BREAKING NEWS

केजरीवाल आज करेंगे पंजाब में ‘आप’ के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार की घोषणा◾गणतंत्र दिवस झांकी विवाद : ममता के बाद स्टालिन ने PM मोदी का लिखा पत्र ◾भारत वर्तमान ही नहीं बल्कि अगले 25 वर्षों के लक्ष्य को लेकर नीतियां बना रहा है : PM मोदी ◾उद्योग जगत ने WEF में PM मोदी के संबोधन का किया स्वागत ◾ कोरोना से निपटने के योगी सरकार के तरीके को लोग याद रखेंगे और भाजपा के खिलाफ वोट डालेंगे : ओवैसी◾गाजीपुर मंडी में मिले IED प्लांट करने की जिम्मेदारी आतंकी संगठन MGH ने ली◾दिल्ली में कोविड-19 के मामले कम हुए, वीकेंड कर्फ्यू काम कर रहा है: सत्येंद्र जैन◾कोविड-19 से उबरने का एकमात्र रास्ता संयुक्त प्रयास, एक दूसरे को पछाड़ने से प्रयासों में होगी देरी : चीनी राष्ट्रपति ◾ ओवैसी की पार्टी AIMIM ने जारी की उम्मीदवारों की दूसरी सूची, 8 सीटों पर किया ऐलान◾दिल्ली में कोरोना का ग्राफ तेजी से नीचे आया, 24 घंटे में 12527 नए केस के साथ 24 मौतें हुई◾अखिलेश के ‘अन्न संकल्प’ पर स्वतंत्र देव का पलटवार, ‘गन’ से डराने वाले किसान हितैषी बनने का कर रहे ढोंग ◾12-14 आयु वर्ग के बच्चों के लिए फरवरी अंत तक हो सकती है टीकाकरण की शुरुआत :NTAGI प्रमुख ◾ अबू धाबी में एयरपोर्ट के पास ड्रोन से अटैक, यमन के हूती विद्रोहियों ने UAE में हमले की ली जिम्मेदारी ◾कोरोना संकट के बीच देश की पहली एमआरएनए आधारित वैक्सीन, खास तौर पर Omicron के लिए कारगर◾CM चन्नी के भाई को टिकट न देने से सिद्ध होता है कि कांग्रेस ने दलित वोटों के लिए उनका इस्तेमाल किया : राघव चड्ढा◾उत्तराखंड : हरीश रावत बोले-हरक सिंह मांग लें माफी तो कांग्रेस में उनका स्वागत◾इस साल 75वें गणतंत्र दिवस के मौके पर राजपथ पर 75 एयरक्राफ्ट उड़ान भरेंगे,आसमान से दिखेगी भारत की ताकत◾पंजाब : AAP की ओर से मुख्यमंत्री पद के लिए उम्मीदवार की घोषणा कल करेंगे केजरीवाल◾सम्राट अशोक की तुलना मामले ने बढ़ाई BJP-JDU में तकरार, जायसवाल ने पढ़ाया मर्यादा का पाठ◾पीएम की सुरक्षा में चूक की जांच कर रहीं जस्टिस इंदु मल्होत्रा को मिली खालिस्तानियों की धमकी◾

हरकी पौड़ी कर दी सील, श्रद्घालुओं ने अन्य गंगा घाटों पर किया स्नान, दावे हुए फेल

हरिद्वार, संजय चौहान (पंजाब केसरी): जिला पुलिस प्रशासन द्वारा मकर संक्रांति स्नान पर्व पर हरकी पौड़ी सहित अन्य गंगा घाटों को सील किए जाने के बावजूद भी हरिद्वार में स्नानार्थियों की भीड़ ने डीआईजी-एसएसपी डा. योगेंद्र सिंह रावत की श्रद्धालुओं से स्नान के लिए न आने की अपील को ‌कोरा साबित करते हुए जमकर गंगा स्नान कर पुण्य लाभ कमाया। बता दें कि विगत दिनों पूर्व डीआईजी-एसएसपी हरिद्वार ने कहा था कि यदि श्रद्धालु यहां पहुंचते हैं तो उन्हें भारी असुविधा का सामना करना पड़ सकता है। 

हालांकि सोशल मीडिया पर डीआईजी की ये अपील तेजी से वायरल भी हुई थी, लेकिन उनकी यह अपील स्नानार्थियों पर कोई काम न कर सकी और एक बार फिर आस्था प्रशासन की रोक पर भारी पड़ती नजर आयी। कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए जिला प्रशासन ने मकर संक्रांति पर्व के स्नान पर रोक लगा दी थी। मकर संक्रांति पर्व पर हरकी पैड़ी पूरी तरह से सील रही, आसपास के गंगा घाटों पर भी स्नान न हो इसके लिए कड़े सुरक्षा इंतजाम किए गए थे। 

देखकर ऐसा प्रतीत हो रहा था कि मानों यहां कोई परिंदा भी पर्र नहीं मार सकेगा, चूंकि मकर संक्राति स्नान पर्व की खासी मान्यता है और बड़ी संख्या में श्रद्धालु यहां पहुंचते हैं ऐसे में श्रद्धालु यहां न पहुंचे इसके लिए पुलिस महकमे ने सोशल मीडिया का सहारा भी लिया था। डीआईजी-एसएसपी डा. योगेंद्र सिंह रावत ने स्वयं अपनी अपील का वीडियो जारी कर श्रद्धालुओं से कोरोना संक्रमण को देखते हुए मकर संक्रांति स्नान के लिए हरिद्वार न आने की बात कही थी। 

उनका कहना था कि चूंकि संक्रमण फैल रहा है इसलिए श्रद्धालु अपने घरों में रहें। यहां आने पर उन्हें दिक्कत का सामना कर पड़ सकता है। डीआईजी की अपील सोशल मीडिया पर खूब देखी गयी, बावजूद इसके आस्था इन सब दावों और अपीलों पर भारी पड़ती दिखी। केवल हरकी पौड़ी को छोड़कर आसपस पास के तमाम गंगा घाटों पर श्रद्घाओं की अपार भीड़ ने प्रशासन द्वारा स्नान पर्व पर लगायी गयी रोक के दावों की हवा निकालकर रख दी है। 

वहीं, पुलिस प्रशासन की इस रवैये पर गहरी नाराजगी व्यक्त करते हुए गंगा सभा के पदाधिकारी डा. सिद्घार्थ चक्रपाणी ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि पुलिस प्रशासन की दोहरी नीति के चलते ही आज दूर-दराज से यहां आने वाला स्नानार्थी काफी परेशान व हैरान है, क्योंकि हरिद्वार में चुनावी रैलियां और कार्यक्रम तो खूब हो रहे हैं, लेकिन धार्मिक आयोजनों पर प्रतिबंध लगा दिया गया है और प्रतिबंध भी सिर्फ और सिर्फ हरकी पौडी पर, जबकि आसपास के गंगा घाट यात्रियों से चकाचक भरे पड़े हैं। सिर्फ हरकी पौड़ी को प्रतिबंध किया जाना सरासर गलत है। 

कोरोना क्या सिर्फ हरकी पौड़ी ब्रहमकुंड पर स्नान करने से ही फैलेगा ? अन्य गंगा घाटों पर स्नान करने से क्या कोरोना नहीं फैलेगा ? ठीक है कोरोना के दृष्टिगत यात्रियों की सुरक्षा सर्वोपरि है, लेकिन प्रशासन को चाहिए था कि कोविड नियमों का पालन कराते हुए हरकी पौड़ी पर भी स्नान कराया जाता, लेकिन प्रशासन की इस दोहरी नीति की निंदा करते प्रशासन से अपील करते हैं कि स्नान पर्वों और धार्मिक आयोजनों पर छूट देते हुए पर्व मनाने की अनुमति देनी चाहिए। 

बेरिकेट लगाकर यात्रियों और स्थानीय लोगों को किया परेशान सर्वविदित है कि कोरोना ने लोगों के अंदर काफी खौफ पैदा कर दिया है और इसी का लाभ उठाकर सुरक्षा का हवाला देते हुए हरिद्वार का जिला प्रशासन स्थानीय निवासियों और यहां आने वाले यात्रियों व व्यापारियों को परेशान व हैरान करने की कोई कसर नहीं छोड़ता। ऐसा ही कुछ आज मकर संक्रांति पर्व पर देखने को भी मिला। 

जिला पुलिस प्रशासन ने नगर कोतवाली के पास पोस्ट ऑफिस पर बेरिकेट लगाकर स्थानीय व्यापारियों और यात्रियों को भीतर प्रवेश नहीं करने दिया। इस दौरान पुलिस काफी संख्या में तैनात रही। जबकि ऑटो, ई-रिक्शा वाले भी सवारियों का इंतजार करते रहे। मकर संक्रांति स्नान पर्व पर व्यापारियों से लेकर ऑटो, विक्रम, ई-रिक्शा आदि सभी को इंतजार रहता है। 

इस दिन लाखों की संख्या में श्रद्धालु आने से कारोबार चलता है। लेकिन इस बार प्रशासन की दोहरी नीति ने सभी को परेशान व हैरान करके रख दिया है। हरकी पौड़ी के पास बने गंगा घाट पर श्रद्घालुओं की भीड़ प्रशासन के दावों की हवा निकालती हुई (दाएं) सुनसान पड़ी हरकी पौड़ी का दृश्य, हरकी पौड़ी जाने वाले मार्ग को ‌प्रशासन द्वारा इस प्रकार बेरिकेट लगाकर किया गया था सील।