BREAKING NEWS

रजनीकांत, हासन ने तमिलनाडु की भलाई के लिए हाथ मिलाने के दिए संकेत◾जम्मू कश्मीर में जल्द से जल्द राजनीतिक गतिविधियां बहाल होनी चाहिये : राम माधव ◾पाक नापाक हरकतें करता रहता है : राजनाथ ◾पाक नापाक हरकतें करता रहता है : राजनाथ ◾सोनिया ने दिल्ली के वायु प्रदूषण पर चिंता जताई ◾लोकसभा में उठा प्रदूषण का मुद्दा: पराली जलाने के बजाय वाहनों, उद्योगों को ठहराया गया जिम्मेदार . संसद ◾विदेश मंत्री एस जयशंकर पहुंचे श्रीलंका , नये राष्ट्रपति से करेंगे मुलाकात◾आप' के साथ दिल्ली के 'वाटर-वार' में कूदे पासवान◾दिल्ली में भूकंप के झटके, रिक्टर स्केल पर 5.0 रही तीव्रता◾TOP 20 NEWS 19 November : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾अयोध्या फैसले पर ओवैसी फिर बोले- SC का फैसला किसी भी तरह से ‘पूर्ण न्याय’ नहीं ◾भाजपा के कार्यकर्ताओं ने CM केजरीवाल के गुमशुदगी पोस्टर लगाए, किया प्रदर्शन ◾ममता बनर्जी के 'अल्पसंख्यक अतिवादी' वाले बयान पर ओवैसी ने किया पटलवार ◾JNU विवाद : जीवीएल नरसिम्हा बोले-नर्सरी में एक लाख फीस देने वालों को उच्च शिक्षा के लिए 50 हजार देने में दिक्कत क्यों◾आर्थिक मंदी को लेकर 30 नवंबर को कांग्रेस की होने वाली रैली स्थगित हुई ◾महाराष्ट्र सरकार गठन पर सोनिया के घर हुई बैठक, अहमद, एंटनी और खड़गे भी हुए शामिल◾सांसदों ने आसन के समीप आकर की नारेबाजी, लोकसभा अध्यक्ष ने दी चेतावनी◾राज्यसभा मार्शल्स की नई वर्दी पर उठे सवाल, वैंकेया नायडू ने पुनर्विचार के दिए आदेश◾मायावती ने प्रदूषण पर जताई चिंता, कहा- संसद में चर्चा के बाद ठोस नीति बनाए सरकार ◾हंगामे के बाद राज्यसभा दोपहर 2 बजे तक के लिए स्थगित, लोकसभा में किसानों के मुद्दे को लेकर विपक्ष ने की नारेबाजी◾

अन्य राज्य

जनता की भाषा को बढ़ावा दे रही है सरकार

रांची : मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि झारखंड में जनता का राजपाट है, इसलिए सरकार यहां जनता की भाषा को बढ़ावा दे रही है। सरकार ने संथालए कुडुख समेत अन्य स्थानीय भाषाओं को बढ़ावा दिया है। राज्य में मैथिली, अंगिका, भोजपुर के समाज के कई लोग रहते हैं। इनकी वर्षों पुरानी मांग को देखते हुए सरकार ने इन भाषाओं को द्वितीय राजभाषा का दर्जा दिया है।

उक्त बातें मुख्यमंत्री ने झारखंड मिथिला मंच द्वारा आयोजित मिथिला महोत्सव 2018 के अवसर पर कहीं। मुख्यमंत्री ने कहा कि भाषा जोडऩे का काम करती है। हमारी देश की संस्कृतिए भाषा और प्रकृति पुरानी है। इसकी जड़े काफी मजबूत है। यही कारण है कि 600 सालों की गुलामी के बाद भी हमारी भाषाए संस्कृति और परंपरा को कोई मिटा नहीं सका है। अब हमारी जिम्मेदारी है कि आने वाली पीढ़ी को हम इसे सौंपे।

झारखंड मिथिला मंच का आयोजन इस कड़ी में महत्वपूर्ण सहयोग करेगा। मुख्यमंत्री श्री दास ने कहा कि अपनी भाषा के संवर्धन के साथ ही सबसे पहले हमें अपने देश के प्रति निष्ठा रखनी है। आपस में लड़ते रहे तो हमारा देश फिर से गुलाम बन जाएगा। हमें अपने इतिहास से सीखने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि मिथिला समाज की पेंटिंग विश्व प्रसिद्ध है। समाज इसे बढ़ाने के लिए बच्चों के बीच प्रतियोगिता कराए।

उन्होंने कहा कि झारखंड में कोई भी प्रवासी नहीं है। 1 अप्रैल 1985 के पूर्व बसे सभी व्यक्ति झारखंड वासी है। हमारी सरकार ने स्थानीय नीति को परिभाषित कर दिया है। कार्यक्रम में नगर विकास मंत्री सीपी सिंह, बिहार सरकार के मंत्री विनोद नारायण झा, हटिया विधायक नवीन जायसवाल, झारखंड मिथिला मंच के अध्यक्ष श्रीपाल झा समेत बड़ी संख्या में गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

देश और दुनिया का हाल जानने के लिए जुड़े रहे पंजाब केसरी के साथ