BREAKING NEWS

कोविड-19 : देश में संक्रमण के मामले 18 लाख के पार, स्वस्थ होने वालों की संख्या 11.86 लाख हुई◾पीएम मोदी, राजनाथ, नड्डा ने रक्षा बंधन पर दी देशवासियों को शुभकामनाएं ◾दिल्लीः उपराज्यपाल अनिल बैजल और मुख्यमंत्री केजरीवाल ने रक्षाबंधन की बधाई दी ◾सुशांत राजपूत मामले की जांच के लिए मुंबई पहुंचे IPS विनय तिवारी को बीएमसी ने किया क्वारनटीन◾कर्नाटक के मुख्यमंत्री येदियुरप्पा भी कोरोना पॉजिटिव, अस्पताल में कराए गए भर्ती◾विदेशों से आने वाले यात्रियों के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय ने नए गाइडलाइन्स जारी किए ◾बिहार में बाढ़ की स्थिति और बिगड़ी, 53.67 लाख लोग बेहाल और जनजीवन बुरी तरह प्रभावित◾आईपीएल के लिए सरकार ने दी हरी झंडी, फाइनल 10 नवंबर को, चीनी प्रायोजक बरकरार ◾महाराष्ट्र में कोरोना का विस्फोट जारी, संक्रमितों का आंकड़ा 4.41 लाख के पार, बीते 24 घंटे में 9,509 नए केस◾ममता बनर्जी समेत अन्य राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के जल्द स्वस्थ होने की कामना की◾राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने प्रेम और भाईचारे के त्योहार रक्षाबंधन के अवसर पर देशवासियों को दी शुभकामनाएं◾तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित कोरोना पॉजिटिव पाए गए◾8 महीने बाद भी लटका है CAA , गृह मंत्रालय ने नियम बनाने के लिए तीन और महीने का समय मांगा◾बीते 24 घंटों में रिकॉर्ड 51,000 कोरोना मरीज हुए स्वस्थ, रिकवरी रेट बढ़कर हुआ 65.44 प्रतिशत◾कोरोना वायरस की चपेट में आए गृहमंत्री अमित शाह, ट्वीट कर दी जानकारी ◾राम मंदिर भूमि पूजन में शामिल होंगे महंत नरेंद्र गिरी, सुन्नी वक्फ बोर्ड को भी न्योता◾सुशांत सुसाइड केस : जांच में तेजी लाने के लिए पटना के सिटी SP विनय तिवारी को भेजा गया मुंबई ◾सुशांत सिंह राजपूत केस : केंद्रीय मंत्री आरके सिंह ने CBI जांच की मांग को बताया जायज◾गैरकानूनी तरीके से नेताओं को हिरासत में लेने पर देश के लोकतंत्र को पहुंचता है नुकसान : राहुल गांधी◾UP की कैबिनेट मंत्री कमल वरुण का कोरोना संक्रमण से निधन, CM योगी ने जताया शोक ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

भड़काऊ भाषण देने वाले AIMIM नेता वारिस पठान के खिलाफ FIR दर्ज

All India Majlis-e-Ittehad-ul Muslimeen (एआईएमआईएम) नेता वारिस पठान ने एक विवादित बयान में कहा था कि हम 15 करोड़ ही 100 करोड़ लोगों पर भारी हैं। इस बयान को लेकर शनिवार को पठान के खिलाफ कर्नाटक के कलबुर्गी पुलिस ने एफआईआर दर्ज की है। 

पठान के खिलाफ भारतीय दंड सहिंता (IPC) की धारा 117, 153 (दंगा फैलाने के लिए भड़काना) और धारा 153ए (दो समूहों में नफरत फैलाना) के तहत केस दर्ज किया गया है। पठान ने 16 फरवरी को उत्तरी कर्नाटक के कलबुर्गी में नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में एक रैली को संबोधित करते हुए कथित तौर पर कहा था कि ‘‘15 करोड़ मुस्लिम 100 करोड़ लोगों पर भारी पड़ सकते हैं।’’ 

पठान के वायरल हुए वीडियो में उन्हें कहते सुना जा सकता है, ‘‘हमें साथ चलना होगा। हमें आजादी लेनी होगी, जो चीजें मांगने से नहीं मिलतीं, वह छीनकर लेनी होती हैं, याद रखिए...(हम) 15 करोड़ हैं, लेकिन 100 करोड़ पर भारी हैं।’’ एआईएमआईएम की महाराष्ट्र इकाई के अध्यक्ष और औरंगाबाद के लोकसभा सदस्य इम्तियाज जलील ने यहां संवाददाताओं से बातचीत में कहा, ‘‘हमारी पार्टी वारिस पठान के बयान का समर्थन नहीं करती। 

पार्टी उनके बयान के लिए उनसे स्पष्टीकरण मांगेगी।’’ उन्होंने कहा, ‘‘अगर जरूरत पड़ी तो हम पार्टी कार्यकर्ताओं को भाषण देते समय क्या बोलना है और क्या नहीं बोलना है, इसकी सूची बनाकर देंगे।’’ जलील ने कहा, ‘‘भाजपा नेता अनुराग ठाकुर और योगी आदित्यनाथ ने भी इसी तरह के कुछ नफरत वाले बयान दिये थे लेकिन तब किसी ने उस पर सवाल खड़ा नहीं किया।’’ 

गुरूवार को बेंगलुरू में सीएए, एनआरसी और एनपीआर के विरोध में आयोजित सभा में एआईएमआईएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी की मौजूदगी में एक युवती ने ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे लगाये थे। ओवैसी ने लड़की के इस कृत्य की निंदा की थी और वह मंच पर उसे बोलने से रोकते हुए भी दिखे थे। इस घटना पर जलील ने कहा, ‘‘वह आयोजन एआईएमआईएम का नहीं था। इसे जेडीएस और अन्य दलों के नेताओं ने आयोजित किया था। 

असदुद्दीन ओवैसी ने महिला को रोका और उसके कृत्य की निंदा भी की। लेकिन ऐसा पेश किया जा रहा है कि मंच एआईएमआईएम का था।’’ इस बीच भाजपा और राज ठाकरे की महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना ने पठान के खिलाफ औरंगाबाद में प्रदर्शन किये तथा उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की। भाजपा ने गुलमंडी इलाके में प्रदर्शन किया और पठान का पुतला फूंका। 

भाजपा विधायक अतुल साल्वे ने कहा, ‘‘वारिस पठान ने 100 करोड़ जनता की भावनाओं को आहत किया है। उन्होंने देश के लोगों को बांटने का प्रयास किया है। राज्य सरकार को उनके खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए तथा उन्हें मुंबई से बाहर भेज देना चाहिए।’’ मनसे ने भी विरोध प्रदर्शन किया। पार्टी नेता प्रकाश महाजन ने कहा, ‘‘वारिस पठान की भाषा घृणास्पद है। उन पर राज्य में सार्वजनिक तौर पर भाषण देने पर रोक लगा देनी चाहिए और गिरफ्तार किया जाना चाहिए।