पटना : अखिल भारतीय किसान मजदूर एकता मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष लव कुमार सिंह के नेतृत्व में छह सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल प्रदेश के किसानों की समस्या को लेकर बिहार के राज्यपाल लाल जी टंडन से राजभवन में भेंट कर छह सूत्रीय ज्ञापन सौंपा। राज्यपाल को सौपे गये ज्ञापन में कहा गया कि किसान कर्ज, फसल की बर्बादी, सरकार के वारे के अनुरूप कृषि उत्पाद को लागत का डेढ़ गुणा अतिरिक्त मूल्य नहीं मिलने से परेशान किसान आत्महत्या करने पर मजबूर हैं।

इसलिए अन्य राज्यों की तरह बिहार के किसानों को भी संपूर्ण कर्ज माफ किया जाये। 45 वर्ष से अधिक उम्र के किसानों को किसान पेंशन दिया जाये, स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू किया जाये। कर्ज के बोझ तले दबे किसानों और खुदकुशी करने वाले किसानों के परिजनों को सरकारीन ौकरी दियाजाये। फसलों के उचित मूल्य का निर्धारण हो, धान खरीद के लिए सरकार द्वारा निर्धारित समर्थन मूल्य 1750 रुपया से बढ़ाकर 1850 रुपया किया जाये।

राज्यपाल ने किसानों की समस्याओं का जल्द ही निरस्तारण करने का आश्वासन दिया और कहा कि सरकार द्वारा किसान हित में चलाये जा रहे योजनाओं में बिचौलियों और भ्रष्ट अधिकारियों की लूट-खसोट और मनमानी के खिलाफ जनमानस को खड़ा करें और उन भ्रष्ट अधिकारियों की सूचना राज्य सरकार और राजभवन को दें। ज्ञापन सौंपने वालों में अंजनी कुमार राजू, अमित कुमार विश्वास, चिंटू शर्मा, भूवनेश्वर सिंह और अभिषेक कुमार शामिल थे।