हरिद्वार : बार-बार पुलिस एवं व्यापारियों के बीच शहर की यातायात व्यवस्था सुधारने को लेकर मंथन किया जा चुका है, हालांकि व्यापारियों ने पुलिस को सहयोग करने की बात कही थी। इसके बाद पोस्ट आफिस एवं बड़ा बाजार सति अन्य बाजार और हरकी पौड़ी को पूरी तरह से जीरो जोन घोषित किया गया। मेन बाजार में दिन के समय भी जीरो जोन लागू किया गया और पोस्ट आफिस से लेकर हरकी पौड़ी तक शाम को आरती के समय दो पहिया वाहनों का प्रवेश भी प्रतिबंध कर दिया गया था।

कुछ दिनों तक यह व्यवस्था लागू रही, लेकिन फिर नगर पुलिस लापरवाह हो गई। अब इन बाजारों में किसी भी समय बड़े वाहन आसानी से घुस जाते हैं। इन वाहनों से पूरे दिन बाजारों में जाम की स्थिति बनी रहती है। इसी तरह हाईवे के किनारे खड़े होने वाले वाहनों के खिलाफ अभियान चलाया गया था। अब एक बार फिर चौपहिया वाहन हरिद्वार-दिल्ली हाईवे और देहरादून-दिल्ली हाईवे के दोनों तरफ खड़े होने लगे हैं। लेकिन पुलिस प्रशासन मौन साधे हुए है।

धनतेरस के चलते दिल्ली एनसीआर भीषण जाम की गिरफ्त में, घंटो से फसें मुसाफिर