BREAKING NEWS

जम्मू-कश्मीर: महबूबा मुफ्ती की केंद्र से मांग, अलगावादी नेता अल्ताफ शाह को मानवीय आधार पर किया जाए रिहा ◾भारत जोड़ो यात्रा से केंद्र पर वार! राहुल कोरोना पीड़ित परिवार से मिले, बोले- सुविधाओं के नाम पर मिला छल◾शर्मनाक : 8 लोगों ने बारी-बारी किया नाबालिग का रेप, 50 हजार ऐंठने के बाद वायरल किया Video◾राजनाथ सिंह बोले-मेक इन इंडिया पर है रक्षा उत्पादन में हमारी सरकार का जोर◾कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव : खड़गे ने नेता प्रतिपक्ष से दिया इस्तीफा, अब कौन होगा राज्यसभा में LOP?◾खड़गे को अध्यक्ष बनाना गांधी परिवार की बनी मजबूरी, इन दो कारणों ने बिगाड़ा दिग्विजय सिंह का खेल◾देश में 5G सर्विस नए दौर की दस्तक और अवसरों के अनंत आकाश की शुरुआत : मोदी◾पाकिस्तान पर बड़ी डिजिटल स्ट्राइक, भारत में शहबाज सरकार के ट्वीटर पर BAN ◾नीतीश नहीं तेजस्वी यादव के हाथों में होगी बिहार की बागडोर? राजद नेताओं ने कर दिया ऐलान ◾ '... जाके कछु नहीं चाहिए, वे शाहन के शाह', दिग्विजय सिंह के इस tweet के क्या हैं मायने?◾Amazing स्पीड के साथ...No बफरिंग, 10 गुना होगी इंटरनेट की रफ्तार, देश में लॉन्च हुई 5G सर्विस◾दिल्ली : पुरानी आबकारी नीति से मालामाल हुई दिल्ली सरकार, एक महीने में कमाए 768 करोड़◾Pitbull का बढ़ता कहर, अब पंजाब में एक रात एक अंदर 12 लोगों को बनाया शिकार◾RBI Hike Repo Rate : ग्राहकों को लगा बड़ा झटका, रेपो रेट के बाद SBI समेत इन बैंकों में बयाज दर में बढ़ोतरी◾अशोक गहलोत का बड़ा खुलासा, जानिए अंतिम समय में क्यों अध्यक्ष पद चुनाव लड़ने से किया मना◾दिल्ली : हैवानियत का शिकार हुआ मासूम हारा जिंदगी की जंग, LNJP अस्पताल में 14 दिन बाद मौत◾कोविड19 : देश में पिछले 24 घंटो में कोरोना संक्रमण के 3,805 नए मामले दर्ज़, 26 मरीजों मौत ◾अजब प्रेम की गज़ब कहानी : पाकिस्तान की लड़की को हुई नौकर से मोहब्बत, कहा- प्यार अमीर-गरीब नहीं देखता ◾उत्तराखंड : केदारनाथ मंदिर के पास खिसका बर्फ का पहाड़, देखें Video◾LPG Price Update : 25.5 रुपए की कटौती के साथ सस्ता हुआ कमर्शियल LPG गैस सिलेंडर◾

गोवा : चुनाव से पहले मनोहर पर्रिकर के बेटे ने क्यों अपनाए बगावती तेवर? क्या BJP को लगेगा झटका

गोवा में अगले महीने यानी फरवरी में विधानसभा के लिए चुनाव होने हैं। इसको लेकर राज्य में सियासी सरगर्मी भी तेज हो गई है। पूर्व सीएम मनोहर पर्रिकर के बेटे उत्पल पर्रिकर ने चुनावों से ठीक पहले सत्ताधारी बीजेपी को लेकर बगावती रुख अख्तियार कर लिया है। बीजेपी विधायकों के इस्तीफे के बीच उत्पल के तेवर पार्टी के लिए परेशानियां खड़ी कर सकते हैं।

उत्पल पर्रिकर ने पणजी विधानसभा सीट से चुनावी मैदान में उतने का मन बना लिया है। ऐसे में अगर उन्होंने बीजेपी से टिकट नहीं मिलता तो वह निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ सकते हैं। दरअसल, उत्पल पणजी सीट पर अपनी दावेदारी पेश कर रहे हैं। ऐसे में बीजेपी के लिए मुश्किल यह है कि यहां से मौजूदा विधायक बाबूश मोनशेराट टिकट कैसे काटे। बाबूश लोगों के बीच काफी लोकप्रिय हैं साथी ही उनका दबदबा भी अच्छा बताया जाता है।

उत्पल को पणजी सीट देकर BJP के लिए खड़ी हो सकती हैं मुसीबत

उत्पल ने अपने पिता मनोहर पर्रिकर की सीट से पणजी में घर घर जाकर प्रचार करना भी शुरू कर दिया है। 2019 में मनोहर पर्रिकर के निधन के बाद बीजेपी ने इस सीट से सिद्धार्थ श्रीपाद कुंकलिएन्कर को टिकट दिया था।  हालांकि, इस चुनाव में कांग्रेस के बाबुश मोनसेरेट ने जीत हासिल की और बीजेपी से सीट छीन ली।

लेकिन, साल 2019 में बाबुश समेत कांग्रेस के 10 विधायक बीजेपी के खेमे में आ गए। इतना ही नहीं बाबुश की पत्नी जेनिफर को सरकार में अहम राजस्व विभाग दिया गया था। ऐसे में बाबुश इस सीट से मोह खत्म नहीं कर पा रहे और उत्पल भी इसी सीट से चुनावी मैदान में उतरना चाहते हैं।

लेकिन बीजेपी को डर है कि कहीं बाबुश से यह सीट उत्पल को दी गई, तो पार्टी के लिए मुसीबत बन सकती है।दरअसल, बाबुश पणजी से विधायक हैं। उनकी पत्नी तालेगांव से विधायक हैं। उनके बेटे पणजी के मेयर हैं। इतना ही नहीं बाबुश का असर आसपास की 5-6 विधानसभा सीटों पर हैं।

उत्पल ने BJP के खिलाफ खड़े किए सवाल

वहीं उत्पल पर्रिकर ने बीजेपी से सवाल करते हुए कहा कि पार्टी ईमानदारी और चरित्र में विश्वास करती है या नहीं? उत्पल ने पूछा है आपराधिक गतिविधियों में लिप्त व्यक्ति को चुनाव लड़ाना चाहती है। मनोहर पर्रिकर के साथ काम करने वाले सभी बड़े नेता और कार्यकर्ता आज मेरे साथ हैं।