BREAKING NEWS

दिल्ली हिंसा: पिंक लाइन पर पांच मेट्रो स्टेशन बंद, चार स्टेशनों को खोला गया◾गाइड के कहने पर ताजमहल में पत्नी मेलानिया का हाथ थामकर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने की चहलकदमी◾कोर्ट ने उपमुख्यमंत्री सिसोदिया को क्लीनचिट देने वाली एटीआर की खारिज, नयी रिपोर्ट दाखिल करने के दिए निर्देश ◾राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के सम्मान में आयोजित भोज में शामिल नहीं होंगे पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह◾T20 महिला विश्व कप : भारत ने बांग्लादेश को 18 रन से हराया, लगातार दूसरी जीत दर्ज की ◾TOP 20 NEWS 24 February : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾ताजमहल का दीदार करके दिल्ली पहुंचे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप◾महाराष्ट्र : मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे बोले- गठबंधन के भागीदारों के बीच कोई मतभेद नहीं◾जाफराबाद में CAA को लेकर पथराव, गाड़ियों में लगाई गई आग, एक पुलिसकर्मी की मौत◾मोटेरा स्टेडियम में दिखी ट्रंप और मोदी की दोस्ती, दोनों दिग्गज ने एक-दूसरे की तारीफ में पढ़ें कसीदे ◾दिल्ली के मौजपुर में लगातार दूसरे दिन CAA समर्थक एवं विरोधी समूहों के बीच झड़प ◾CM केजरीवाल और मनीष सिसोदिया ने दिल्ली विधानसभा की सदस्यता की शपथ ली◾ट्रम्प के स्वागत में अहमदाबाद तैयार, छाए भारत-अमेरिकी संबंधों वाले इश्तेहार◾दिल्ली और झारखंड में BJP विधानमंडल दल के नेता का आज होगा ऐलान ◾जाफराबाद में CAA को लेकर हुई पत्थरबाजी के बाद इलाके में तनाव, मेट्रो स्टेशन बंद◾Modi सरकार ने पद्म सम्मान के लिये ‘गुमनाम’ चेहरे खोजे : केंद्रीय मंत्री◾अब कुछ ही घंटो में भारत यात्रा के लिए अहमदाबाद पहुंचेंगे अमेरिकी राष्ट्रपति Trump , मोदी को बताया दोस्त◾मेलानिया का स्वागत करके खुशी होती, हमने अमेरिकी दूतावास की चिंताओं का किया सम्मान : मनीष सिसोदिया◾Trump की भारत यात्रा से किसी महत्वपूर्ण परिणाम के सकारात्मक संकेत नहीं हैं : कांग्रेस◾US राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भारत के लिए रवाना, कल सुबह 11.55 बजे पहुंचेंगे अहमदाबाद, जानिए ! पूरा कार्यक्रम◾

मुंबई : गैंगरेप पीड़िता की मौत मामले में निष्क्रियता के लिए पुलिसकर्मी के खिलाफ FIR दर्ज

मुंबई में 19 वर्षीय एक युवती के साथ कथित दुष्कर्म के मामले में ‘‘निष्क्रियता’’ को लेकर एक पुलिस निरीक्षक के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है। महिला की बाद में एक अस्पताल में मौत हो गई। पुलिस ने रविवार को यह जानकारी दी। महिला के वकील के मुताबिक, अनुसूचित जाति की उस महिला के साथ जुलाई के पहले हफ्ते में मुंबई में उसके चार दोस्तों ने कथित रूप से बलात्कार किया था। 

बाद में उसे महाराष्ट्र के औरंगाबाद शहर के एक सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां 28 अगस्त को उसकी मौत हो गई। पुलिस के अनुसार, महिला के परिवार का प्रतिनिधित्व करने वाले वकील नितिन सतपुते द्वारा दर्ज करायी गई शिकायत के आधार पर शनिवार को चूनाभट्टी पुलिस स्टेशन के निरीक्षक दीपक सुर्वे के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई। 

दक्षिण में खुद को मजबूत ताकत के रूप में पेश करने में जुटी भाजपा

शिकायत में सतपुते ने मामले की जांच को लेकर पुलिस पर ‘‘निष्क्रियता’’ का आरोप लगाया। उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम के तहत आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज करने में भी विफल रही, क्योंकि पीड़िता अनुसूचित जाति की थी। 

सतपुते ने आरोप लगाया, ‘‘प्रथम दृष्ट्या, यह पुलिस की एक गंभीर गलती है, जिसने सामूहिक दुष्कर्म के आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए पीड़ित परिवार द्वारा गुहार लगाए जाने के बावजूद, आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करने की जहमत नहीं उठाई।’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘पीड़िता को अपमानित करने के लिए पुलिस निरीक्षक दीपक सुर्वे के खिलाफ अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम के तहत प्रथम सूचना रिपोर्ट (एफआईआर) दर्ज की गई है।’’ कथित बलात्कार का मामला तब सामने आया जब महिला ने 24 जुलाई को अपने गुप्तांगों में दर्द की शिकायत की और उसे यहां से लगभग 325 किलोमीटर दूर औरंगाबाद के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। 

डॉक्टरों को संदेह हुआ कि उसके साथ बलात्कार किया गया है और उन्होंने पुलिस को इसके बारे में सूचना दी और फिर उसे सरकारी अस्पताल में स्थानांतरित कर दिया गया। औरंगाबाद के बेगमपुरा पुलिस स्टेशन में दर्ज शिकायत के अनुसार, 7 जुलाई को महिला मुंबई आई थी। 

पुलिस ने बताया कि उसके चार दोस्तों ने उसका जन्मदिन मनाने का फैसला किया। केक काटने के बाद चारों ने उसके साथ कथित रूप से बलात्कार किया। अधिकारी ने कहा कि महिला बाद में औरंगाबाद लौट आई लेकिन अपने माता-पिता को इस घटना के बारे में नहीं बतायी। बाद में यह मामला यहां के चूनाभट्टी पुलिस स्टेशन को सौंप दिया गया। 

वरिष्ठ राकांपा नेता सुप्रिया सुले ने शुक्रवार को यहां पार्टी के विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व किया, जिसमें महिला की मौत की एसआईटी जांच कराने की मांग की गई। उन्होंने भाजपा के नेतृत्व वाली राज्य सरकार पर महिला सुरक्षा के प्रति ‘‘असंवेदनशील’’ होने का आरोप लगाया। 

बारामती के लोकसभा सांसद के साथ प्रदर्शन में राकांपा के मुंबई प्रमुख नवाब मलिक और विधान पार्षद विद्या चव्हाण मौजूद थे। सुले ने यह कहते हुये इस मामले में एक विशेष जांच दल (एसआईटी) को गठित करने की मांग की जिससे इस मामले की जांच उचित ढंग से नहीं की जा रही है। 

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) ने आरोपियों की तत्काल गिरफ्तारी की मांग की है। बाद में, राज्य विधान परिषद की उप सभापति नीलम गोरहे ने कहा कि उन्होंने मुंबई पुलिस को आरोपियों को गिरफ्तार करने और मामले में उचित ढंग से आरोप पत्र दायर करने का निर्देश दिया है।