BREAKING NEWS

कांग्रेस ने केंद्र को कोसा - कोरोना से उजड़े परिवारों का हक मार रही है मोदी सरकार◾BJP मंत्री का विवादित बयान- राम और कृष्ण हैं मुस्लिमों के पूर्वज, उन्हें 'भारतीय संस्कृति' को करना चाहिए नमन ◾किसान नेता राकेश टिकैत का जो बाइडेन को संदेश- पीएम मोदी के साथ करें हमारे मसले पर बात◾दिल्ली : रोहिणी कोर्ट परिसर में गैंगवॉर, फायरिंग में 3 की मौत, कई घायल◾UP विधानसभा चुनाव 2022 : मैदान में साथ उतरेगी BJP और निषाद पार्टी, गठबंधन का हुआ ऐलान◾महंत नरेंद्र गिरि केस : आनंद गिरि ने बताया था अपनी जान को खतरा, जेल में नियमानुसार मिलेगी सुरक्षा◾कैप्टन अमरिंदर को रास नहीं आई गहलोत की सलाह, बोले-'राजस्थान संभालो, पंजाब को छोड़ो'◾World Corona : दुनियाभर में संक्रमितों का आंकड़ा 23.05 करोड़ के पार, 47.2 लाख से अधिक लोगों की मौत ◾पंजाब में जल्द हो सकता है कैबिनेट विस्तार, राहुल-प्रियंका संग CM चन्नी का मंथन◾शेयर बाजार ने रचा इतिहास, Sensex 60 हजार अंक के पार, Nifty 18 हजारी होने को बेताव◾अफगानिस्तान में लोगों को अपनी जमीनें छोड़ने को मजबूर कर रहा तालिबान, जल्द पैदा हो जायेगा मानवीय संकट ◾देश में पिछले 24 घंटों में आए कोरोना संक्रमण के 31382 नए मामले, 318 लोगों की मौत◾SC में सरकार का बयान- नहीं होगी जातिगत गिनती, OBC जनगणना का काम प्रशासनिक रूप से कठिन◾पीएम मोदी ने की अमेरिकी उपराष्ट्रपति कमला हैरिस से मुलाकात, भारत आने का दिया न्योता◾अमेरिकी दौरे के दूसरे दिन आज होगी PM मोदी और बाइडेन के बीच पहली मुलाकात, जानें किन मुद्दों पर होगी बात◾प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अमेरिका में ऑस्ट्रेलियाई समकक्ष से मुलाकात की◾कोलकाता नाइट राइडर्स ने मुंबई इंडियंस को सात विकेट से हराया◾मोदी ने की अमेरिकी सौर पैनल कंपनी प्रमुख के साथ भारत की हरित ऊर्जा योजनाओं पर चर्चा◾सेना की ताकत में होगा और इजाफा, रक्षा मंत्रालय ने 118 अर्जुन युद्धक टैंकों के लिए दिया आर्डर ◾असम के दरांग जिले में पुलिस और स्थानीय लोगों के बीच में झड़प, 2 प्रदर्शनकारियों की मौत,कई अन्य घायल◾

‘‘लव जिहाद’’ के खिलाफ गुजरात सरकार लाई कानून, कड़ी सजा देने वाले विधेयक को राज्यपाल ने दी मंजूरी

गुजरात के राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने उस संशोधन विधेयक को अपनी मंजूरी दे दी है, जिसमें धोखाधड़ी से या विवाह करके जबरन धर्म परिवर्तन के लिए दस साल तक की जेल की सजा का प्रावधान है। यह जानकारी राज्य के एक मंत्री ने शनिवार को दी।

गुजरात राज्य के विधायी और संसदीय मामलों के मंत्री भूपेंद्र सिंह चूडास्मा ने एक बयान में कहा कि गुजरात धार्मिक स्वतंत्रता (संशोधन) विधेयक, 2021 को इस साल एक अप्रैल को राज्य विधानसभा द्वारा पारित किया गया था। इस विधेयक को राज्यपाल ने सात अन्य विधेयकों के साथ मंजूरी दे दी है। 

इसके साथ ही राज्यपाल ने उन सभी 15 विधेयकों को मंजूरी दे दी है, जिन्हें विधानसभा के बजट सत्र के दौरान पारित किया गया था, क्योंकि उन्होंने इससे पहले सात अन्य विधेयकों को भी मंजूरी दी थी। संशोधित धार्मिक स्वतंत्रता विधेयक के अनुसार, ‘‘विवाह के जरिये जबरन धर्म परिवर्तन, या किसी व्यक्ति की शादी कराकर, या किसी व्यक्ति को शादी करने में सहायता करने पर तीन से पांच साल की कैद और 2 लाख रुपये तक का जुर्माना लगाया जा सकता है।

यदि पीड़ित नाबालिग, महिला, दलित या आदिवासी है, तो इसके लिए उल्लंघनकर्ता व्यक्ति को चार से सात साल की कारावास और कम से कम 3 लाख रुपये का जुर्माना हो सकता है। यदि कोई संगठन कानून का उल्लंघन करता है, तो प्रभारी व्यक्ति को न्यूनतम तीन वर्ष कारावास और अधिकतम दस वर्ष कैद की सजा हो सकती है। इस साल 14 फरवरी को वडोदरा में एक चुनावी रैली के दौरान राज्य के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने कहा था कि उनकी सरकार राज्य में ‘‘लव जिहाद’’ के खिलाफ सख्त कानून लाएगी।

उन्होंने कहा था, ‘‘हम विधानसभा में ‘लव जिहाद’ के खिलाफ एक कानून लाने जा रहे हैं। ‘लव जिहाद’ के नाम पर की जा रही इस तरह की गतिविधियों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा...भाजपा सरकार आने वाले दिनों में ‘लव जिहाद’ के खिलाफ सख्त कानून लाएगी।’’ गुजरात से पहले, भाजपा शासित मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश ने भी विवाह के माध्यम से ‘‘धोखे से’’ धर्मांतरण पर प्रतिबंध लगाने के लिए इसी तरह के कानून बनाए हैं। 

राज्यपाल द्वारा अनुमोदित अन्य विधेयकों में गुजरात पेशेवर चिकित्सा शिक्षा कॉलेज या संस्थान (प्रवेश का विनियमन और शुल्क का निर्धारण) (संशोधन) विधेयक, गुजरात पंचायत (संशोधन) विधेयक, गुजरात अचल संपत्ति हस्तांतरण निषेध और अशांत क्षेत्रों में परिसर से किरायेदारों के संरक्षण प्रावधान (संशोधन) विधेयक, गुजरात निजी विश्वविद्यालय (संशोधन) विधेयक, गुजरात माध्यमिक और उच्चतर माध्यमिक शिक्षा (संशोधन) विधेयक, गुजरात नैदानिक ​​प्रतिष्ठान (पंजीकरण और विनियमन) विधेयक और सीआरपीसी (गुजरात संशोधन) विधेयक शामिल हैं।