंदोलन शुरू किया जाएगा। आंदोलन में देश भर से हजारों किसान भाग लेंगे। उन्होंने कहा कि किसान आयोग के गठन के लिए केंद्र सरकार को 20 दिन का समय दिया गया है। यदि 20 दिन में किसान आयोग के गठन की कार्यवाही शुरू नहीं की जाती है तो आंदोलन शुरू कर दिया जाएगा।

- संजय चौहान