BREAKING NEWS

पूर्वोत्तर और बिहार में बाढ़ से 70 लाख लोग प्रभावित, अब तक 44 की मौत◾अमरिंदर सिंह ने प्रधानमंत्री, विदेश मंत्री से मुलाकात की ◾ओवैसी बोले- डराइए मत, शाह बोले- अगर डर जेहन में है तो क्या करें ◾मोदी ने असम के मुख्यमंत्री से फोन पर बात की, बाढ़ का हाल पूछा ◾Top 20 News -15 July : आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें◾विश्वास मत के दौरान अनुपस्थित रह सकते है कर्नाटक के बागी विधायक ◾ बिहार में बाढ़ का कहर जारी, 55 प्रखंड के 18 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित ◾उदयपुर में बढ़ा तनाव : उग्र भीड़ ने दो रोडवेज बसें फूंकी, पुलिसकर्मियों पर किया पथराव◾लोकसभा में NIA संशोधन विधेयक 2019 को मिली मंजूरी◾सिद्धू के इस्तीफे पर बोले कैप्टन - यदि वह अपना काम नहीं करना चाहते, तो मैं कुछ नहीं कर सकता◾NIA कानून का इस्तेमाल शुद्ध रूप से आतंकवाद को खत्म करने के लिए ही करेंगे : अमित शाह ◾हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल नियुक्त हुए कलराज मिश्रा, आचार्य देवव्रत को भेजा गया गुजरात ◾ओवैसी को शाह की नसीहत, बोले - सुनने की भी आदत डालिए साहब, इस तरह से नहीं चलेगा◾बीजेपी ने CM कुमारस्वामी के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने की मांग की ◾सूरत रेप मामले में सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की आसाराम की जमानत याचिका◾इलाहाबाद हाई कोर्ट से अगवा हुए युवक-युवती फतेहपुर से बरामद, अपहरणकर्ता गिरफ्तार ◾इलाहाबाद HC का आदेश, BJP विधायक की बेटी साक्षी और अजितेश को मिलेगी सुरक्षा◾बागी कर्नाटक विधायकों ने फिर लिखा पुलिस को पत्र, कहा- कांग्रेसी नेताओं से खतरा ◾हिमाचल प्रदेश के सोलन में इमारत ढही , 6 जवान समेत सात लोगों की मौत◾चंद्रयान-2 का काउंटडाउन रोका गया , जल्द ही नई तारीख का होगा ऐलान !◾

अन्य राज्य

दस मई को खुलेंगे भगवान ब्रदीनाथ धाम के कपाट

नई टिहरी : बसंत पंचमी के पावन पर्व पर बद्रीनाथ धाम के कपाट खोलने की तिथि घोषित की गई। नरेंद्र नगर राजमहल में पूजा पाठ के बाद ग्रह नक्षत्रों को देखते हुए तीर्थ पुरोहित ने कपाट खोलने की तिथि की घोषणा की। बदरी विशाल के कपाट 10 मई को सुबह 4 बजकर 15 मिनट पर पूरे विधान के साथ खोले जाएंगे। जिसके बाद श्रद्धालु भगवान बदरीनाथ के दर्शन कर सकेंगे। गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के कपाट अक्षय तृतीया को खोले जायेंगे। जबकि केदारनाथ धाम के कपाट खोलने का शुभ मुहूर्त शिवरात्रि के दिन उखीमठ में तय किया जाएगा।

इस अवसर पर टिहरी सांसद महारानी माला राजेलक्ष्मी शाह, मंदिर समिति के अध्यक्ष मोहन प्रसाद थपलियाल, रावल इश्वर प्रसाद नंबोदरी, मुख्य कार्याधिकारी डीबी सिंह, धर्माधिकारी भुवन चंद्र उनियाल, आसुतोष डिमरी, टीका प्रसाद डिमरी, हेमचंद डिमरी, सुधीर डिमरी, दिनेश डिमरी के अलावा काफी संख्या में नगर के लोग मौजूद रहे। वहीं बदरी-केदार मंदिर समिति के धर्मधिकारी ने बताया की कपाट खुलने की तिथि निकलने के साथ ही चारधाम यात्रा की तैयारियां शुरू कर दी जाती हैं।

उन्होंने कहा की यात्रियों की सुविधा के लिए सभी तरह के प्रयास किये जा रहे हैं। उन्होंने बताया की इस बार बद्रीनाथ धाम में बहुत अधिक बर्फबारी हुई है। जिसके कारण आसपास के पहाड़ियों में पूरी तरह से बर्फ जमी है। जिसका इस बार यात्री आनंद ले सकते हैं। उन्होंने कहा कि उनका प्रयास रहेगा कि यात्रियों को बेहतर से बेहतर सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाये।

तिलों का तेल निकालने की रस्म 24 अप्रैल को राजमहल पूरी होगी : रविवार को बसंत पंचमी पर्व पर सुबह करीब साढ़े दस बजे राजमहल में विधिवत पूजा-अर्चना शुरू की गई। पूजा में राजा मनुजेंद्र शाह के प्रतिनिधि के तौर पर उनकी बेटी श्रीजा शामिल हुई। करीब एक घंटे तक पूजा चली इसके बाद पंडित कृष्ण प्रसाद उनियाल ने पंचांग व गणेश पूजा के बाद राजा की ओर से बद्रीनाथ धाम के कपाट खोलने की घोषणा की।