BREAKING NEWS

काले कपड़ों में कांग्रेस के प्रदर्शन पर PM मोदी ने कसा तंज, कहा- जनता भरोसा नहीं करेगी...◾जब नीतीश कुमार ने कहा था - येन केन प्रकारेण सत्ता प्राप्त करूंगा, लेकिन अच्छा काम करूंगा◾न्यायमूर्ति यू यू ललित होंगे सुप्रीमकोर्ट के नए प्रधान न्यायधीश ◾दिग्गज कारोबारी अडानी को जेड प्लस सिक्योरिटी, आईबी ने दिया था इनपुट◾शपथ लेने के बाद नीतीश की गेम पॉलिटिक्स शुरू, मोदी के खिलाफ कर सकते हैं ये बड़ा काम ◾नुपूर को सुप्रीम राहत, जांच पूरी न होने तक नहीं होगी गिरफ्तारी, सभी एफआईआर को एक साथ जोड़ा ◾ ‘‘नीतीश सांप है, सांप आपके घर घुस गया है।’’, भाजपा नेता गिरिराज ने याद की लालू की पुरानी बात ◾ सुनील बंसल का बीजेपी में बढ़ा कद, बनाए गए पार्टी महासचिव◾पिता जेल में तो संभाली पार्टी की कमान, 75 सीट जीतकर किया धमाकेदार प्रदर्शन, जानिए तेजस्वी के संघर्ष की कहानी ◾बिहार विधानसभा अध्यक्ष विजय सिन्हा के खिलाफ लाया गया अविश्वास प्रस्ताव◾शपथ लेते ही BJP पर बरसे नीतीश, कहा-2014 में जीतने वालों को 2024 की करनी चाहिए चिंता ◾60 वर्ष से अधिक उम्र की बहनों और माताओं के लिए बसों में निःशुल्क यात्रा योजना जल्द आएगी : CM योगी ◾ गुजरात भाजपा में फूट के संकेत ! मतभेद की खबर पकड़ रही हैं जोर◾निर्माणाधीन टंकी का लेंटर गिरने से 19 मजदूर मलबे में दबे◾राकांपा प्रमुख शरद पवार ने बीजेपी पर लगाए गंभीर आरोप, कहा- सहयोगियों को धीरे-धीरे खत्म कर रही है भाजपा ◾सुशील मोदी ने राजद को चेताया, कहा - नीतीश कुमार पार्टी तोड़ने की करेंगे कोशिश ◾बिहार में फिर से लौटा तेजस्वी- नीतीश युग, राजभवन में दोनों नेताओं ने ली गोपनीयता की शपथ ◾भारत व चीन की सीमा पर पकड़ा गया मानसिक रूप से अस्वस्थ्य व्यक्ति, सीमा सुरक्षा पर खड़ा होता है सवाल ◾बिहार की सियासी बयार पर प्रशांत किशोर का तंज, कहा-आशा है अब राज्य में राजनीतिक स्थिरता लौटे◾स्वतंत्र देव सिंह के इस्तीफे के बाद केशव प्रसाद मौर्य बन सकते है विधान परिषद के नेता◾

हरीश रावत मेरे बड़े भाई है, उनसे 100 बार भी माफी मांग सकता हूं.... पूर्व BJP नेता हरक सिंह रावत

उत्तराखंड विधानसभा चुनाव से ठीक पहले भाजपा से निष्कासित किए गए पूर्व कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत आज फिर से कांग्रेस का हाथ थाम सकते हैं। हरक सिंह रावत के साथ उनकी बहू अनुकृति भी कांग्रेस जॉइन करेंगी। रावत अपनी बहू के साथ आज दिल्ली में पार्टी के बड़े नेताओं की मौजूदगी में कांग्रेस का हाथ थामेंगे। 

बीजेपी के पूर्व कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत ने कांग्रेस में शामिल होने की खबर पर मीडिया से कहा कि मेरी आज सुबह बातचीत हुई है वे (हरीश रावत) आगे बताएंगे कि क्या होगा। वे मेरे बड़े भाई हैं, मैं अपने बड़े भाई से 100 बार भी माफी मांग सकता हूं। कांग्रेस पार्टी का अपना निर्णय है। 2016 में परिस्थितियां अलग थीं

2016 की वह रात, जब BJP की बस में सवार हुए थे हरक

हरक सिंह रावत के लिए पाला बदलना कोई नई बात नहीं है। वह मौकापरस्ती के माहिर खिलाड़ी माने जाते रहे हैं। इस बार वह सीट नहीं बदलते, तो यह अपने आप में रेकॉर्ड हो जाएगा। 2016 में हरीश रावत सरकार को मुश्किल में डाल हरक सिंह रावत, विजय बहुगुणा और 8 अन्य विधायक बीजेपी में शामिल हुए थे। बीजेपी विधायकों के साथ वे बस में भर आधी रात राज्यपाल से मिलने पहुंचे थे। यह भी संयोग है कि बीजेपी से आधी रात ही उनकी विदाई भी हो गई। हरीश रावत और हरक सिंह रावत कभी गहरे दोस्त रहे। सीएम की कुर्सी की महत्वाकांक्षा ने इस दोस्ती में दरार डाली। अब ठीक छह साल बाद हरक अब पुराने दोस्त के साथ खड़े दिख रहे हैं। आखिर ऐसा क्यों हुआ इसकी पूरी कहानी पिछले दिनों का घटनाक्रम बयां करता है।

3 टिकटों की जिद और आधी रात निकाले गए हरक

पूरा खेल 3 टिकटों का है। हरक अपने लिए सेफ सीट चाहते थे। यमकेश्वर, केदारनाथ और डोईवाला उनकी पसंदीदा सीटें बताई जा रही हैं। इसके अलावा दो टिकट परिवार के लिए भी मांग रहे थे। रावत इसके लिए अपने खासमखास विधायक उमेश शर्मा काऊ को लेकर दिल्ली रवाना हुए थे। उनके साथ उनकी बहू अनुकृति गुसाईं भी थीं। रावत बहू के लिए लैंसडाउन की सीट चाहते हैं। पर मामला सेट नहीं हुआ। बताया जाता है कि बीजेपी हरक को मनचाही सीट देने को तैयार थी। पर परिवार के लिए दो सीटों की जिद ने सारा खेल बिगाड़ दिया। नतीजा आधी रात कैबिनेट और पार्टी से उनकी विदाई के तौर पर हुआ। हरक के लिए संकेत साफ है कि वह कांग्रेस का दाम थाम सकते हैं। पार्टी अब और मोलभाव नहीं करेगी।