BREAKING NEWS

लालू के घर बजेंगी शहनाई, तेजस्वी यादव की शादी हुई पक्की, दिल्ली में आज या कल होगी सगाई ◾सोनिया ने केंद्र को बताया 'असंवेदनशील', किसानों के साथ रवैये और महंगाई जैसे मुद्दों पर किया सरकार का घेराव ◾World Corona Update : अब तक 26.7 करोड़ से ज्यादा लोग हुए संक्रमित, मृतकों की संख्या 52.7 लाख से अधिक◾RBI ने रेट रेपो 4 प्रतिशत पर रखा बरकरार, लगातार 9वीं बार नहीं हुआ कोई बदलाव◾ओमीक्रॉन पर आंशिक रूप से असरदार है फाइजर वैक्सीन, स्टडी में दावा- बूस्टर डोज कम कर सकती है संक्रमण ◾UP चुनाव : आज योगी और राजभर जनसभा को करेंगे संबोधित, प्रियंका पहला महिला घोषणा पत्र जारी करेंगी ◾बिहार में PM मोदी, अमित शाह और प्रियंका चोपड़ा को लगी वैक्सीन! तेजस्वी यादव ने शेयर की लिस्ट◾मनी लॉन्ड्रिंग केस: ED के सामने आज पेश होंगी जैकलीन फर्नांडीज, गवाह के तौर पर दर्ज कराएंगी बयान ◾Today's Corona Update : भारत में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 8,439 केस सामने आए, 195 लोगों की मौत◾जम्मू-कश्मीर के शोपियां में आतंकवादियों और सुरक्षा बलों के बीच एनकाउंटर शुरू, इलाके की गयी घेराबंदी ◾किसानों की होगी घर वापसी या जारी रहेगा आंदोलन? एसकेएम की बैठक में आज होगा फैसला ◾ओमिक्रॉन के खतरे के बीच ओडिशा के सरकारी स्कूल में 9 छात्र कोरोना से संक्रमित, किया गया क्वारंटीन ◾अनिल मेनन बनेंगे नासा एस्ट्रोनॉट, बन सकते हैं चांद पर पहुंचने वाले पहले भारतीय◾PM मोदी ने SP पर साधा निशाना , कहा - लाल टोपी वाले लोग खतरे की घंटी,आतंकवादियों को जेल से छुड़ाने के लिए चाहते हैं सत्ता◾ किसान आंदोलन को खत्म करने के लिए राकेश टिकैत ने कही ये बात◾DRDO ने जमीन से हवा में मार करने वाली VL-SRSAM मिसाइल का किया सफल परीक्षण◾बिना कांग्रेस के विपक्ष का कोई भी फ्रंट बनना संभव नहीं, संजय राउत राहुल गांधी से मुलाकात के बाद बोले◾केंद्र की गलत नीतियों के कारण देश में महंगाई बढ़ रही, NDA सरकार के पतन की शुरूआत होगी जयपुर की रैली: गहलोत◾अमरिंदर ने कांग्रेस पर साधा निशाना, अजय माकन को स्क्रीनिंग कमेटी का अध्यक्ष नियुक्त करने पर उठाए सवाल◾SKM की बैठक खत्म, क्या समाप्त होगा आंदोलन या रहेगा जारी? कल फाइनल मीटिंग◾

छत्तीसगढ़ के पूर्व विधायक युद्धवीर सिंह का निधन, 1 महीने से चल रहा था लिवर का इलाज

छत्तीसगढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के दिग्गज नेता एवं पूर्व विधायक युद्धवीर सिंह जूदेव का निधन हो गया है। बेंगलुरु के निजी अस्पताल में इलाज के दौरान उन्होंने आखिरी सांस ली। युद्धवीर का पिछले एक महीने से लिवर का इलाज चल रहा था। वे पूर्व केंद्रीय मंत्री बीजेपी नेता स्व. दिलीप सिंह जूदेव के छोटे पुत्र थे। निधन की खबर मिलते ही जशपुर जिले में शोक की लहर व्याप्त है।

जशपुर रियासत के प्रमुख पूर्व सांसद रणविजय सिंह जूदेव ने आज यूनीवार्ता को बताया कि स्व.युद्धवीर सिंह जूदेव का पार्थिव शरीर बैंगलुरू से जशपुर लाया जाएगा। यहां मंगलवार को उनका अंतिम संस्कार किया जाऐगा। स्व. युद्धवीर छत्तीसगढ़ में दो बार चंद्रपुर विधानसभा सीट से विधायक निर्वाचित हुए थे। वे जशपुर जिले में जिला पंचायत उपाध्यक्ष से राजनीति की शुरुआत की थी, इसके बाद वे विधायक, संसदीय सचिव समेत कई महत्वपूर्ण पदों पर रह चुके हैं।

उल्लेखनीय है कि युद्धवीर छत्तीसगढ़ की प्रसिद्ध हस्तियों में से एक थे। वे किसी न किसी बहाने सुर्खियों में रहते थे। 5 महीने पहले भी नवा रायपुर इलाके में हुए हादसे में उनकी जान बाल-बाल बची थी। उस वक्त उनकी गाड़ी के सामने कोई जानवर आ गया था। उसे बचाने के लिए उन्होंने गाड़ी सड़क की दूसरी दिशा में घुमा दी थी. इससे कार डिवाइडर से टकरा गई थी. जुदेव को सीने में हल्की चोट आई थी. इसके बाद वे खुद ही गाड़ी चलाकर मोवा स्थित बालाजी अस्पताल पहुंचे थे।

युद्धवीर फेसबुक व अन्य दूसरे सोशल नेटवर्किंग साइट पर अपने पोस्ट व बयानों को लेकर भी चर्चा में रहे हैं। साल 2019 में उनकी एक एफबी पोस्ट भी वायरल हुई थी। ये पोस्ट उन्होंने खनन से जुड़े उद्योगपतियों के लिए लिखी थी। इस पोस्ट के बाद से सियासी गलियाआरों में चर्चाओं का दौर शुरू हो गया था। उन्होंने फेसबुक पर लिखा था- ‘हमारी चट्टानों को चीरने से पहले अपना जीवन बीमा करवा लें।‘सन्ना क्षेत्र के निवासी, जो मुश्किल वक्त में साथ देते हैं, सुना है कोई हेलीकॉप्टर लगातार ऊपर से गुजर रहा है। सरकार कोई भी हो लेकिन, सतर्क हो जाएं’

उन्होंने 2018 में झीरमघाटी कांड और कांग्रेस नेता स्व. नंदकुमार पटेल को याद किया था। उनकी ये पोस्ट भी चर्चा का विषय बन गई थी। उन्होंने पोस्ट में लिखा था- अगर झीरमघाटी कांड नहीं होता तो स्व. नंदकुमार पटेल आज मुख्यमंत्री होते। झीरम नरसंहार में नंदकुमार पटेल सहित कांग्रेस के कई आला नेताओं की नक्सलियों ने हत्या कर दी थी। तब नंदकुमार पटेल प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष थे। इस बयान को लेकर राजनीतिक गलियारों में चर्चाओं का दौर शुरू हो गया था।