BREAKING NEWS

दिल्ली हिंसा : आप पार्षद ताहिर हुसैन के घर से मिले पेट्रोल बम और एसिड, हिंसा भड़काने की थी पूरी तैयारी ◾दिल्ली हिंसा : SIT करेगी हिंसा की जांच, मामला अपराध शाखा को भेजा गया ◾TOP 20 NEWS 27 February : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾T20 महिला विश्व कप : भारत ने लगाई जीत की हैट्रिक, शान से पहुंची सेमीफाइनल में ◾पार्षद ताहिर हुसैन पर लगे आरोपों पर बोले केजरीवाल : आप का कोई कार्यकर्ता दोषी है तो दुगनी सजा दो ◾दिल्ली हिंसा में मारे गए लोगों के परिवार को 10-10 लाख का मुआवजा देगी केजरीवाल सरकार◾दिल्ली में हुई हिंसा का राजनीतिकरण कर रही है कांग्रेस और आम आदमी पार्टी : प्रकाश जावड़ेकर ◾दिल्ली हिंसा : केंद्र ने कोर्ट से कहा-सामान्य स्थिति होने तक न्यायिक हस्तक्षेप की जरूरत नहीं ◾ताहिर हुसैन को ना जनता माफ करेगी, ना कानून और ना भगवान : गौतम गंभीर ◾सीएए हिंसा : चांदबाग इलाके में नाले से मिले दो और शव, मरने वालो की संख्या बढ़कर 34 हुई◾दिल्ली हिंसा को लेकर कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल ने राष्ट्रपति को सौंपा ज्ञापन, गृह मंत्री को हटाने की हुई मांग◾न्यायधीश के तबादले पर बोले रणदीप सुरजेवाला : भाजपा की दबाव और बदले की राजनीति का हुआ पर्दाफाश ◾दिल्ली हिंसा : दंगाग्रस्त इलाकों में दुकानें बंद, शांति लेकिन दहशत का माहौल ◾जज मुरलीधर के ट्रांसफर पर बोले रविशंकर- कोलेजियम की सिफारिश पर हुआ तबादला ◾उत्तर-पूर्वी दिल्ली में सीएए को लेकर हुई हिंसा में मरने वालों का आकंड़ा 32 पहुंचा◾दिल्ली हिंसा : जज मुरलीधर के ट्रांसफर को कांग्रेस ने बताया दुखद और शर्मनाक◾दिल्ली हिंसा मामले पर सुनवाई कर रहे जस्टिस एस मुरलीधर का हुआ तबादला ◾दिल्ली हिंसा में मारे गए अंकित शर्मा के परिवार ने AAP पार्षद ताहिर हुसैन पर लगाए गंभीर आरोप◾कांग्रेस ने प्रधानमन्त्री मोदी पर कसा तंज, कहा- अगर शाह पर भरोसा नहीं तो बर्खास्त क्यों नहीं करते◾दिल्ली हिंसा में शामिल 106 लोग गिरफ्तार सहित 18 एफआईआर दर्ज, दिल्ली पुलिस ने जारी किए हेल्पलाइन नंबर◾

मुख्यमंत्री से रिश्ते सुधारने की कोशिश करते दिखे राज्यपाल धनखड़, लेकिन कुछ नहीं बोलीं ममता बनर्जी

कोलकाता : पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से अपने गतिरोध को समाप्त करने का प्रयास करते हुए उनसे यहां गणतंत्र दिवस समारोह में मुख्यमंत्री के घेरे में अपनी पत्नी के लिए एक सीट आरक्षित करने का अनुरोध किया था। हालांकि अधिकारियों ने प्रोटोकॉल का हवाला देते हुए इससे इनकार कर दिया था। 

राज्य सचिवालय में एक उच्च पदस्थ अधिकारी ने सोमवार को बताया कि सरकार को राजभवन से राज्य की प्रथम महिला नागरिक को रेड रोड पर गणतंत्र दिवस के मुख्य समारोह में मुख्यमंत्री के लिए बनाये गये घेरे में बैठने की अनुमति देने का अनुरोध प्राप्त हुआ था। आईएएस अधिकारी ने नाम जाहिर नहीं होने के अनुरोध के साथ कहा, ‘‘बंदोबस्त करने का अनुरोध किया गया था ताकि प्रथम महिला नागरिक की सीट मुख्यमंत्री के पास हो। लेकिन कुछ प्रोटोकॉल की वजह से यह नहीं हो सका।’’ 

रविवार को समारोह संपन्न होने के बाद धनखड़ को बनर्जी से संक्षिप्त बातचीत करते हुए देखा गया था। राज्यपाल ने अपनी और पत्नी सुदेश की बनर्जी के साथ कुछ तस्वीरें भी ट्विटर पर डालीं। धनखड़ ने समारोह के बाद ट्वीट किया था, ‘‘परेड समाप्त होने के बाद राज भवन के लिए रवाना होने से पहले की कुछ तस्वीरें। किसी भी तरह का संवाद ही सकारात्मक दिशा में बढ़ा सकता है।’’ शाम को बनर्जी ने राज भवन में ‘एट होम’ समारोह में हिस्सा लिया और दोनों के बीच बातचीत की झलकियां देखने को मिलीं। 

समारोह की शुरूआत में राष्ट्रगान की धुन बजने के बाद धनखड़ दंपती और बनर्जी साथ में बैठे, लेकिन कुछ मिनट बाद मुख्यमंत्री राज्य सरकार के शीर्ष अधिकारियों से घिरे एक कोने में जाकर बैठ गयीं। ‘एट होम’ समाप्त होने तथा राष्ट्रगान की धुन बजने के बाद बनर्जी धनखड़ के पास गयीं। बनर्जी के वहां से निकलने से पहले धनखड़ ने उनसे किसी दिन चाय या कॉफी पर बातचीत के लिए आने का आमंत्रण दिया। 

बनर्जी ने चेहरे पर बड़ी सी मुस्कराहट लाते हुए मुख्य सचिव राजीव सिन्हा की ओर देखा। हालांकि उन्होंने मुलाकात के लिए कोई समय तय नहीं किया। धनखड़ ने समारोह की कुछ तस्वीरें डालते हुए ट्वीट किया, ‘‘राज भवन में आयोजित समारोह से मुख्यमंत्री के प्रस्थान करते समय के कुछ क्षण। उनकी रवानगी के समय संकेत दिया कि हमें व्यापक हित में जल्द संवाद शुरू करना चाहिए। उम्मीद है कि जल्द ऐसा होगा।’’