मध्य प्रदेश के भोपाल संसदीय क्षेत्र से कांग्रेस उम्मीदवार व पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने चुनाव के दौरान गहराते ‘हिंदुत्व’ के मुद्दे पर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ पर हमला बोला है। उन्होंने कहा है कि संघ का हिंदुत्व जोड़ता नहीं तोड़ता है। दिग्विजय सिंह की ओर से शनिवार की रात को जारी एक बयान में कहा गया, “मेरा हिंदू धर्म मेरी आस्था है। इसीलिए मैंने अपनी नर्मदा परिक्रमा का प्रचार नहीं किया, राघोगढ़ मंदिर की परंपराओं का कभी प्रचार नहीं किया, दशकों गोवर्धन परिक्रमा और पंढरपुर दर्शन का प्रचार नहीं किया। भाजपा के लोग कब से मेरे और ईश्वर के बीच आ गए, सर्टिफिकेट देने वाले एजेंट बन गए?”

Digvijay tweet

उन्होंने आगे कहा, “संघ का हिंदुत्व जोड़ता नहीं, तोड़ता है। अपने धर्म का राजनीतिक अपहरण मैं कभी नहीं होने दूंगा। हमारे लिए हिंदू धर्म आस्था का विषय है, भगवान से हमारा निजी रिश्ता है।”

दिग्जिवय सिंह ने कहा, “मैं हिंदू धर्म को मानता हूं, जो हजारों सालों से दुनिया को जीने की राह सिखाता आया है। मैं अपने धर्म को हिंदुत्व के हवाले कभी नहीं करूंगा, जो केवल और केवल राजनीतिक सत्ता पाने के लिए संघ का षड्यन्त्र है। मुझे अपने सनातन हिंदू धर्म पर गर्व है जो वसुधैव कुटुम्बकम की बात कहता है।”

Digvijay tweet

दिग्विजय सिंह ने भोपाल लोकसभा सीट से भरा नामांकन पत्र