BREAKING NEWS

यूपी चुनाव : BSP प्रमुख फरवरी से करेंगी चुनाव प्रचार का आगाज, इस जिले में होगी पहली जनसभा ◾कर्नाटक: मंत्रिमंडल विस्तार पर मचा बवाल, BJP नेता अपना रहे बागी रुख, कांग्रेस में हो सकते हैं शामिल ◾यूपी: CM योगी ने अखिलेश पर किया जुबानी हमला, कहा- सपा के नेता समाजवादी नहीं बल्कि तमंचावादी हैं ◾दिल्ली: कोरोना के दैनिक मामलों में दर्ज हुई गिरावट, CM केजरीवाल बोले- जल्द मिलेगी प्रतिबंधों से राहत ◾दिल्ली में शराब प्रेमियों के लिए अच्छी खबर, सालभर में 21 की जगह अब सिर्फ 3 Dry Day◾यूपी: AIMIM ने उमैर मदनी को मैदान में उतारा, चुनावी घमासान में तेज हुई मुस्लिम वोटों के लिए खींचतान◾फिर आमने-सामने शिवसेना और BJP, राउत बोले-हिंदुत्व के मुद्दे पर सबसे पहले हमने लड़ा था चुनाव◾कांग्रेस को लगेगा बहुत बड़ा झटका! स्टार प्रचारक RPN हो सकते हैं BJP में शामिल, स्वामी मौर्य की बढ़ेंगी मुश्किलें ◾राष्ट्रपति और PM मोदी समेत इन नेताओं ने दी हिमाचल के स्थापना दिवस पर राज्यवासियों को बधाई◾BJP सांसद गौतम गंभीर हुए कोरोना पॉजिटिव, संपर्क में आए लोगों से की टेस्ट कराने की अपील ◾मायावती का विरोधियों पर निशाना, कहा- बसपा को छोड़ बाकी सभी सरकारों ने किया राजनीति का अपराधीकरण ◾महाराष्ट्र : पुल से गिरी कार, भीषण सड़क हादसे में BJP विधायक के बेटे समेत 7 छात्रों की मौत◾Corona Update : कोरोना केस में गिरावट, 2 लाख 55 हज़ार नए मामले, एक्टिव केस 22 लाख से ज्यादा◾यूक्रेन को लेकर अमेरिका और रूस में तनाव की स्थिति, राष्ट्रपति बाइडन ने 8,500 सैनिकों को अलर्ट पर रखा◾UP: केशव प्रसाद मौर्य का सपा पर तीखा कटाक्ष, बोले- लिस्ट नई है, अपराधी वही हैं◾दुनियाभर में कहर बरपा रहा है कोरोना, वैश्विक स्तर पर 35.43 करोड़ पहुंचा संक्रमितों का आंकड़ा◾अभी जारी रहेगी ठिठुरन भरी ठंड, आने वाले दिनों में बर्फीली हवाएं और बढ़ाएंगी सर्दी, जानें पूरे उत्तर भारत का हाल◾पंजाब : नवजोत सिंह सिद्धू ने अमरिंदर सिंह पर निशाना साधते हुए उन्हें बताया फुंका कारतूस◾कांग्रेस पटोले को निगरानी में रखे और PM के खिलाफ टिप्पणी के लिए शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य की जांच कराएं : भाजपा ◾दिल्ली कोर्ट ने शरजील इमाम के खिलाफ देशद्रोह का आरोप तय करने का दिया आदेश ◾

मेकेदातु पदयात्रा : कोरोना मानदंडों के उल्लंघन को लेकर शिवकुमार और सिद्धारमैया के खिलाफ दर्ज हुई FIR

कर्नाटक पुलिस ने सोमवार को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डी.के. शिवकुमार, विपक्ष के नेता सिद्धारमैया और 30 अन्य लोगों के खिलाफ कोविड कर्फ्यू लागू रहने के बावजूद मेकेदातु परियोजना का काम जल्द शुरू करने की मांग करते हुए पदयात्रा (विरोध मार्च) करने पर एफआईआर दर्ज की। रामनगर जिले के सतनूर थाने में आईपीसी की धारा 141, 143, 290, 336 और आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है।

गृहमंत्री अरागा ज्ञानेंद्र ने कांग्रेस नेताओं को दी थी चेतावनी 

राज्य के गृहमंत्री अरागा ज्ञानेंद्र ने कांग्रेस नेताओं को चेतावनी दी थी कि वे ऐसे समय में बहुत बड़ा जोखिम उठा रहे हैं, जब राज्य में 10,000 से अधिक कोविड मामले सामने आ रहे हैं। यदि मामलों में और तेजी आती है, तो महीनेभर के लिए लॉकडाउन लागू करने के अलावा और कोई उपाय नहीं बचेगा। लॉकडाउन से लोग बुरी तरह प्रभावित होते हैं।

कोरोना से स्थिति हुई खराब तो कांग्रेस होगी जिम्मेदार 

उन्होंने कहा, "हमने देखा है कि किस तरह का स्वास्थ्य संकट था, कैसे मामले बढ़े और दूसरी लहर के दौरान लोगों की मौत हुई। अगर राज्य में ऐसी ही स्थिति फिर से बनती है, तो कांग्रेस को इसकी जिम्मेदारी लेनी होगी।" ज्ञानेंद्र ने कहा कि आदेशों की अवहेलना करते हुए पदयात्रा निकालने वाले कांग्रेसी नेताओं के खिलाफ कार्रवाई शुरू करने में सरकार की लाचारी का सवाल ही नहीं उठता। कांग्रेस पार्टी ने 65 साल तक देश पर राज किया है। कोविड के दौरान कांग्रेस के नेताओं का राजनीतिक गतिविधि में शामिल होना ठीक नहीं है।

शिवकुमार का दावा- राज्य में कोई कोविड मामला नहीं  

उन्होंने कहा, "लोग देख रहे हैं कि क्या हो रहा है। शिवकुमार ने कहा कि राज्य में कोई कोविड मामला नहीं है। वह बिना मास्क के चल रहे हैं और सिद्धारमैया में बुखार के लक्षण हैं। हम इसे लेकर चिंतित हैं।" उन्होंने कहा, "हमारे पास पुलिस बल है और अगर हम आदेश देते हैं तो वे निश्चित रूप से कार्रवाई करेंगे। हम कोई अराजकता नहीं चाहते और इससे एक और त्रासदी नहीं होनी चाहिए।"

कोरोना के बीच कर्नाटक कांग्रेस ने शुरू की 10 दिवसीय पदयात्रा 

कर्नाटक कांग्रेस ने सत्तारूढ़ भाजपा सरकार द्वारा मेकेदातु परियोजना को तेजी से लागू करने की मांग को लेकर 10 दिवसीय पदयात्रा शुरू की है। धरना रविवार को शुरू हुआ था, जो अब दूसरे दिन में प्रवेश कर गया है।शिवकुमार ने कोविड जांच कराने से इनकार कर दिया और कहा कि मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई को पदयात्रा रोकने के लिए सस्ती राजनीति नहीं करनी चाहिए। जिले में कोविड-19 संबंधी पाबंदियों के बावजूद हजारों कांग्रेस कार्यकर्ता और पार्टी कार्यकर्ता पदयात्रा में भाग ले रहे हैं।