BREAKING NEWS

कर्नाटक उपचुनाव में 62.18 प्रतिशत मतदान, 12 सीटों पर त्रिकोणीय मुकाबला ◾प्याज को लेकर भाजपा सांसद ने कांग्रेस पर कसा तंज ◾मोदी को तानाशाह के रूप में बदनाम करने की साजिश : स्वामी◾आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री पहुंचे दिल्ली, मिलेंगे प्रधानमंत्री एवं केंद्रीय मंत्रियों से ◾उन्नाव बलात्कार पीड़िता दिल्ली हवाई अड्डे पहुंची, पुलिस ने अस्पताल तक बनाया ग्रीन कॉरीडोर ◾अनुच्छेद 370 : लाइव स्ट्रीमिंग संबंधी याचिका पर सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट◾हफ्ते भर बाद भी मंत्रियों को नहीं मिला विभाग, भाजपा ने की आलोचना ◾बैंक धोखाधड़ी : ईडी ने रतुल पुरी की जमानत अर्जी का किया विरोध◾राहुल गांधी ने प्याज पर सीतारमण के बयान को लेकर तंज कसा ◾TOP 20 NEWS 05 December : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾PNB घोटाला : नीरव मोदी भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित ◾DTC और क्लस्टर बसों में लगेंगे CCTV कैमरे, पैनिक बटन, GPS : केजरीवाल ◾मायावती ने केंद्र द्वारा लाए गए नागरिकता संशोधन विधेयक को बताया विभाजनकारी और असंवैधानिक◾चिदंबरम ने पहले ही दिन जमानत की शर्तों का उल्लंघन किया: प्रकाश जावड़ेकर◾अर्थव्यवस्था पर असामान्य रूप से मौन हैं PM मोदी, सरकार को नहीं कोई खबर : चिदंबरम ◾रेपो दर में नहीं हुआ कोई बदलाव, RBI ने GDP ग्रोथ अनुमान घटाकर किया 5 फीसदी◾वायनाड में बोले राहुल- PM मोदी और अमित शाह ‘काल्पनिक’ दुनिया में जी रहे हैं इसलिए देश संकट में है◾जेल से बाहर आते ही एक्शन में दिखे चिदंबरम, संसद परिसर में मोदी सरकार के खिलाफ किया प्रदर्शन◾प्रियंका ने योगी सरकार पर साधा निशाना, कहा- प्रदेश में कानून व्यवस्था बेहतर होने के फर्जी प्रचार से बाहर निकलना चाहिए◾महाराष्ट्र में शिवसेना को बड़ा झटका, भाजपा में शामिल हुए 400 पार्टी कार्यकर्ता◾

अन्य राज्य

आदिवासीऔर अल्पसंख्यक युवाओं का विकास सरकार का लक्ष्य : रघुवर

 1008

झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने आज कहा कि उनकी सरकार का लक्ष्य आदिवासी, दलित, जनजाति और अल्पसंख्यक समुदाय के युवाओं का विकास करना है। श्री दास ने यहां भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) की दूसरे आदिवासी विकास सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि जल, जंगल और जमीन के नाम पर आदिवासियों को बरसों गुमराह किया है। 

पिछले साढ़ चार साल में उनके विकास की मजबूत शुरुआत हुई। आदिवासी, दलित और अल्पसंख्यक समाज के युवाओं को राज्य सरकार विकसित समाज की श्रेणी में लाने के लिए कार्य कर रही है। ऐसे समुदाय के लोग भी भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) में जाएं, चिकित्सक बनें, इंजीनियर बनें, जो चाहे बनें। जो आदिवासी युवा आईएस की तैयारी करना चाहते हैं, सरकार उन्हें एक लाख रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान करेगी। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि उद्योग लगाने वाले युवाओं को 50 प्रतिशत रियायती दर पर जमीन सरकार देगी। शेष 50 प्रतिशत राशि भी पांच साल में 10 किस्तों में उन्हें चुकाना होगा, जिसपर कोई ब्याज सरकार नहीं लेगी। उन्होंने कहा कि इन समुदायों के कल्याण के लिये सरकार आदिवासी वित्त निगम, पिछड़ वित्त निगम, अल्पसंख्यक वित्त निगम और अनुसूचित वित्त निगम को पांच-पांच करोड़ रुपये देगी।

 उन्होंने कहा कि उनकी सरकार का लक्ष्य आदिवासी, दलित, जनजाति और अल्पसंख्यक समुदाय के युवाओं का विकास करना है।

झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने आज कहा कि उनकी सरकार का लक्ष्य आदिवासी, दलित, जनजाति और अल्पसंख्यक समुदाय के युवाओं का विकास करना है। 

श्री दास ने यहां भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) की दूसरे आदिवासी विकास सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि जल, जंगल और जमीन के नाम पर आदिवासियों को बरसों गुमराह किया है। पिछले साढ़ चार साल में उनके विकास की मजबूत शुरुआत हुई। 

आदिवासी, दलित और अल्पसंख्यक समाज के युवाओं को राज्य सरकार विकसित समाज की श्रेणी में लाने के लिए कार्य कर रही है। ऐसे समुदाय के लोग भी भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) में जाएं, चिकित्सक बनें, इंजीनियर बनें, जो चाहे बनें। जो आदिवासी युवा आईएस की तैयारी करना चाहते हैं, सरकार उन्हें एक लाख रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान करेगी। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि उद्योग लगाने वाले युवाओं को 50 प्रतिशत रियायती दर पर जमीन सरकार देगी। शेष 50 प्रतिशत राशि भी पांच साल में 10 किस्तों में उन्हें चुकाना होगा, जिसपर कोई ब्याज सरकार नहीं लेगी। उन्होंने कहा कि इन समुदायों के कल्याण के लिये सरकार आदिवासी वित्त निगम, पिछड़ वित्त निगम, अल्पसंख्यक वित्त निगम और अनुसूचित वित्त निगम को पांच-पांच करोड़ रुपये देगी। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार का लक्ष्य आदिवासी, दलित, जनजाति और अल्पसंख्यक समुदाय के युवाओं का विकास करना है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि भू संपदा, मानव संसाधन, 40 प्रतिशत खनिज, सरल सीधे लोग झारखंड के पास हैं। यहां संसाधन की कोई कमी नहीं, कोई कारण नहीं कि राज्य गरीब रहे। बस इन सब में समन्वय स्थापित कर कार्य करने की जरूरत है। आदिवासियों ने राज्य की संस्कृति को संभाला है। ऐसे समाज के प्रति सरकार की भी जिम्मेदारी है कि उन्हें आगे लाया जाए। इस कार्य में युवा शक्ति बड़ भूमिका निभा सकता है, जो हमारे पास कीमती संसाधन के रूप में मौजूद है। 

श्री दास ने कहा, ‘‘हमारे पास उद्देश्य है, सामर्थ्य है, संभावना है और संयोग भी। इन सब का उपयोग कर हम कैसे सर्वांगीण विकास की ओर अग्रसर हो सकते हैं। 

यह हम सभी को मिलकर सोचने की जरूरत है।‘‘ इस अवसर पर पदमश्री सह दलित इंडियन चैम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री के अध्यक्ष मिलिंद काम्बले, सचिव उद्योग के रवि कुमार, ट्राइबल इंडियन चैम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री के अध्यक्ष खेलाराम मुर्मू, सीआईआई के उपाध्यक्ष संजय सभरवाल, डिक्की ईस्टर्न जोन के अध्यक्ष राजेन्द, कुमार, सीआईआई झारखंड कौशल विकास की सह-संयोजक प्रीति सहगल, सीआईआई झारखंड स्टेट काउंसिल के अध्यक्ष नीरज कांत, सीआईआई झारखंड के प्रमुख इंद्रनील घोष, अनुसूचित जाति, दलित समाज के उद्यमी एवं अन्य उपस्थित थे।