BREAKING NEWS

Tamil Nadu: मुख्यमंत्री स्टालिन ने द्रमुक अध्यक्ष पद के लिए दाखिल किया नामांकन◾सजा पूरी होने के बावजूद 6 भारतीय कैदियों को मार चुका हैं पाकिस्तान, भारत ने जताई चिंता◾अमेरिका की अपने नागरिकों को सलाह, कहा -पाकिस्तान जाने से करे परहेज, हो सकता हैं आतंकी हमला ◾कांग्रेस ने केंद्र पर कसा तंज, कहा- गरीबी भयावह रूप ले रही है और सरकार बेख़बर है◾नशे में धुत कांग्रेस के दो विधायकों ने चलती ट्रेन में महिला से की बदसलूकी, रिपोर्ट दर्ज ◾अधिकार कार्यकर्ता एलेस बियालियात्स्की को शांति का नोबेल पुरस्कार, रूसी समूह व यूक्रेन संगठन का भी नाम◾ अफ्रीका से पहले 'कफ सीरफ' जम्मू कश्मीर में लील चुका हैं 12 मासूम की जान, NHRC ने ठोका था 36 लाख का जुर्माना ◾ज्ञानवापी : शिवलिंग की कार्बन डेटिंग पर टला फैसला, 11 अक्टूबर को होगी अगली सुनवाई◾चरमपंथ से शिक्षा का मंदिर स्कूल भी अछूता नहीं, मरम्मत के पैसे से कट्टरपंथी प्राचार्य ने बनवा दी मजार◾आदेश गुप्ता ने केजरीवाल पर साधा निशाना, कहा- AAP का इतिहास हमेशा से ही हिंदू धर्म के अपमान करने का रहा ◾पाकिस्तान में बाढ़ से हाहाकार! नहीं थम रहा प्रकोप, मरने वालों की संख्या इतने हजारों तक पहुंची ◾ हरियाणा उपचुनाव : आदमपुर जीतने के लिए 'आप' ने झोंकी ताकत, प्रचार के लिए भारी संख्या में उतारेंगी विधायक ◾लद्दाख : भूस्खलन की चपेट में आए सेना के तीन वाहन, 6 जवानों की मौत◾एंटीलिया मामले में सचिन वाजे पर UAPA के तहत चलेगा केस, दिल्ली HC ने खारिज की याचिका ◾हिंदुओं पर हमलों करने वालों के खिलाफ संयुक्त होकर लड़ना होगा - सांसद स्टारर ◾क्या है कर्नाटक में कांग्रेस का 'प्लान 60'? 'भारत जोड़ो यात्रा' में सोनिया के शामिल होने का खुला राज◾BJP सांसद की याचिका पर JMM नेता शिबू सोरेन को दिल्ली हाई कोर्ट का नोटिस◾केजरीवाल के मंत्री पर बीजेपी ने लगाया बड़ा आरोप, कहा - राम और कृष्ण की पूजा ना करने की दिलाई शपथ◾दिल्ली : केंद्रीय विद्यालय में 11 साल की छात्रा के साथ गैंगरेप, आरोपियों के खिलाफ POCSO एक्ट के तहत केस दर्ज◾गहलोत गुट के मंत्रियों पर सोनिया गांधी ने दिखाई नरमी, फिर टूटेगा पायलट का सपना?◾

Hanuman Chalisa: लाउडस्पीकर विवाद के बीच बढ़ी उर्दू में लिखी हनुमान चालीसा की मांग, लोगों में बढ़ रहा है इसका क्रेज

हिजाब, अजान  और हनुमान चालीसा  के बीच अब मध्य प्रदेश  के इंदौर में उर्दू हनुमान चालीसा की एंट्री हो गई है। इंदौर में उर्दू में लिखी हनुमान चालीसा, सुंदरकांड और रामायण की मांग अचानक बढ़ गई है और यही बात हमारे देश की अनेकता में एकता को दर्शाती है। साथ ही सभी को मिल-जुल कर रहना और सभी धर्मों का सम्मान करना सिखाती है।कोई चाहे कितनी भी राजनैतिक रोटियां सेक ले, लेकिन हमारे देश कि संस्कृति में अनेकता में एकता का परिदृश्य हमेशा ही देखने को मिलता रहेगा।

उर्दू में लिखी हनुमान चालीसा की जबरदस्त डिमांड

 इंदौर शहर में उर्दू भाषा में लिखी हनुमान चालीसा और सुंदरकांड की अचानक से मांग बढ़ गई है। पहले जहां एक दिन में 200 के आसपास धार्मिक पुस्तक बिकती थी। वहीं पिछले कुछ दिनों से इन किताबों कि मांग दोगुनी हो गई है।मजे की बात ये है कि उर्दू में लिखी गई ये किताब हनुमान चालीसा, सुंदरकांड और रामायण हैं। किताब को पहली मर्तबा देखने पर आपको लगेगा कि यह कोई मुस्लिम किताब है। लेकिन हकीकत में ये हिंदू धार्मिक पुस्तकें हैं जिन्में उर्दू में लिखा गया है।

ये लोग हैं  उर्दू भाषा में हनुमान चालीसा के खरीदार 

 किताबों को बेचने वाले दुकान संचालक सरदार लाल बहादुर कनेजा ने बताया कि पंजाब के सिंध प्रदेश से विस्थापित लोग जिन्होंने इंदौर में शरण ली थी उन्हें यहां की नागरिकता में मिल चुकी है। यह इस समुदाय के लोग वर्षों तक पाकिस्तान में रहे इसलिए इन्हें उर्दू भाषा में बोलना और पढ़ना हिंदी की अपेक्षा ज्यादा सरल लगता है। इसलिए इस समुदाय के लोग उर्दू भाषा में हनुमान चालीसा, रामायण और सुंदर कांड खरीदने आते हैं। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि गीता भी उर्दू में लिखी हुई है। पिछले कुछ दिनों से इन किताबों की डिमांड ज्यादा बढ़ गई है। पिछले कई सालों कि अपेक्षा पिछले कुछ महीनों में युवाओं ने सबसे ज्यादा हनुमान चालीसा खरीदी है। युवा पीढ़ी हनुमान से जुड़ती ज्यादा दिखाई दे रही है।